Home > ख़बरें > कुलभूषण मामले में रौंद्र रूप में आये मनोहर परिकर ने किया बड़ा ऐलान, पाकिस्तान की हालत खराब !

कुलभूषण मामले में रौंद्र रूप में आये मनोहर परिकर ने किया बड़ा ऐलान, पाकिस्तान की हालत खराब !

manohar-parrikar-warns-pakistan

नई दिल्ली : जबसे मनोहर पर्रिकर ने गोवा के सीएम बनने के लिए रक्षामंत्री के पद से इस्तीफा दिया है, तबसे पाकिस्तान की हिम्मत कुछ ज्यादा ही बढ़ गयी है. सर्जिकल स्ट्राइक के बाद सहमे हुए पाक ने भारत को एक बार फिर आँखें दिखानी शुरू कर दी है. लेकिन अब जो खबर आ रही है उसे देख पाक मीडिया के होश उड़ गए हैं.

मनोहर परिकर का पाकिस्तान पर हमला !

दरअसल पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने पाकिस्तान की कारगुजारियों के देखते हुए उसपर निशाना साधा है. कुलभूषण जाधव को लेकर गाल बजाने वाले पाकिस्तान को पर्रिकर ने ज्यादा शोर करने वाला खाली डब्बा बताया है. परिकर ने कहा कि पाकिस्तान एक खाली डिब्बा है, इसी कारण से वो ज्यादा शोर करता है.

गौरतलब है कि पाकिस्तान ने पहले तो गुपचुप तरीके से कुलभूषण जाधव को मौत की सजा सुना दी और उसके बाद पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ ने बयान दिया था कि यदि भारत कोई कार्रवाई करता है तो उनकी सेना तैयार बैठी है. कई दिनों से चुपचाप सबकुछ देख रहे परिकर ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि पाकिस्तान एक ऐसा देश है जिसके पास बहुत खाली वक़्त है.

सर्जिकल स्ट्राइक ना भूले पाकिस्तान !

इस खाली वक़्त में उसे ऊट-पटांग हरकतें सूझती रहती हैं. उन्होंने पाकिस्तान को पिछली सर्जिकल स्ट्राइक के बारे में याद दिलाते हुए चेतावनी दी. परिकर ने पाकिस्तान को अल्टीमेटम देते हुए कहा कि अभी भी वक़्त है, चुपचाप पूरी इज्जत के साथ कुलभूषण को भारत वापस भेज दिया जाए तो पाकिस्तान की सेहत के लिए अच्छा रहेगा, वरना हम इसका बदला लेने में पूरी तरह से सक्षम हैं.

परिकर ने पाकिस्तान को सख्त लहजे में चेतावनी देते हुए कहा कि पाकिस्तान समझ ले कि यदि भारत ने कार्रवाई करनी शुरू की तो उसके पास मुकाबला करने की ताकत नहीं है. भारत एक शांतिप्रिय देश है, इसलिए हम उकसावा नहीं चाहते हैं. इसलिए पाकिस्तान को जाधव को वापस भेज देना चाहिए.

परिकर ने याद दिलाया कि सर्जिकल स्ट्राइक होने से पहले पाकिस्तान भारत को परमाणु हथियारों की धमकियां दिया करता था, लेकिन सेना ने पीओके में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक की और उसके बाद से पाकिस्तान ने परमाणु हथियारों की धमकियां देनी बंद कर दी क्यूकी उसे समझ आ गया कि वो भारत को ब्लैकमेल नहीं कर सकते क्यूकी भारत के पास उनसे लोहा लेने की शक्ति है.

गौरतलब है कि कश्मीर के उरी सेक्टर में सेना के कैंप में पाकिस्तानी आतंकियों द्वारा किये गए हमले के वक़्त भी पाकिस्तान ने भारत को अपनी सेना और परमाणु हथियारों की धमकी दी थी. लेकिन उस वक़्त रक्षामंत्री मनोहर परिकर थे और उन्होंने पीएम मोदी और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के साथ मिलकर पीओके में भारतीय सेना से आतंकी ठिकानों पर सर्जिकल स्ट्राइक करवा दी थी, जिसके बाद से पाकिस्तान की ओर से आतंकी गतिविधियों में लगाम लगी थी.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments