Home > ख़बरें > सीआरपीएफ के 10 नक्सलियों को ढेर करते ही मोदी ने दिया एक और हाहाकारी आदेश, देशभर में हड़कंप

सीआरपीएफ के 10 नक्सलियों को ढेर करते ही मोदी ने दिया एक और हाहाकारी आदेश, देशभर में हड़कंप

helicopter-attack-naxals

नई दिल्ली : सुकमा में सीआरपीएफ के जवानों पर हुए कायराना हमले के बाद नक्सलियों को ठिकाने लगाने के लिए पीएम मोदी ने जवानों को 75 दिनों की खुली छूट दीं हुई है, जिसके चलते बुद्धवार को पहले ही दिन जवानों ने 10 नक्सलियों को ढेर भी कर दिया. अब इसी कड़ी में एक और जबरदस्त खबर सामने आ रही है, जिसे देख नक्सलियों में हड़कंप मच गया है.


दरअसल खबर आयी है कि नक्सली आतंक की कमर तोड़ने के लिए पीएम मोदी ने सुरक्षा एजेंसियों से मीटिंग कर मिशन की पूरी जानकारी खुद ली है और अपने रुख को और भी ज्यादा कड़ा करते हुए अगले 72 घंटों के अंदर-अंदर सीआरपीएफ जवानों के हत्यारों को ठोकने के आदेश जारी कर दिए हैं.

आकाओं को मार गिराने का निर्देश !

खबर है कि केवल जवानों के हत्यारों को ही नहीं बल्कि नक्सलियों को जड़ से उखाड़ फेकने के लिए उनके आकाओं को मार गिराने के भी आदेश जारी किये गए हैं. खुफिया एजेंसियों का मानना है कि यदि सीधे नक्सलियों के टॉप लीडर्स, एरिया कमांडर्स और ‘जन मिलिशिया’ के प्रभावी सदस्यों को ही ठोक दिया जाए तो समस्या ही ख़त्म हो जायेगी.

एक सरकारी अधिकारी ने बताया कि पिछले साल से सरकार ने कई ऑपरेशन चला कर भारी संख्या में नक्सलियों को गिरफ्तार तो किया है लेकिन फिर भी नक्सलवाद ख़त्म नहीं हो पाया क्योंकि इनके आका अब तक सुरक्षा बलों की पकड़ से बाहर रहे हैं. ये आका नए-नए लोगों को नक्सली बनाते हैं और हमले की बार-बार योजनाएं बनाते हैं.


बना ली गयी हिट लिस्ट !

खबर आयी है कि सुरक्षाबलों की हिट लिस्ट में अब नक्सलियों के दक्षिणी बस्तर डिविजन का कमांडर राघु, जगरगुंडा एरिया कमिटी का हेड पापा राव और हिडमा शामिल हैं. सोमवार को हुए हमले का मास्टरमाइंड भी पीपुल्स लिब्रेशन गुरिल्ला आर्मी (पीएलजीए) की पहली बटालियन का कमांडर हिडमा ही है.

सूत्रों के मुताबिक़ बस्तर में नक्सलियों की अलग-अलग कमिटियों के करीब 200 से 250 लीडर्स और एरिया कमांडर्स ऐसे हैं, जो सीआरपीएफ जवानों पर हमले की योजनाएं बनाते हैं और इसके लिए अक्सर झारखंड, ओडिशा और महाराष्ट्र का दौरा करते रहते हैं. नक्सलियों तक हथियार भी इन्ही के द्वारा पहुचाये जाते हैं और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई द्वारा इन्हे हथियार मुहैय्या करवाए जाते हैं.

बस्तर बेल्ट में लगभग चार हज़ार हथयारबन्द नक्सली काडर हैं और उनके करीब 10 हज़ार से 12 हज़ार सहायक हैं, जिन्हे ‘जन मिलिशिया’ के नाम से जाना जाता है. अब नक्सलियों को जड़ से ख़त्म करने के लिए इन टॉप लीडर्स के नाम हिट लिस्ट में शामिल करके देखते ही गोली मार देने के निर्देश दे दिए गए हैं.

पीएम मोदी स्पष्ट निर्देश दे चुके हैं कि सुरक्षा बलों की अतिरिक्त टुकड़ियों की जितनी भी जरूरत पड़ेगी, सरकार देने को तैयार है. नक्सलियों के खात्मे के लिए सुरक्षा बलों को आधुनिक तकनीक उपलब्ध कराई जा रही है. खुफिया एजेंसियों की मदद से इन 250 लीडर्स और जन मिलिशिया के अहम सदस्यों का खेल ख़त्म करने की योजना पर तेजी से काम किया जा रहा है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments