Home > ख़बरें > जीएसटी तो ट्रेलर था, मोदी ने अब लिया ऐसा जबरदस्त फैसला, पूरे देश की जनता रह गयी भौचक्की

जीएसटी तो ट्रेलर था, मोदी ने अब लिया ऐसा जबरदस्त फैसला, पूरे देश की जनता रह गयी भौचक्की

modi-rbi

नई दिल्ली : मोदी सरकार के एक के बाद एक फैसले भारत को विकास की दिशा में त्रीव गति से ले जा रहे हैं. अभी हाल ही में वर्ल्ड बैंक ने सभी मोदी विरोधियों का मुँह यह बोल के बंद कर दिया था कि नोटबंदी और जीएसटी से भारत की वृद्धि दर सबसे तेज़ 8 फीसदी से भी ज़्यादा हो जायेगी. इसलिए अब दिवाली से पहले जनता को सबसे शानदार तोहफा देने का मन सरकार ने बना लिया है.


दिवाली से पहले पीएम मोदी का शानदार तोहफा

न्यूज़ एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक मोदी सरकार अब दिवाली से पहले आम जनता को सबसे सस्ते क़र्ज़ का शानदार तोहफा देने जा रही है. रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया अगले महीने की शुरुआत में अपनी मॉनेटरी पॉलिसी की समीक्षा करेगा. जिसके लिए वित्त मंत्रालय ने रेपो रेट में अभी से कटौती करने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया पर दबाव बनाना शुरू कर दिया है. जिससे आरबीआई रेपो रेट में करीब .50 फीसदी की कटौती करेगा. इतनी बड़ी कटौती से लगभग 1.26 लाख रुपयों की बचत होगी.

वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि इस वक्त महंगाई दर सबसे उच्चतम स्तर पर है, जिससे रेपो रेट में कटौती करने की पूरी तरह से गुंजाइश बनी हुई है और इस समय रेपो रेट सात साल के न्यूनतम स्तर पर है. जो आज तक कभी कांग्रेस सरकार नहीं कर सकी.

इतने रूपए बचेंगे आपके

यानी की अगर आपका बैंक 8.25 फीसदी की दर से 30 लाख रुपये के क़र्ज़ पर केवल 3134873 रुपये देने होंगे. वहीं अभी 8.5 फीसदी की दर से होम लोन की ईएमआई पर 3248327 रुपये देने पड़ रहे हैं. इस हिसाब से पूरे लोन पर 1.14 लाख रुपये की सेविंग होगी.


आर्थिक जगत में एक अच्छी खबर आ रही है कि ग्लोबल स्तर पर निर्यात बहुत तेजी से बढ़ रहा है. इससे नोटबंदी और जीएसटी के कारण दबाव ङोल रहे मैन्यूफैक्चरिंग में सुधार होगा. जीएसटी के बारे में अधिकारी ने कहा कि पोर्टल पर रिटर्न फाइलिंग की समस्याएं कम हो रही है. हालांकि समस्या लोगों की इस आदत के कारण आती है कि वे रिटर्न भरने के लिए आखिरी तारीख का इंतजार करते हैं. अधिकारी जीएसटी से राजस्व संग्रह पर संतोष जताया.

कांग्रेस सरकार ने बुरी तरह डुबो दी थी अर्थव्यवस्था

आपको बता दें शुरू में नोटबंदी और जीएसटी को लेकर कांग्रेस सरकार ने पीएम मोदी पर बहुत हमले बोले थे. लेकिन थोड़े वक़्त बाद ही सब ठीक होता नज़र आ रहा है. तो वहीँ नोटबंदी से कितने कालेधन के कुबेरों की करोड़ों की संपत्ति जब्त हुई जिन्होंने बिस्तर के नीचे, बाथरूम तो दिवार के अंदर करोड़ों का कालाधन छुपा रखा था.और जीएसटी से उन सभी काले कारोबारियों पर शिकंजा कसा है जो टैक्स बचा कर करोड़ों रूपए जमा करके बैठे हुए थे.

आपको बता दें कांग्रेस के राज में साल 2013 में भारत वैश्विक वित्तीय उथल-पुथल वाले देशों में शामिल हो गया था. रुपया गिरकर रेकॉर्ड 68.85 स्तर तक पहुंच गया था और विदेशी मुद्रा भंडार 275 अरब डॉलर के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गयी थी. लेकिन आज मोदी सरकार में रुपया 64.27 और विदेशी मुद्रा भण्डार 400 अरब डॉलर छप्पर फाड़ते हुए उच्चतम स्तर पर है.

रिपोर्ट के मुताबिक़ अभी भारत 2.3 ट्रिलियन डॉलर (2.3 लाख करोड़ डॉलर) के साथ दुनिया की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है लेकिन भारत अगर इसी गति से दौड़ता रहा तो दस सालों में जर्मनी, जापान व् चीन को भी पछाड़ते हुए 7 ट्रिलियन यानी 7 लाख करोड़ डॉलर की अर्थव्यवस्था बन जाएगा.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments