Home > ख़बरें > भारतीय सेना को मोदी सरकार का सबसे शानदार तोहफा, देश में आज तक नहीं हुआ था ऐसा

भारतीय सेना को मोदी सरकार का सबसे शानदार तोहफा, देश में आज तक नहीं हुआ था ऐसा

laser-fensing-india-pak-border

नई दिल्ली : गर्मियों में बर्फ पिघलने के साथ ही एलओसी पर पाकिस्तानी आतंकियों की घुसपैठ शुरू हो गयी है. सीजफायर का उलंघन करके पाकिस्तानी सेना आतंकियों की घुसपैठ करने में मदद कर रही है. बताया जा रहा है कि लॉचिंग पैड पर आतंकियों की हलचल काफी बढ़ गयी है. बीएसएफ मुस्तैदी से अपने काम में लगी तो है लेकिन आये दिन जवानों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ रहा है. ऐसे में सैनिकों की जान बचाने के लिए पीएम मोदी ने अब एक बेमिसाल कदम उठाया है.


अंतर्राष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा को बढ़ाने के लिए और जवानों की रक्षा के लिए ‘ऑपरेशन चक्रव्यूह‘ की शुरुआत की जा रही है. इजराइल की तर्ज पर मोदी सरकार ने सीमा पर ‘ऑपरेशन चक्रव्यहू’ के जरिए निगरानी करने का फैसला लिया है. इसके तहत भारतीय सीमा पर पानी के अंदर और जमीन के अंदर सेंसर लगाने की तैयारी की जानी शुरू हो गयी है.

बताया जा रहा है कि पाकिस्तान से लगी जम्मू-कश्मीर, राजस्थान और गुजरात की सीमा पर सेंसर लगाने की तैयारी शुरू की जा चुकी है. पहले चरण में जम्मू-कश्मीर में दो जगहों पर इसे लगाया जा रहा है. सेंसरों को लगाने के बाद सीमा पर लगे सभी इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम को एकसाथ जोड़ दिया जायेगा. इसका एक कंट्रोल रूम बनाया जायेगा.


कंट्रोल रूम से चौबीसों घंटे सीमा पर नज़र रखी जायेगी. रडार और सेंसर इलाके में किसी घुसपैठिए को आसानी से ट्रैक कर लेंगे और उसकी जानकारी सीधे कंट्रोल रूम तक पहुंच जायेगी. सिग्नल मिलते ही सीमा पर लगे कैमरे खुद-ब-खुद घुसपैठि‍ए की ओर घूम जाएंगे और वहां लगी एक ऑटोमैटिक गन बेहद सटीक निशाना लगाते हुए आतंकी को पलभर में ढेर कर देगी. सीमा से काफी दूर कंट्रोल रूम में बैठे-बैठे ही बीएसएफ के जवान आतंकियों को ठिकाने लगा देंगे.

सेंसर जमीन के साथ-साथ पानी के नीचे भी लगे होंगे. किसी भी संदिग्ध के घुसपैठ करने पर ये सेंसर उसको स्कैन करके इसकी जानकारी कंट्रोल रूम को दे देंगे. दिन के साथ-साथ रात में भी काम करने वाले कैमरे सीमा पर लगाए जाएंगे, जिनके जरिये से जवान घुसपैठिये को देख पाएंगे और आटोमेटिक गन से ठोक देंगे.

इसके साथ-साथ माइक्रो एयरो स्टैट बैलून भी लगाए जाएंगे, इनमे हाई क्वालिटी वाले कैमरे लगे होंगे. ये कैमरे भी कंट्रोल रूम को ऊपर से सारी जानकारी देंगे. यानी यदि ऊपर आसमान से भी कोई गतिविधि होती है तो उसको भी पलक झपकते ही पकड़ लिया जाएगा. यानी आतंकी अब न तो जमीन, ना ही पानी के जरिए और ना ही आसमान से घुसपैठ कर पाएंगे.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments