Home > ख़बरें > पीएम मोदी के इज़राइल दौरे से चिढ़े पाकिस्तान ने करी ऐसी नीच हरकत, जिसे सुन खून खौल उठेगा आपका

पीएम मोदी के इज़राइल दौरे से चिढ़े पाकिस्तान ने करी ऐसी नीच हरकत, जिसे सुन खून खौल उठेगा आपका


लाहौर : पाकिस्तान में हिन्दू आज बेहद कम संख्या में रह गए हैं पूरी जनसख्या का केवल एक फीसदी. जिसका कारण हैं वहां पर दिन पर दिन बढ़ते जा रहे हिन्दुओं के साथ अत्याचार, भेदभाव, शोषण. यही नहीं उन्हें समय-समय पर देश छोड़ने की धमकी भी दी जाती है. कुछ लोगों का मानना है कि पीएम नरेंद्र मोदी के इज़राइल दौरे से चिढ़े बैठे पाकिस्तान ने ऐसा जानबूझ कर किया है. जिससे हिन्दुओं की हालत बेहद दयनीय होती जा रही है और उन्हें सड़कों पर प्रदर्शन करना पड़ रहा है.

पीएम मोदी के इज़राइल दौरे से चिढ़े पाकिस्तान ने हिंदुओं के साथ किया भेदभाव, सरकार ने दिया घर छोड़ने का आदेश

अभी अभी मिली खबर के अनुसार पाकिस्‍तान में रह रहे अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के साथ भेदभाव किया जा रहा है. हाल में ही बहावलनगर जिले के हरुनाबाद में रह रहे हिंदू परिवारों को 28 जुलाई तक घर खाली करने की धमकी दे दी गयी और चेतवानी दी है कि शराफत से निकल जाओ नहीं तो जबरन घर खाली कर देंगे. इससे पहले तक तो ऐसा कोइ नोटिस नहीं भेजा गया था, ये अभी इसलिए भी भेजा है क्यूंकि मोदी का इज़राइल दौरा चल रहा है जिससे पाकिस्तान चिढ़ा बैठा है. द नेशन के इस रिपोर्ट के अनुसार, चाक 72/4आर में रह रहे हिन्दुओं को जल्‍द से जल्द घर खाली करने के लिए नोटिस भेजा गया है. नोटिस में कहा गया है , ‘जरनैली रोड (ग्रैंड ट्रंक रोड)’ पर लंबे समय से आप सब अवैध तरीके से रह रहे हैं और 13 जून को यह नोटिस भेजा गया है कि इन घरों को खाली करना होगा क्योंकि इस संपत्ति पर आपका मालिकाना हक अवैध है. जबकि इस नोटिस कि विरोध में हिन्दू सड़क पर उतर आये हैं उनका कहना है उनके पास पहले से एग्रीमेंट है.


स्थानीय प्रशान और रह रहे हिन्दुओं के बीच है एग्रीमेंट

इस नोटिस में धमकी देते हुए कहा गया है कि “अगर वक़्त रहते खाली नहीं करा गया तो ज़बरदस्ती सरकारी दवाब के साथ यह सरकारी संपत्‍ति खाली कराई जाएगी”. आपको बता दें पाकिस्तान के 180 मिलियन आबादी में केवल एक फीसद से थोड़ा अधिक अल्पसंख्यक हिंदू रह गए हैं आज की तारिख में और 1947 के अगस्त से विभाजन के बाद इन्हें मुस्लिम प्रधान पाकिस्तान में भेदभाव, अत्याचार शोषण का सामना करना पड़ रहा है.

इस नोटिस के खिलाफ हिन्दुओं ने प्रदर्शन शुरू कर दिया है क्यूंकि वहां रह रहे हिन्दुओं का कहना है कि उनके पास स्थानीय प्रशान और हाउसिंग सोसायटी के मालिकों के बीच हुए एग्रीमेंट हैं. जिसके बाद पाकिस्‍तान मुस्‍लिम लीग (जिया) व बहावलनगर-IV MNA जियाज उल हक ने बयान दिया है कि वे इस मामले को देखेंगे और लोगों को मदद उपलब्‍ध कराएंगे. सोसायटी ऑफ हिंदू बाल्‍मिकी मंदर (SHBM) के अध्‍यक्ष (हरुनाबाद) हरबंस लाल सुल्तानी ने कहा, तत्कालीन बहावलनगर कमिश्‍नर के लिखित आदेश पर ही सरकारी जमीनों ‘जरनैली मुरब्बा’ में 1987 से 69 हिंदू परिवार रह रहे हैं फिर कोई उन्हें कैसे उनके ही घर से ज़बरन निकाल सकता है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

हमारे साथ सीखिए ब्लॉग लिखना और घर बैठे कमाइए पैसे. तीन दिन का कोर्स ज्वाइन करने के लिए 9990166776 पर Whatsapp करें.

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments