Home > ख़बरें > ब्रेकिंग – ममता के सांसद सुलतान अहमद की मौत पर बड़ा खुलासा, सीबीआई समेत मोदी भी सन्न !

ब्रेकिंग – ममता के सांसद सुलतान अहमद की मौत पर बड़ा खुलासा, सीबीआई समेत मोदी भी सन्न !

mamta-narda-scam

नई दिल्ली : पूर्व केंद्रीय मंत्री और तृणमूल कांग्रेस सांसद सुल्तान अहमद का सोमवार को कोलकाता में अपने आवास पर दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया था. 64 साल के अहमद, मनमोहन सिंह की सरकार में केंद्रीय राज्य मंत्री थे. बताया गया कि सुल्तान अहमद को सोमवार सुबह 11.30 बजे दिल का दौरा पड़ा. जिसके बाद उन्हें तुरंत कोलकाता के एक प्राइवेट अस्पताल ले जाया गया. डॉक्टरों ने उनकी जांच की और बताया कि उनकी मृत्यु अस्पताल पहुंचने से पहले ही हो चुकी थी. उनकी मौत के बाद अब कई रहस्य्मयी खुलासे सामने आ रहे हैं.

बड़ी साजिश हो सकती है अहमद की मौत !

रिपोर्ट्स के मुताबिक़ उनकी मौत दिल का दौरा पड़ने की वजह से हुई. मनमोहन सिंह सरकार में केंद्रीय पर्यटन राज्य मंत्री रह चुके अहमद पर नारदा स्टिंग के दौरान कैमरे पर रिश्वत लेने के आरोप थे. सीबीआई द्वारा फेल की गयी एफआईआर में उनका नाम भी था और इसी सिलसिले में उनसे पूछताछ भी चल रही थी.

उनकी मौत के बाद शक तब गहरा गया जब तृणमूल कांग्रेस ने अहमद की मौत के लिए बीजेपी को जिम्मेदार ठहरा दिया. पोस्टकार्ड.न्यूज़ के मुताबिक़ कुछ ऐसी बातें सामने आ रही हैं, जो एक बड़ी साजिश की ओर इशारा करती हैं.

अस्पताल पहुंचने में इतनी देर क्यों हुई ?

अहमद की मौत के बाद मीडिया के सामने ममता बनर्जी ने साफ तौर पर कहा कि सीबीआई की वजह से सुल्‍तान अहमद की मौत हुई है. उन्‍होंने कहा कि नारद स्टिंग मामले को लेकर जांच एजेंसी की तरफ से उन पर दवाब डाला जा रहा था. इस दवाब को वह सहन नहीं कर पाए और उनकी मौत हो गई.

तृणमूल कांग्रेस ने ये भी बताया कि एक अन्य तृणमूल सांसद पार्था चटर्जी की पत्नी की मौत भी 26 जुलाई को दिल का दौरा पड़ने के कारण हो गयी थी. बस इसी के बाद तृणमूल कांग्रेस पर सवाल उठने शुरू हो गए. पोस्टकार्ड.न्यूज़ के मुताबिक़ अहमद को सोमवार सुबह 11.15 बजे दिल का दौरा पड़ा. अस्पताल उनके घर से केवल 2 किलोमीटर की दूरी पर था, जहाँ तक पहुंचने के ज्यादा से ज्यादा 10-15 मिनट लगते लेकिन फिर भी उन्हें अस्पताल 12:15 बजे के करीब ले जाया गया, जहाँ डॉक्टरों ने उन्हें डेड ऑन अराइवल यानि अस्पताल पहुंचने से पहले ही मृत घोषित कर दिया.

अहमद ने कहा था सीबीआई से नहीं है कोई दिक्कत !

ममता बनर्जी के मुताबिक़ अहमद को सीबीआई के प्रेशर के कारण दिल का दौरा पड़ा, लेकिन कुछ ही वक़्त पहले खुद अहमद ने एक इंटरव्यू के दौरान बताया था कि पूछताछ के दौरान सीबीआई उनके साथ काफी अच्छे से पेश आयी थी. उनके उस इंटरव्यू का वीडियो आप इस पोस्ट के अंत में देख सकते हैं.

ममता ने आरोप लगाया कि नारदा मामले में अहमद पर सीबीआई का दबाव था, क्या ममता नारदा की सीबीआई जांच पर नज़रें बनायी हुई हैं? ममता ने कहा कि नारदा केस में केवल एक-डेढ़ लाख रुपये के मामले के लिए अहमद को सीबीआई की ओर से एक पत्र भेजा गया. वो काफी दबाव में थे. हालांकि यहाँ गौर करने वाले बात ये है कि क्या अहमद इतने कमजोर थे कि केवल एक-डेढ़ लाख रुपये के घोटाले से जुड़े सवाल वो झेल नहीं पाए?


सीबीआई का पत्र मिलते ही कैसे हुई मौत ?

जबकि हकीकत एकदम अलग है, कैमरे पर अहमद 5 लाख रुपये तक रिश्वत लेने की बात पर हाँ के लिए सर हिलाते देखे जा सकते हैं. और फिर यदि एक-डेढ़ लाख रुपये का मामला ममता के लिए छोटा-मोटा मामला है तो फिर बड़ा मामला कितने का है?

तृणमूल कांग्रेस ने बताया कि एक और सांसद की पत्नी की भी हाल ही में दिल का दौरा पड़ने से मौत हुई थी. क्या घोटाले में फंस रहे नेता नाम ना खोल दें, इसलिए उन्हें साजिश करके रास्ते से हटाया जा रहा है? इससे पहले शारदा चिटफंड घोटाले में गिरफ्तार ममता के पूर्व सांसद कुणाल घोष ने इस पूरे मामले में ममता बनर्जी और मुकुल रॉय का पर्दाफ़ाश किया था.

शक इसलिए भी गहरा रहा है क्योंकि अहमद की मौत ठीक उसी दिन हो गयी, जिस दिन उन्हें सीबीआई का पत्र मिला. उनकी मौत के पूरे मामले की जांच कराने की जगह दीदी ने तो सीधे सीबीआई और मोदी सरकार पर ही दोष मढ़ दिया. क्या नारदा केस को छिपाने व् दबाने की कोशिश की जा रही है.

सीबीआई के सामने टीएमसी की पोल खोल रहे थे अहमद ?

पोस्टकार्ड.न्यूज़ के मुताबिक़ अहमद ने तृणमूल कांग्रेस के कुछ राज सीबीआई के सामने खोल दिए थे, जिसके कारण उनकी रहस्य्मय तरीके से मौत हो गयी. एक तरह से देखा जाए तो टीएमसी का रास्ता साफ़ हो गया. वैसे भी सीबीआई को इनकी मौत के लिए जिम्मेदार कैसी ठहराया जा सकता है, वो तो केवल अपना काम ही कर रहे थे.

मोदी सरकार कैसे इसके लिए जिम्मेदार हो सकती है जबकि सीबीआई तो नारदा स्टिंग ऑपरेशन की जांच उच्च न्यायालय के आदेश पर कर रही है. अब मांग की जा रही है कि सुल्तान अहमद की पोस्ट मोरटम रिपोर्ट सामने लायी जानी चाहिए ताकि साजिश पर से पर्दा हट सके.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments