Home > ख़बरें > कश्मीर से आयी ऐसी धमाकेदार खबर, देखकर आपकी आँखों में भी आ जाएंगे ख़ुशी के आंसू

कश्मीर से आयी ऐसी धमाकेदार खबर, देखकर आपकी आँखों में भी आ जाएंगे ख़ुशी के आंसू

mehbooba-modi-kashmir

नई दिल्ली : तीन तलाक और चार शादियों की प्रथा पर देश में पिछले काफी वक़्त से बहस हो रही है. मुस्लिम महिलाओं के संगठनो के मुताबिक़ इन प्रथाओं के जरिये उनका शोषण होता आ रहा है, हालांकि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड इस प्रथा को ख़त्म करने के पक्ष में नहीं. अब इस मामले से जुडी एक बेहद हैरान करने वाली एक ऐसी खबर कश्मीर से आयी है जिस पर यकीन करना भी मुश्किल हो रहा है.


दूसरी शादी करने पर रुक जायेगा सेलरी इंक्रीमेंट होगी सख्त कार्रवाई !

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कर्मचारियों के लिए इस प्रथा पर रोक लगा दी है. खबरों के मुताबिक़ राज्य की पुलिस के सामने आतंकवाद और हिंसा से निपटने के अलावा एक अन्य बड़ी समस्या दूसरी शादी की प्रथा है. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने अब कर्मचारियों की दूसरी शादी के खिलाफ सख्त निर्देश जारी कर दिए हैं. निर्देशों के अनुसार यदि राज्य का कोई भी कर्मचारियों दूसरी शादी करता है तो उसे सर्विस नियम तोड़ने के जुर्म में दोषी माना जाएगा और उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी. एक पुलिस अधिकारी से बात करने पर उसने बताया कि यदि उनके सामने ऐसा कोई भी मामला आता है तो कर्मचारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी.

केवल इतना ही नहीं बल्कि अब यदि पता चलता है कि किसी पुलिसवाले की एक और पत्नी भी है तो उस वर्ष उसे इंक्रीमेंट नहीं दिया जाएगा यानी उसकी तनख्वाह भी नहीं बढ़ेगी. एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक़ इस प्रथा से परेशान होकर पुलिसवालों की पहली पत्नियां पुलिस में कई शिकायतें दर्ज करवा रही थी, जिसके बाद इस बड़े कदम को उठाना जरुरी हो गया था.


दूसरी शादी करना गंभीर अपराध?

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने नए निर्देशों के लिए बाकायदा एक सर्कुलर जारी करके अपने सभी कर्मचारियों को आगाह किया है. जम्मू-कश्मीर पुलिस के एडिशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस, एल मोहंती ने सर्कुलर जारी किया है, इस सर्कुलर में लिखा गया है कि ऐसी शिकायतें मिली हैं कि राज्य के पुलिसकर्मी गवर्मेंट इंप्लॉई सर्विस कंडक्ट रूल में बताई गई प्रक्रिया का पालन ना करते हुए दूसरी शादी कर रहे हैं. ना केवल ऐसा करना एक गंभीर अपराध है बल्कि ऐसा करने से पुलिसकर्मी की पहली पत्नी व् बच्चों पर भी गलत प्रभाव पड़ता है. इसलिए ऐसा ना किया जाए, अन्यथा कड़ी कार्रवाई से गुजरना पडेगा.

एल मोहंती के मुताबिक़ अबतक दूसरी शादी संबंधी शिकायतों पर उचित कार्रवाई नहीं होती थी. इसलिए अब अधिकारियों को साफ निर्देश दे दिए गए हैं कि ऐसी शिकायत आने पर आरोपी पुलिसकर्मी के खिलाफ जांच की जाए और दोषी पाए जाने पर उस साल उसकी तनख्वाह पर होने वाला इंक्रीमेंट रोक दिया जाए. इसे चार शादियों की प्रथा की समाप्ति के लिए प्रथम चरण की तरह देखा जा रहा है. कहा जा रहा है कि धीर-धीरे इसी तरह सभी के लिए दूसरी शादी प्रथा पर रोक लगा दी जायेगी.

मुस्लिम महिलाओं के चेहरे पर ख़ुशी

मुस्लिम महिलाएं भी इस निर्देश से काफी खुश दिखाई दे रही हैं. कुछ मुस्लिम महिलाओं से बात करने पर उन्होंने कहा कि जो काम देश के अन्य राज्य ना कर सके वो काम कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने कर दिखाया. महबूबा मुफ़्ती ना होती तो ऐसा नियम लागू ना हो पाता. उन्होंने कहा कि चार शादियों और तीन तलाक की प्रथा के जरिये से उनका शोषण होता आया है और भारत में इन प्रथाओं पर जरूर रोक लगनी चाहिए. उन्होंने कहा कि उन्हें पीएम मोदी से भी काफी आशाएं हैं कि वो उनकी और उनकी जैसी कई अन्य पीड़ित महिलाओं की सहायता जरूर करेंगे.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments