Home > ख़बरें > वीडियो : मौलाना की बदजुबानी से ठनक गया हिन्दुओं का माथा, ‘श्रीराम’ को बता दिया ‘अल्लाह की…

वीडियो : मौलाना की बदजुबानी से ठनक गया हिन्दुओं का माथा, ‘श्रीराम’ को बता दिया ‘अल्लाह की…

maulana-abusing-shri-ram

नई दिल्ली : हामिद अंसारी जैसों को भारत जैसे सहनशाहील देश में भी मुस्लिम असुरक्षित लगते हैं. जबकि असल में भारत की सहनशीलता का आलम देखिये कि एक लाइव टीवी डिबेट के दौरान एक मौलाना ने बहुसंख्यक हिन्दुओं के बारे में ऐसी शर्मनाक व् अपमानजनक बात कह दी, जो यदि तथाकथित शान्ति प्रिय समुदाय के बारे में किसी ने कही होती, तो ये लोग दंगा करके उस शख्स की फांसी की मांग कर रहे होते.


‘श्रीराम’ को बता दिया ‘अल्लाह’ की पैदाइश

दरअसल एक लाइव टीवी डिबेट के दौरान विवाद शुरू हो गया और आलम ये रहा कि जमीन पर रहने वाले बन्दों ने विवाद का रुख आसमानों की ओर मोड़ दिया. डिबेट चल रही थी गुजरात दौरे पर गए राहुल गांधी के मंदिरों में माथा टेकने की. शो में शामिल हुए मेहमानों में कांग्रेस की ओर से अखिलेश प्रताप सिंह, मुस्लिम राबिता काउंसिल के मौलाना अब्दुर रहमान आबिद और बीजेपी की तरफ से प्रवक्ता संबित पात्रा भी मौजूद थे.

‘न्यूज 18’ चैनल पर चल रही इस गरमा गरम डिबेट के दौरान बातों ही बातों में मामला भगवान राम और अल्लाह पर आ रुका. बस फिर क्या था, देश की सहनशीलता का फायदा उठाते हुए मौलाना साहब का पारा तीसरे आसमान पर जा पहुंचा. उन्होंने आव देखा न ताव और बोल दिया कि राम की अल्लाह से क्या बराबरी, राम को तो अल्लाह ने पैदा किया है.

खबरों के मुताबिक़ गुस्से से लाल-पीले होते हुए मौलाना ने कहा कि कृपया करके राम की बराबरी अल्लाह से मत कीजिए. मौलाना ने आगे कहा कि शायद ये भूल जाते हैं कि अल्लाह और राम की बराबरी नहीं कर सकते हैं, इसलिए क्योंकि राम तो खुद अल्लाह के पैदा किये हुए हैं.

तुष्टिकरण की राजनीति का परिणाम भुगत रहा देश

मौलाना इतने पर ही नहीं रुके और उन्होंने कहा कि राम को अल्लाह ने पैदा किया, रावण को अल्लाह ने पैदा किया, मोदी को अल्लाह ने पैदा किया और दुनिया में जितनी भी चीजें पैदा हुईं सबको अल्लाह ने पैदा किया. मौलाना का इतना बोलना था कि आस्था पर चोट से वहन मौजूद सभी लोगों का माथा ठनक गया. उसके बाद होने लगी मौलाना साहब की ऐसी-तैसी.


मौलाना की इस बात पर शो में मौजूद सभी मेहमानों का पारा चढ़ गया. शो के एंकर ने भी मौलाना के इस बयान पर आपत्ति जताते हुए उनसे माफी मांगने को कहा. मगर तुष्टिकरण की राजनीति के अहंकार में डूबे इस मौलाना ने माफ़ी नहीं मांगी. बता दें कि यदि कोई और इनकी आस्था पर चोट करता है, तो खुद को शांतिप्रिय कहने वाले ये लोग सड़क पर उतर कर दंगे करना शुरू कर देते हैं, मगर दूसरों की आस्था का अपमान करने से परहेज नहीं करते, क्योंकि इन्हे पता है कि कांग्रेस व् वामपंथी सेकुलरिज्म के नाम पर इनके तलवे चाटते हैं और चाहे ये कुछ भी कह दें, वोटबैंक होने के कारण कोई इनको कुछ नहीं कहेगा.

आप भी देखिये ये वीडियो


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments