Home > ख़बरें > कश्मीरी पत्थरबाजों से गुस्साए राजस्थान के कुछ लोगों ने कर दिया बड़ा कांड, सन्न रह गए पत्थरबाज !

कश्मीरी पत्थरबाजों से गुस्साए राजस्थान के कुछ लोगों ने कर दिया बड़ा कांड, सन्न रह गए पत्थरबाज !

rajasthan-kashmiri-students

जयपुर : पिछले दिनों कश्मीर में पत्थरबाजी की घटनाएं काफी बढ़ गयी हैं. लगभग हर रोज सुरक्षाबलों पर पथराव की ख़बरें देश को दहला रही हैं. अभी हाल ही में आयी खबर तो और भी ज्यादा हैरान करने वाली थी जिसमे कश्मीर के एक स्कूल के छोटे-छोटे बच्चे तक सुरक्षाबलों पर पथराव कर रहे थे. अब इसी कड़ी में राजस्थान से एक बेहद सनसनीखेज खबर सामने आ रही है, जिसकी जहां एक ओर तो कई लोग निंदा कर रहे हैं, वहीँ कई लोग इसके समर्थन में भी उतर आये हैं.


राजस्थान में कश्मीरी छात्रों की पिटाई !

खबर आयी है कि सुरक्षाबलों पर कश्मीरी छात्रों द्वारा पथराव की ख़बरों से बेहद खफा चित्तौड़गढ़ जिले के कुछ स्थानीय लोगों ने राजस्थान के मेवाड़ विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले कश्मीरी छात्रों को जमकर पीटा. बुरी तरह से पिटाई होने के कारण कई कश्मीरी छात्र घायल हो गए. इन लोगों ने ना सिर्फ इन छात्रों की पिटाई की बल्कि इन्हें पत्थरबाज और आतंकवादी भी कहा.

एक कश्मीरी छात्र ने पहचान गोपनीय रखने की शर्त पर बताया कि, “बुधवार शाम 6 बजे के करीब गंगरार कस्बे के पास कई कश्मीरी छात्रों की लाठी और क्रिकेट बैट से बुरी तरह पिटाई की गई. स्थानीय लोगों को जैसे ही पता चला कि हम कश्मीरी छात्र है तो उन्होंने हम पर हमला कर दिया, जिसके कारण कई छात्र घायल हो गए. लोगों ने कहा कि हम ही वो लोग हैं जो सेना पर पत्थर फेंकते हैं. उन्होंने हमें कश्मीर वापस चले जाने की धमकी दी और यहां तक कहा कि वो हमें यहां पढ़ने नहीं देंगे.”


वहीँ इस मामले में विश्वविद्यालय प्रशासन का कहना है कि कश्मीरी छात्र पास के एक बाजार की ओर जा रहे थे, और वहीँ वो स्थानीय लोगों से उलझ गए. एक कश्मीरी छात्र ने बताया कि इस घटना के विरोध के लिए कल लगभग 250 कश्मीरी छात्रों ने प्रदर्शन किया और कई छात्रों ने विरोध दिखाने के लिए रात का खाना भी नहीं खाया. हालांकि विश्वविद्यालय प्रशासन ने किसी भी तरह के विरोध प्रदर्शन होने से इनकार किया है.

वहीँ पहचान गुप्त रखने की शर्त पर एक स्थानीय युवक ने बताया कि कश्मीर में कश्मीरी छात्रों ने सुरक्षाबलों पर जो पथराव किये थे, उससे वो बेहद खफा हैं. उसने कहा कि कश्मीरी खाते तो भारत की हैं, लेकिन गाते पाकिस्तान की हैं, ये सब भारत में नहीं चलेगा. वहीँ एक अन्य युवक ने बताया कि कश्मीरी छात्रों ने पहले उनसे झगड़ा शुरू किया, उन्हें लगा कि ये भी कश्मीर है, जहां वो मनमानी करेंगे. कश्मीरी छात्रों ने स्थानीय लोगों से बदतमीजी शुरू कर दीं, लोग पहले तो चुपचाप सुनते रहे लेकिन जैसे ही उन्हें पता चला कि बदतमीजी का रहे छात्र कश्मीरी हैं, लोगों का गुस्सा फट पड़ा और लाठी, डंडों से उनकी धुनाई करके उनके दिमाग ठिकाने लाये गए.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments