Home > ख़बरें > बड़ी खबर : कश्मीर में सुरक्षाबलों के छापे से हुआ सनसनीखेज़ खुलासा, ख़ुफ़िया एजेंसी भी आयी सकते में

बड़ी खबर : कश्मीर में सुरक्षाबलों के छापे से हुआ सनसनीखेज़ खुलासा, ख़ुफ़िया एजेंसी भी आयी सकते में

श्रीनगर : सीमा पार व्यापार की आड़ में पीओके कैसे हमरे देश में ज़हर का व्यापार कर रहा है आज इसका भंडा फोड़ हो चुका है कि आखिर किस तरह कश्मीर में ज़हर की खेती और करोड़ों का व्यापार हो रहा है. अलगाववादियों की मोटी काली करोड़ों की कमाई का हिस्सा इसमें भी बताया जा रहा है. सुरक्षाबलों की भी आँखें फटी की फटी रह गयी गयीं जब उन्होंने ट्रकों के रेले पर छापा मारा.


बड़ा खुलासा – पीओके से कश्मीर में किया जा रहा है चोरीछिपे करोड़ों का धंधा

क्रास एलओसी व्यापार के नाम पर की जा रही एक तस्करी का शुक्रवार को भंडाफोड़ किया गया है. जिसमें जम्मू-कश्मीर पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर उरी के सलामाबाद व्यापार सुविधा केंद्र पर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) से भारत में घुसे आ रहे ट्रकों में 40 किलोग्राम हेरोइन और ब्राउन शुगर को छिपाकर भारत में लाया जा रहा था. इस पूरे नशीले ज़खीरे की कीमत करीब 200 करोड़ से ऊपर की बताई जा रही है. यह ट्रक नियंत्रण रेखा पार व्यापार के सिलसिले में यहां आया है. ट्रक ड्राइवर सैयद यूसुफ को गिरफ्तार कर लिया गया है जिसने पूछताछ में बताया कि कैसे करोड़ों के ड्रग्स का व्यापर कश्मीर में किया जा रहा है.


अक्सर पुलिस और सुरक्षाबल सीमा पार से आने वाले इन करोड़ों की ड्रग्स तस्करी को रोकने के लिए कई अभियान चलाते रहते हैं. लेकिन शुक्रवार को बारामूला पुलिस और सुरक्षा बलों ने संयुक्त कार्रवाई के बाद इस 200 करोड़ के ड्रग्स के जखीरे को पकड़ा जा सका.

इस पूरे ममाले की जाँच एसएसपी बारामुला इम्तियाज हुसैन कर रहे हैं. उन्होंने पत्रकारों को बताया कि “सलामाबाद में नियंत्रण रेखा पार व्यापार के लिए पीओके से आ रहे एक ट्रक में से अब तक तकरीबन 40 किलोग्राम ड्रग्स बरामद किए गए हैं.’’ हुसैन ने कहा कि “नशीले पदार्थों को ट्रक में लकड़ी के बक्सों में छुपा कर रखा गया था और वाहन की जांच के दौरान इन्हें बरामद किया गया.”

आपको बता दें कश्मीर के विभाजित हिस्सों के बीच सीमा पार से व्यापार अक्टूबर साल 2008 में शुरू हुआ था. दोनों देशों के बीच सप्ताह में चार बार व्यापार के लिए ट्रकों का आना जाना लगा रहता है. अक्सर सीमा पार से नशे के व्यापारी ड्रग्स की तस्करी के लिए नए-नए तरीके खोजते रहते हैं. कुछ वक़्त पहले ही खबर आई थी कि पाकिस्तानी तस्कर करोड़ों के नशे की खेप को भारत में पहुंचाने के लिए सिंचाई साधनों का इस्तेमाल कर रहे हैं. यही नहीं वह ड्रग्स के बड़े पैकेट के बजाय अब छोटे पैकेट भारत भेज रहे हैं,जिससे वह पुलिस की नजरों से बच सके.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments