Home > ख़बरें > अभी-अभी : मोदी सरकार ने लिया एक और बेहद ऐतिहासिक फैसला, पूरी तरफ बदल जायेगी देश की सूरत !

अभी-अभी : मोदी सरकार ने लिया एक और बेहद ऐतिहासिक फैसला, पूरी तरफ बदल जायेगी देश की सूरत !

highways-interchange-modi-govt

नई दिल्ली : देश के विकास में पीएम मोदी के साथ-साथ उनका पूरा मंत्रिमंडल जी-जान से जुटा हुआ है. नयी-नयी योजनाएं लाकर देश को विकासशील से विकसित देश बनाने पर पूरा जोर दिया जा रहा है. इसी सिलसिले में अब मोदी सरकार ने एक नए अभियान की शुरुआत करने का फैसला लिया है, जिसका नाम रखा गया है “भारतमाला प्रोजेक्ट“.


देश में बिछेगा सड़कों का जाल !

दरअसल सभी मौजूदा राजमार्ग परियोजनाओं पर तेजी से काम किया जा रहा है और जल्द ही उन्हें पूरा करके सरकार “भारतमाला प्रोजेक्ट” की शुरुआत करने जा रही है. भारतमाला के तहत राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना (एनएचडीपी) समेत अन्य सभी हाईवे निर्माण कार्यक्रम आ जाएंगे.

इस ऐतिहासिक योजना के तहत पहले चरण में 20 हजार किलोमीटर हाईवे का निर्माण किया जाएगा. इसके जरिये देश के सभी गाँवों को शहरों से जोड़ दिया जाएगा. रविवार को केंद्रीय सड़क परिवहन व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि एनएचडीपी समेत सभी मौजूदा योजनाएं अगले 6 महीने में खत्म हो जाएंगी.

भारतमाला प्रोजेक्ट की रिपोर्ट तैयार की जा रही है. ये बेहद ऐतिहासिक परियोजना एनएचडीपी के बाद देश की दूसरी सबसे बड़ी राजमार्ग परियोजना है. राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना यानी एनएचडीपी की नीव पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी ने रखी थी, इसके तहत देश में लगभग 50 हज़ार किलोमीटर सड़कों का विकास किया गया.


एनएचडीपी के तहत ही देश में स्वर्णिम चतुर्भुज को भी बनाया गया, जो श्रीनगर से कन्याकुमारी और पोरबंदर को सिलचर से जोड़ता है. इसके तहत अभी 10000 किलोमीटर सड़क का निर्माण अभी और होना है. नितिन गडकरी के मुताबिक़ भारतमाला प्रोजेक्ट के तहत देश में बड़े पैमाने पर सड़कों का निर्माण किया जाएगा.

केवल इतना ही नहीं बल्कि इसके तहत देश के सीमावर्ती क्षेत्रों में भी सड़कों का जाल बिछाया जाएगा, जोकि इससे पहले की किसी सरकार ने करना जरुरी ही नहीं समझा. इसके अलावा सभी जिला मुख्यालयों को भी सड़कों द्वारा जोड़ा जाएगा. आदिवासी इलाकों में पहले कभी ध्यान नहीं दिया गया, जिसके कारण वे पिछड़े ही रह गए और देश की विकास योजनाओं का लाभ उनतक नहीं पहुंच सका लेकिन इस प्रोजेक्ट के तहत आदिवासी व् अन्य पिछड़े क्षेत्रों समेत दूरदराज के ग्रामीण इलाकों को भी सड़कों द्वारा जोड़ा जाएगा.

मोदी सरकार के एक अधिकारी ने बताया कि भारतमाला प्रोजेक्ट पर प्रेजेंटेशन देखने के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय ने प्रोजेक्ट के पहले चरण के लिए पब्लिक इंवेस्टमेंट बोर्ड की मंजूरी के लिए कह दिया है. बताया जा रहा है की इस प्रोजेक्ट के तहत 10 लाख करोड़ रुपये का निवेश किया जाएगा, जिससे ना केवल सड़कों द्वारा व्यापार का विकास होगा, बल्कि हजारों लोगों को रोजगार भी मिलेगा.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments