Home > ख़बरें > यूपी में चल गया मोदी मैजिक, मोदी ने बताया कौन बनेगा उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री !

यूपी में चल गया मोदी मैजिक, मोदी ने बताया कौन बनेगा उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री !

modi-up-cm-candidate

नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश चुनाव लगभग ख़त्म होने की कागार पर है और 11 मार्च को नतीजे आने वाले हैं. हालांकि राजनितिक विशेषज्ञों के मुताबिक़ यूपी में इस बार बीजेपी पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने जा रही है. वोटरों के अब तक के रुझानों और पीएम मोदी के बनारस के रोड शो में उमड़ी लाखों की भीड़ देख कर बीजेपी को भी पक्का यकीन हो चुका है कि इस बार यूपी में बीजेपी का ही परचम लहराने जा रहा है. बीजेपी के विश्वसनीय सूत्रों द्वारा खबर आयी है कि इस बात का फैसला भी हो चुका है कि यूपी का मुख्यमंत्री कौन होगा.


सूत्रों के मुताबिक़ केशव प्रसाद मौर्या को यूपी के मुख्यमंत्री का पद दिया जाएगा. विधासभा चुनाव के दौरान मौर्या ने खुद को एक ताकतवर नेता के तौर पर जनता के सामने पेश किया है. इसके अलावा मौर्या ओबीसी वर्ग से आते हैं इसलिए उन्हें मुख्यमंत्री बनाने से बीजेपी को आगे भी इसका फायदा मिलेगा.

अभी हाल ही में पीएम मोदी ने इलाहाबाद में अपनी रैली में कहा भी था कि उत्तर प्रदेश का भविष्य इलाहाबाद से ही निर्धारित होगा. इलाहाबाद रैली में पीएम मोदी ने कहा था कि इलाहाबाद ने भारत को कई प्रधानमंत्री दिए है और यूपी का भविष्य भी इलाहाबाद से ही तय होगा. इसे भी पीएम मोदी का साफ़-साफ़ इशारा माना जा रहा है कि यूपी में मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या ही बनेंगे क्योंकि मौर्या इलाहबाद से ही हैं.


हालांकि अभी तक इसका कोई आधिकारिक ऐलान तो नहीं किया गया है और ना ही 11 मार्च से पहले किया जाएगा लेकिन पार्टी के सूत्रों के मुताबिक़ मौर्या के नाम पर मुहर लग चुकी है. हालांकि मुख्यमंत्री पद के कई और दावेदार भी हैं बीजेपी में जिनमे केंद्रीय मंत्री उमा भारती, पूर्वांचल के कद्दावर नेता मनोज सिन्हा और योगी आदित्यनाथ के नाम शामिल हैं. मगर सूत्रों की माने तो योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने की उम्मीद ना के बराबर है. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह पहले ही साफ़ कर चुके हैं कि वो मुख्यमंत्री नहीं बनना चाहते.

बीजेपी से जुड़े सूत्रों के मुताबिक केशव प्रसाद मौर्या ही मुख्यमंत्री बनेंगे और इसके पीछे कई कारण भी हैं. मौर्या को मुख्यमंत्री बनाने का सबसे पहला और बड़ा फायदा जो बीजेपी को मिलेगा वो है ओबीसी और ईबीसी को लुभाने का. मौर्या खुद ओबीसी वर्ग से आते हैं और उन्हें मुख्यमंत्री बनाये जाने से जनता के बीच सन्देश जाएगा कि बीजेपी ओबीसी और दलितों के साथ है. साथ ही मौर्या एक युवा नेता भी माने जाते हैं, वो अखिलेश यादव की जगह आसानी से ले पाएंगे.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments