Home > ख़बरें > नोटबंदी के बाद अब शराबबंदी, सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया हाहाकारी फैसला, पूरे देश में मचा तहलका

नोटबंदी के बाद अब शराबबंदी, सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया हाहाकारी फैसला, पूरे देश में मचा तहलका

liquor-ban

नई दिल्ली : बिहार में नीतीश कुमार सरकार के शराब की खरीद बिक्री पर प्रतिबन्ध लगाने के बाद पूरे देश में इसपर प्रतिबन्ध लगाने की मांग उठने लगी थी. इसे लेकर अब सुप्रीम कोर्ट ने एक बड़ा फैसला सुनाया है जिससे पूरे देश में खलबली मच गयी है.


राज मार्गों पर शराब की बिक्री पर रोक !

सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए राष्ट्रीय व राज्य मार्गों पर खुली देशी -अंग्रेजी शराब और बियर की दुकाने के साथ-साथ बार और मॉडल शॉप में शराब की बिक्री पर प्रतिबन्ध लगा दिया है. इस फैसले के बाद अब 1 अप्रैल से राष्ट्रीय राजमार्गो व राज्य मार्गो के किनारे चल रही सभी शराब और बियर की दुकाने बंद हो जाएंगी. केवल इतना ई नहीं बल्कि अब राष्ट्रीय राजमार्गो व राज्य मार्गो से आधे किलोमीटर के दायरे में भी शराब और बियर की दुकानें नहीं खुल पाएंगी.

गौरतलब है कि इन राज मार्गों पर शराब की बिक्री के चलते कई वाहन चालाक शराब पी कर गाड़ियां चलाते पकडे जाते रहे हैं. ज्यादातर बड़ी सड़क दुर्घटनाओं में भी शराब पी कर गाडी चलाने के मामले सामने आये थे. जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से लोगों ने अपनी ख़ुशी जाहिर की है. लोगों ने कहा है कि इससे इन राज मार्गों पर सफर करना काफी सुरक्षित हो जाएगा.


दुकानें बंद करने के आदेश जारी !

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद जिलाधिकारी ने कल सड़क किनारे मौजूद सभी शराब की दुकानों को 1 अप्रैल तक बंद किये जाने के आदेश भी दे दिए हैं. जिलाधिकारी जीएस प्रियदर्शी ने बताया कि पिछले साल 15 दिसम्बर को सुप्रीम कोर्ट ने राष्ट्रीय राजमार्गो और राज्य मार्गों पर शराब की बिक्री पर रोक लगाने का फैसला सुनाया था.

इस फैसले पर अब काम शुरू हो चुका है और 1 अप्रैल से राष्ट्रीय राजमार्गो और राज्य मार्गों पर और इनके आधे किलोमीटर के दायरे में कोई भी शराब और बियर की दुकानें नहीं चलेंगी. मुख्य मार्गों से आधे किलोमीटर के दायरे के बाहर ही अब ये दुकाने चल सकेंगी. जो भी शराब और बियर की दुकाने अभी इन मुख्य मार्गों के किनारे चल रही हैं, उन्हें अपनी दुकानें बंद करनी पड़ेंगी.

आपको बता दें कि पिछले साल अप्रैल में नीतीश सरकार ने भी बिहार पूर्ण शराबबंदी की घोषणा की थी, जिसके लिए बाद में वो बाकायदा एक क़ानून भी लाये थे. नितीश कुमार ने कहा था कि वो बापू के विचारों को धरती पर उतारना चाहते इसलिए बिहार में पूर्ण रूप से शराबबंदी जरुरी है. इसके बाद अब सुप्रीम कोर्ट ने भी शराबबंदी को लेकर ये बड़ा फैसला सुना दिया है, जिसका कई लोगों ने स्वागत किया है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments