Home > ख़बरें > बीजेपी ने किया राष्ट्रपति पद के लिए नाम तय, ना सुषमा, ना जेटली, ये होंगे देश के अगले राष्ट्रपति

बीजेपी ने किया राष्ट्रपति पद के लिए नाम तय, ना सुषमा, ना जेटली, ये होंगे देश के अगले राष्ट्रपति

modi-sreedharan

नई दिल्ली : राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल ख़त्म होने वाला है, उसी के साथ कौन बनेगा देश का अगला राष्ट्रपति, ये सवाल भी राजनीतिक गलियारों में तेजी से गूंजने लगा है. विपक्ष मोदी सरकार के खिलाफ लामबंद हो रहा है, जहाँ पहले लाल कृष्ण आडवाणी को राष्ट्रपति बनाये जाने की बात की जा रही थी, लेकिन बाबरी केस के कारण ऐसा होने की संभावना ना के बराबर है. इसके बाद अरुण जेटली और सुषमा स्वराज के नाम भी सामने आये लेकिन अब बताया जा रहा है कि राष्ट्रपति पद के लिए मोदी सरकार की पसंद कोई और ही है.

राष्ट्रपति चुनाव में “मेट्रो मैन” होंगे एनडीए कैंडिडेट ?

कोच्च‍ि मेट्रो ट्रेन के उद्घाटन समारोह के अवसर पर मंच पर “मेट्रो मैन” के नाम से मशहूर श्रीधरन को न बुलाने से बवाल खड़ा हुआ है, हालांकि बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री कार्यालय ने ऐसा जानबूझ कर किया है और पीएम मोदी ने उनके लिए काफी बड़ी भूमिका सोच रखी है. श्रीधरन को 17 जुलाई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव के लिए सत्तारूढ़ बीजेपी-एनडीए का कैंडिडेट बनाया जा सकता है.

ये बात तब सामने आयी, जब कोच्च‍ि मेट्रो के उद्घाटन के लिए भेजे गए निमंत्रण पत्र में लोगों को मंच पर पीएम मोदी के साथ उपस्थ‍ित रहने वाले अतिथ‍ियों में ई श्रीधरन का ही नाम नहीं दिखा. श्रीधरन को ना बुलाये जाने पर बड़ा विवाद खड़ा हो गया और विपक्ष ने मौके का फायदा उठाते हुए बीजेपी की आलोचना शुरू कर दी.


केरल की पिनारी विजयन सरकार ने तो प्रधानमंत्री कार्यालय को बाकायदा पत्र भेज दिया. पत्र में कहा गया कि मंच पर उपस्थित अतिथ‍ियों की सूची में बदलाव किया जाना चाहिए और उसमें श्रीधरन जैसे कई अन्य नाम शामिल किये जाने चाहिए क्योंकि श्रीधरन की दिल्ली मेट्रो सहित देश के कई राज्यों में मेट्रो के निर्माण में अहम भूमिका रही है

इसके बात खबर सामने आयी कि बीजेपी-एनडीए श्रीधरन को राष्ट्रपति चुनाव के लिए कैंडिडेट बनाने जा रही है. ऐसे में उनकी राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी की घोषणा से कुछ दिन पहले उनका पीएम मोदी और केंद्रीय मंत्री एम वेंकैया नायडू के साथ मंच पर बैठना उचित नहीं होता और विपक्ष इसपर भी राजनीति शुरू कर देता.

वहीँ श्रीधरन ने मंच पर आमंत्रित ना किये जाने पर खुद भी इसलिए आपत्त‍ि नहीं की, क्योंकि उन्हें उनकी राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी के लिए बताया जा चुका है. मेट्रो मैन को राष्ट्रपति बनाये जाने का विरोध कांग्रेस व् विपक्षी दल भी नहीं कर सकेंगे, ऐसे में उनकी हालत भी देखने योग्य होगी.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

हमारे साथ सीखिए ब्लॉग लिखना और घर बैठे कमाइए पैसे. तीन दिन का कोर्स ज्वाइन करने के लिए 9990166776 पर Whatsapp करें.

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments