Home > ख़बरें > बीजेपी ने किया राष्ट्रपति पद के लिए नाम तय, पीएम मोदी देंगे गुरुदक्षिणा !

बीजेपी ने किया राष्ट्रपति पद के लिए नाम तय, पीएम मोदी देंगे गुरुदक्षिणा !

advani-modi-emotional

नई दिल्ली : यूपी और उत्तराखंड में बम्पर जीत के बाद अब बीजेपी की पसंद का राष्ट्रपति बनना तय है. बताया जा रहा है कि यूपी विधानसभा नतीजे आने से पहले सोमनाथ में एक बैठक के दौरान पीएम मोदी ने संकेत दिया था कि यूपी चुनाव के अच्छे नतीजे आने पर वो आडवाणी जी को राष्ट्रपति के रूप में देखना चाहेंगे.

इस बैठक में पीएम मोदी के साथ खुद लाल कृष्ण आडवाणी, अमित शाह और केशुभाई पटेल भी मौजूद थे. अब जबकि यूपी में बीजेपी की ऐतिहासिक जीत हो चुकी है तो बड़े आराम से बीजेपी अपनी पसंद के व्यक्ति को राष्ट्रपति बना पायेगी. आपको बता दें कि पीएम मोदी आडवाणी को अपने गुरु के तौर पर मानते हैं. 1990 में आडवाणी ने जब अयोध्या यात्रा की शुरुआत की थी तब उन्होंने मोदी जी को अपने इस आंदोलन में शामिल किया था.

उस वक़्त से ही मोदी जी ने राष्ट्रीय सियासत में कदम रखा था. उसके बाद मोदी जी लगातार आगे बढ़ते ही चले गए और अपनी जी-तोड़ मेहनत के बल पर देश के सबसे ताकतवर शख्स यानी प्रधानमंत्री बन गए. मोदी जी की राजनीति के शुरूआती दिनों में आडवाणी ने ही गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में मोदी का नाम आगे किया था. कहा जाता है कि 2002 के दंगों में जब अटल बिहारी वाजपेयी मोदी जी से खफा हो गए थे, उस वक़्त भी आडवाणी ने मोदी की सहायता की थी.

हालांकि बीजेपी में जब मोदी जी के नाम को पीएम पद के उम्मीदवार के तौर पर घोषित किया गया, उस वक़्त आवानी के नाराज होने की ख़बरें भी सामने आयीं थी लेकिन बाद में आडवाणी इसके लिए मान गए. अब कहा जा रहा है कि आडवाणी को राष्ट्रपति बना कर पीएम मोदी उन्हें गुरु दक्षिणा देंगे.

भारत में राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए वोटों की वैल्यू 10,98,882 है जिसमे से राष्ट्रपति पद के चुनाव को जीतने के लिए 5.49 लाख वोटों की जरुरत पड़ती है. पांच राज्यों के चुनाव से पहले एनडीए के पास 4.57 लाख वोट थे जो अब बढ़कर 5.49 लाख को पार कर चुके हैं. यानी यूपीए-थर्ड फ्रंट मिलकर भी एनडीए के बराबर नहीं हो पाएंगे और इस तरह से बीजेपी की पसंद का राष्ट्रपति बनना अब निश्चित हो गया है.

अब यदि बीजेपी ने पीएम मोदी की पसंद के व्यक्ति को राष्ट्रपति बनाने के लिए सहमति जताई तो लाल कृष्ण आडवाणी का राष्ट्रपति बनना तय है. वहीँ पांच राज्यों के चुनाव होने के बाद राज्यसभा में भी बीजेपी की स्थिति अच्छी होगी और कई अटके पड़े क़ानून अब आसानी से पास हो पाएंगे.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments