Home > ख़बरें > दिल्ली में सामने आयी केजरीवाल की संगठित लूट की ऐसी कहानी जिसने हिला के रख दिया दिल्ली को

दिल्ली में सामने आयी केजरीवाल की संगठित लूट की ऐसी कहानी जिसने हिला के रख दिया दिल्ली को

kejriwal-scam

नई दिल्ली : अलग तरह की राजनीति करने आये केजरीवाल ने वाकई कुछ अलग तरह की राजनीति करनी शुरू कर दी है. केजरीवाल के एक करीबी रिश्तेदार पर भ्रष्टाचार का आरोप लगा है. केजरीवाल के साढ़ू सुरेंद्र कुमार बंसल के खिलाफ दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने प्रारंभिक जांच के आदेश भी दे दिये हैं. “रोड एंटी करप्शन ऑर्गेनाइजेशन” नाम के एक एनजीओ ने सुरेंद्र कुमार बंसल के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायत दर्ज करवाते हुए आरोप लगाया है कि उन्‍होंने पीडब्‍ल्‍यूडी में फर्जी बिलों के माध्‍यम से मोटा मुनाफ़ा कमाया.


जनता के पैसे की जम कर लूट

“रोड एंटी करप्शन ऑर्गेनाइजेशन” एनजीओ के मुताबिक़ वो नगर निगम से जुड़े प्रोजेक्‍टों की निगरानी करता है. उनके मुताबिक़ केजरीवाल ने अपने साढ़ू सुरेंदर कुमार बंसल को 2014 से 2016 के बीच कई निर्माण कार्यों का सरकारी काम दिया. जिसमे कई फ़र्ज़ी कंपनियां बनाकर कागजों पर ही करोड़ो का काम दिखाया गया और सरकारी पैसे की जम कर लूट की.

एनजीओ के संस्थापक राहुल शर्मा और एनजीओ से जुड़े विप्लव अवस्थी के मुताबिक़ इस घोटाले के पीछे सीधे तौर पर केजरीवाल ही शामिल हैं, उन्होंने अपने साढ़ू को निजी फायदा पहुचाने के लिए ऐसा गोरखधंधा किया. उन्होंने ये भी बताया कि जब इस बारे में उनके एनजीओ की ओर से 150 से ज्यादा आरटीआई डाली गईं तो दिल्ली सरकार के संबंधित विभागों की ओर से कोई जानकारी तक नहीं दी गई.

कागजों पर ही हुआ काम

उनके मुताबिक़ पहले तो केजरीवाल के साढ़ू सुरेंद्र कुमार बंसल ने “रेणु कंस्ट्रक्शन” नाम की एक कंपनी बनाई जिसमे दिखाया गया कि उन्होंने “महादेव इम्पेक्स” से सामान खरीदा. वहीँ दूसरी ओर “महादेव इम्पेक्स” ने सेल टैक्स विभाग को दी जानकारी में दिखाया कि उनकी कंपनी ने तो कोई कारोबार ही नहीं किया, ना तो उन्होंने किसी से सामान खरीदा और ना ही आगे किसी को सामान बेचा.


इसके बाद कागजों पर ही नाले बनाये गए, कागजों पर ही कंस्ट्रक्शन हो गया और जनता के टैक्स का पैसा दे दिया गया. एनजीओ ने केजरीवाल सरकार पर नियमों के उलंघन का भी आरोप लगाया है.

करोङों का घपला

एनजीओ के मुताबिक़ उनके पास बंसल के कंपनी के नाम पर हुए लगभग 8 करोड़ के घोटाले की जानकारी है. एनजीओ से जुड़े लोगों को केजरीवाल पर रत्ती भर भरोसा नहीं है, उनके मुताबिक़ जिसने खुद ही अपने रिश्तेदारों को फायदा पहुचाने के लिए गलत काम किये हों, उससे किसी निष्पक्ष जांच और इंसाफ की उम्मीद कैसे की जा सकती है.

पूरे मंत्रिमंडल पर ही आरोप

इससे पहले केजरीवाल के स्वास्थ्य मंत्री सत्येन्द्र जैन पर भी आरोप लग चुके हैं कि उनकी बेटी को नियमों को ताक पर रखकर मोहल्ला क्लीनिक की जिम्मेदारी दे दी गयी. इसके अलावा उनके तार हवाला कारोबारियों से जुड़े होने की भी जांच चल रही है. हाल में कुछ अनियमितताओं को लेकर दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पर भी सवाल उठे थे, उस सिलसिले में भी सीबीआई जांच के आसार हैं. यही है केजरीवाल की अलग तरह की राजनीति.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments