Home > ख़बरें > ब्रेकिंग – मोदी व् ट्रंप के खिलाफ बड़े पैमाने पर साजिश का खुलासा, जानकार बुरी तरह चौंक जाएंगे आप

ब्रेकिंग – मोदी व् ट्रंप के खिलाफ बड़े पैमाने पर साजिश का खुलासा, जानकार बुरी तरह चौंक जाएंगे आप

modi-trump-sonia-hiliary

नई दिल्ली : दुनिया एक बड़े बदलाव के दौर से गुजर रही है. लगातार कोंग्रेसी लूट के बावजूद देश में लम्बे वक़्त तक हर बार कांग्रेस चुनी जाती रही क्योंकि मीडिया के साथ सेटिंग के चलते केवल वही ख़बरें दिखाई जाती थीं, जो भ्रष्ट पार्टियां चाहती थी. इस खबर को बेहद ध्यान से पूरा पढ़ें, क्योंकि देश के खिलाफ एक बड़ी साजिश को अंजाम दिया जा रहा है.


मोदी और ट्रंप की ख़बरों को दबाने की साजिश !

2002 में गुजरात दंगों को लेकर एनजीओ, भ्रष्ट नेताओं और पेड मीडिया के गैंग ने मिलकर नरेंद्र मोदी पर जमकर कीचड उछाला. मगर ठीक उसी वक़्त सोशल मीडिया जैसे फेसबुक व् ट्विटर की बदौलत लोगों तक सच पहुंचना शुरू हुआ. जनता को पता चला कि कांग्रेस कितनी भ्रष्ट है और मोदी एक बड़े नेता के तौर पर उभरते हुए देश के प्रधानमंत्री बन गए.

वहीँ आतंकी देश पाकिस्तान पर अरबों लुटाने वाली अमेरिकी सरकार का भी तख्ता पलट हो गया और लेफ्ट को पछाड़ते हुए सोशल मीडिया की बदौलत डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के राष्ट्रपति बन गए. जिन्होंने पहली बार इस्लामिक आतंकवाद जैसे शब्दों का अंतर्राष्ट्रीय मंच पर प्रयोग शुरू किया.

राष्ट्रवादी ताकतों को फेक न्यूज़ वाला कहकर बदनाम करने की साजिश !

सोशल मीडिया की बदौलत लगातार राष्ट्रवादी ताकतों की जीत से वामपंथी घबरा गए हैं और राष्ट्रवादी ताकतों के खिलाफ दुनियाभर में साजिश की जा रही है. मीडिया की फर्जी ख़बरों की पोल खोलने वालों को फेक न्यूज़ कहकर बदनाम किया जा रहा है. फेसबुक व् ट्विटर पर दबाव बनाया जा रहा है कि ऐसी राष्ट्रवादी ताकतों की न्यूज़ को फेक कहकर लोगों तक पहुंचने ना दिया जाए.

ज़ी न्यूज़, सुदर्शन न्यूज़, पोस्टकार्ड.न्यूज़ जैसे कई अन्य राष्ट्रवादी न्यूज़ देने वालों को बदनाम किया जा रहा है. वहीँ अमेरिका में भी ट्रंप समर्थकों को ट्रोल और फेक न्यूज़ चलाने वाला कह कर उन्हें बदनाम किया जा रहा है. सबसे बड़ी बात जो सामने आयी है कि पूरी दुनिया की लेफ्ट लॉबी ने मानो राष्ट्रवादी ताकतों के खिलाफ एकजुट होकर उन्हें दबाने व् चुप कराने की ठान ली है. यही वजह है कि धीरे-धीरे मोदी व् ट्रंप से जुड़े अच्छे कामों की ख़बरें सोशल मीडिया से सुनियोजित तरीके से गायब की जा रही हैं. फेक न्यूज़ कहकर उन्हें हटाया जा रहा है.

फोर्बेस डॉट कॉम तक लिख रहा बीजेपी और मोदी को फेक न्यूज़ वाला !


यहाँ पढ़िए Forbes.com का आर्टिकल आपको सब समझ आ जाएगा.
https://www.forbes.com/sites/leezamangaldas/2017/09/26/why-facebook-is-taking-indias-fake-news-problem-to-its-newspapers/#54f4498b37cc

अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे भ्रष्टाचारी कर रहे साजिश !

आपको याद होगा कि गोरखपुर कांड में मीडिया ने डॉक्टर कफील को साजिश के तहत मसीहा बना दिया था, जिसके बाद हमने आपके सामने सच रखा था, ठीक उसी के बाद से राष्ट्रवादी ताकतों के खिलाफ बड़े पैमाने पर अभियान शुरू हो चुका है. यकीन मानिये कि यदि राष्ट्रवादी न्यूज़ वेबसाइट व् चैनल ना होते तो भ्रष्ट मीडिया बीएचयू कांड का ठीकरा मोदी के सर पर कबका फोड़ चुकी होती. रोहिंग्या कट्टरपंथियों का समर्थन करने वाली ऐसी ताकतों व् पत्रकारों से बर्दाश्त नहीं हो रहा है कि सोशल मीडिया की बदौलत म्यांमार की असली सच्चाई सामने आ रही है और लोगों की आँखें खुल रही हैं.

आपको याद होगा कि इटली के हेलीकॉप्टर घोटाले को लेकर सोनिया गाँधी समेत कई नेताओं और कई मीडिया पत्रकारों के खिलाफ जांच चल रही है. सीबीआई के मुताबिक़ मीडिया को चुप रहने के लिए पैसे खिलाये गए थे. अपने अस्तित्व की लड़ाई कर रहे ऐसे भ्रष्ट पत्रकार व् नेताओं ने सांठगांठ करके राष्ट्रवादी ताकतों के खिलाफ एक अघोषित जंग की शुरुआत कर दी है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments