Home > ख़बरें > महाराष्ट्र सरकार ने लिया शानदार फैसला, लोगों के चेहरों पर लौटी ख़ुशी, खुश होकर मोदी भी बोले शाबाश

महाराष्ट्र सरकार ने लिया शानदार फैसला, लोगों के चेहरों पर लौटी ख़ुशी, खुश होकर मोदी भी बोले शाबाश

मुंबई : महाराष्ट्र में काफी वक़्त से किसान आंदोलन चल रहा था. जिसने धीरे धीरे एक महा आंदोलन का रूप ले लिया था. हालाँकि महाराष्ट्र के सीएम फडणवीस ने पूरा आश्वासन दिया था कि सबकी समस्याओं का हल निकाल लिया जायेगा. लेकिन फिर भी कुछ उग्र लोगों के आंदोलन में शामिल हो गए. जिसके बाद इस आंदोलन से कई किसान संगठन शामिल हो गए. चक्का जाम कर दिया गया, हज़ारों किलों सब्जियों से लदे ट्रक उड़ेल दिए गए, लाखों लीटर दूध सड़कों और हाईवे पर बहा दिया गया. पर जैसा कि सीएम ने वादा किया था, उन्होंने अब ऐसा फैसला लिया है जिससे सभी लोगों के चेहरों पर ख़ुशी वापस लौट आयी है.

मानी जाएँगी सभी मांगें, 100 फीसदी क़र्ज़ माफ़ होगा, आज तक किसी सरकार ने ऐसा नहीं किया

ताज़ा खबर के मुताबिक महाराष्ट्र के किसानों के लिए बड़ी राहत की खबर आयी है. महाराष्ट्र में काफी वक़्त से चले आ रहे किसान आंदोलन की सभी शर्तों को मुख्यमंत्री फडणवीस ने मान लिया है. किसानों का पूरा का पूरा 100 फीसदी क़र्ज़ माफ़ किया जायेगा. जिसके बाद महाराष्ट्र में हडताल कर रहे किसानों ने कल आख़िरकार अपना आंदोलन स्थगित कर दिया है.महाराष्ट्र के किसानों और राज्य सरकार के बीच रविवार को तीन घंटे चली बैठक में यह फैसला लिया गया कि कर्ज़ माफ़ी के लिए सरकार और किसानों की समिति बनेगी और किसानों पर दर्ज मामले वापस ले लिए जाएंगे. इस फैसले से ख़ुशी जताते हुए किसानों ने अपना सोमवार और मंगलवार को होने वाले प्रदर्शन रद्द कर दिए हैं.

लोगों ने जताई खुशी कहा ऐसा लग रहा है जैसे दिवाली आ गयी हो

राजस्व मंत्री चन्द्रकांत पाटिल ने पत्रकारों से कहा “ऐसा इससे पहले कभी नहीं हुआ कि किसी सरकार ने सारा का सारा क़र्ज़ माफ़ करने का निर्णय लिया हो.सीमांत किसानों का सारा कर्ज आज से ही माफ किया जाता है” मीटिंग में भाग लेने वाले किसान नेता और लोकसभा सदस्य राजू शेट्टी ने कहा कि अब वह बहुत खुश हैं कि उनकी सारी मांगें मान ली गयी हैं. आगे शेट्टी ने कहा “हमारे सारे मसले सुलझ
गये हैं. हमने कल और परसों होने वाले धरना प्रदर्शन सहित अपना आंदोलन अस्थाई रूप से वापस लेने का फैसला लिया है. लेकिन अगर सरकार हमसे वादाखिलाफी करेगी तो हम फिर से आंदोलन शुरू कर देंगे और वो इस बार इससे भी ज़्यादा उग्र होगा.”

अन्य किसान नेता रघुनाथदादा पाटिल ने कहा मंत्रियों के ये आश्वासन देने से कि “हमारा सारा क़र्ज़ माफ़ होगा, ऐसा लग रहा है जैसे दिवाली त्यौहार आ गया हो. हमारी सभी, 100 प्रतिशत, मांगें मान ली गयी हैं.”. किसान नेता ने कहा कि आज से सरकार नए सिरे से क़र्ज़ देने का फैसला लेगी. साथ ही निर्दलीय विधायक बाचु काडु ने भी कहा कि, ‘‘हम 12 और 13 जून को आहूत सड़क और रेल रोको आंदोलन वापस ले रहे हैं.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments