Home > ख़बरें > प्रभु ने कर दिखाया ऐसा चमत्कार, देखकर अमेरिका और जापान भी हो गए प्रभु के दीवाने

प्रभु ने कर दिखाया ऐसा चमत्कार, देखकर अमेरिका और जापान भी हो गए प्रभु के दीवाने

suresh-prabhu-modi-bullet-train

नई दिल्ली : देश को एक विकसित राष्ट्र बनाने में पूरी ताकत से लगे पीएम मोदी अपना एक और बड़ा वादा पूरा करने जा रहे हैं. ये वादा है बुलेट ट्रेन चलाने का जिससे लंबी दूरी का सफर आसान और काफी तेज होने वाला है. देश की पहली बुलेट ट्रेन अहमदाबाद से मुंबई के बीच दौड़ने वाली है. सबसे ख़ास बात है कि इसके स्टेशन आम रेलवे स्टेशनों से बिलकुल अलग होंगे.


इन स्टेशनों को ऐसे बनाया जाएगा कि यात्रियों की सिक्योरिटी जांच के साथ-साथ उनके टिकेट की जांच भी स्टेशनों पर ही हो जायेगी. ट्रेन के अंदर कोई टीटीआई नहीं होगा. स्टेशनों पर लगी मशीनें ही टिकेट चेक कर लेंगी.

रेलवे के अधिकारियों के अनुसार बुलेट ट्रेन स्टेशनों को बनाये जाने की योजना के लिए रेलवे बोर्ड में बैठक हो चुकी है जिसमे इन स्टेशन की रूप-रेखा, वहां दी जाने वाली सुविधाओं और स्टेशनों के ढाँचे जैसे विषयों पर विचार-विमर्श किये गए. भारत की परिस्थितियों को देखते हुए बुलेट ट्रेन को अंडरग्राउंड चलाने पर विचार किया जा रहा है या फिर इन्हें मेट्रों की तरह से एलिवेटेड भी रखा जा सकता है.


बुलेट ट्रेन के स्टेशन भी जापान के स्टेशनों के स्टाइल के बनाये जाएंगे. ये स्टेशन पूरी तरह से कवर्ड होंगे. जापान के स्टेशनों में बने वेटिंग रूम में ज्यादा देर तक बैठना बेहद मुश्किल होता है लेकिन भारत में वेटिंग रूम भी इतने अच्छे तरीके से बनाये जायगे कि इनमे बैठने वाले यात्रियों को कोई परेशान ना हो. इन स्टेशनों में सिक्यॉरिटी और सेफ्टी के इंटरनेशनल कोड का भी इस्तेमाल किया जाएगा.

सबसे ख़ास बात तो ये रहेगी कि जल्द ही बुलेट ट्रेन समुद्र के अंदर भी दौड़ेगी. बताया जा रहा है कि इस काम के लिए वहां की मिट्टी का परीक्षण किया जाना भी शुरू कर दिया गया है. अगले साल से इसका निर्माण भी शुरू हो जाएगा. समुद्र के अंदर बुलेट ट्रेन चलाने वाला भारत पहला देश बन जाएगा. इस पूरे प्रोजेक्ट पर तकरीबन 98000 करोड़ रुपये का खर्च आएगा जिसका आधा हिस्सा भारतीय रेल खर्च करेगा और बाकी आधा महाराष्ट्र और गुजरात सरकार खर्च करेगी. इस ऐतिहासिक योजना के पूरा होते ही अहमदाबाद से मुंबई की दूरी तय करने में लगने वाला वक़्त 6 घंटे से कम होकर केवल 2 घंटे रह जाएगा.

बुलेट ट्रेन के आने से ना केवल यात्रियों का वक़्त बचेगा बल्कि बुलेट ट्रेन का किराया हवाई जहाज के किराए से कम भी रखा जाएगा. इसके साथ ही एशिया में भारत एक मजबूत और संपन्न देश की तरह गिना जाने लगेगा.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments