Home > ख़बरें > कश्मीर से कन्याकुमारी तक भारत की तबाही का बना ब्लू-प्रिंट, वीडियो देख आपकी आँखें फटी रह जाएंगी

कश्मीर से कन्याकुमारी तक भारत की तबाही का बना ब्लू-प्रिंट, वीडियो देख आपकी आँखें फटी रह जाएंगी

isis-threat-on-india

नई दिल्ली : मोदी सरकार के आने के बाद से देश में कई तरह के विकास कार्यों की शुरुआत की गयी है, लेकिन उनके रास्ते की रुकावटें कम होने की जगह बढ़ती ही जा रही हैं. जहाँ एक ओर पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई ने कश्मीर में पहले से ही आतंकवाद फैलाया हुआ है, वहीँ अब एक ओर बेहद गंभीर समस्या कश्मीर में सर उठाती नज़र आ रही है.


कश्मीर में कत्लेआम की घिनौनी साजिश

दुनिया का सबसे खूंखार आतंकी संगठन ‘इस्लामिक स्टेट’ (ISIS) मुस्लिम बहुल जम्मू और कश्मीर राज्य को कैलफेट में तब्दील करने के मिशन पर लग गया है. एक प्रतिष्ठित मीडिया एजेंसी ‘इंडिया टुडे’ के मुताबिक़ उनके हाथ ऐसे कागजात लगे हैं, जिनसे आईएसआईएस के आतंकी आकाओं की तरफ से तैयार ब्लू-प्रिंट का उन्हें पता चला है.

इसके मुताबिक़ आईएसआईएस ने पाक समर्थित आतंकवाद के कारण अशांत कश्मीर के लिए गेम प्लान बनाया हुआ है. ये दस्तावेज इस्लामिक स्टेट के एक प्रकाशन का ही हिस्सा है, इनमे हिमालयाई क्षेत्र में हिन्दुओं की मार-काट का आह्वान किया गया है.

इनमे जेहाद का महिमा-मंडन करते हुए लोकतांत्रिक शासन के खिलाफ नफरत जताई गयी है. जहर और द्वेष से भरे इन दस्तावेजों में आईएसआईएस ने भारतीय सेना के खिलाफ खतरनाक गुरिल्ला युद्ध छेड़ने की भी कोशिश की है. भारतीय सेना के बारे में जहर उगलते हुए इसमें इस्लामिक स्टेट के लड़ाकों से कहा गया है कि, ‘तुम एक मजबूत फौज से नहीं बल्कि मूर्तियों की पूजा करने वालों व् गाय का मूत्र पीने वालों से लड़ रहे हो.’ आगे लिखा गया है कि, ‘ये सबसे कमजोर शक्तियां हैं. तुम्हें उन पर अवश्य हमला करना चाहिए. तुम्हें उन्हें घेर लेना चाहिए. उन्हें कत्ल कर दो. अगर आसमान तक भी उनका पीछा करना पड़े तो करो.’

मुसलामानों को इस्लामिक स्टेट से जुड़ने व् खासतौर पर हिन्दुओं के खिलाफ मार-काट मचाने के लिए उकसाया गया है. हिन्दुओं के अलावा देश में उदारवादी इस्लाम और इसकी नरम सूफी जड़ों को भी घाटी से मिटाने का मंसूबा बनाया हुआ है.

आईएसआईएस शरिया कानून और आठवीं सदी के इस्लाम के मुताबिक कैलिफेट बनाने के लिए इन दस्तावेजों में कहता है कि शान्ति का प्रसार करने वाले बुरे उलेमा को मार डालो जो अफवाहें फैलाते हैं. उनका कत्ले-आम करने के लिए अपने को प्रतिबद्ध करो.

केरल में शरिया का राज शुरू

इन दस्तावेजों के सामने आने के बाद से खुफिया एजेंसियां हरकत में आ गयी हैं. बता दें कि देश में आईएसआईएस अपने पैर पसार चुका है और इसकी शुरुआत केरल से हुई है, जहाँ से कई आईएसआईएस लड़ाके बनने के लिए अफगानिस्तान भी जा चुके हैं. जुलाई में क़रीब 20 मुस्लिम युवाओं के यहाँ से अचानक से ग़ायब हो जाने के बाद उनके भी आईएस ज्वाइन करने की आशंका है.


वहीँ केरल के मल्लापुरम के अट्टीकेड में तो आठवीं सदी के इस्लामिक क़ानून की शुरआत भी हो चुकी है लेकिन देश की मीडिया ने इस कड़वे सच पर चुप्पी साधी हुई है. यहाँ टीवी, संगीत, मोबाइल फ़ोन, इंटरनेट, स्कूलों के साथ-साथ चुनावों पर भी प्रतिबन्ध लगा दिया गया है, क्योंकि इस्लामिक क़ानून को मानने वाले यहाँ के लोगों को लोकतांत्रिक शासन से नफरत है.

देखिये वीडियो

Have you heard of Attikkad in #Mallapuram, #Kerala? It is an islamic town following salafism with Sharia law .No mobiles, TV, internet, schools, elections, or anything here. Many of the residents have moved to yemen etc. Apparently all residents have pledged their support to #ISIS. What is #GOI doing about it?

Posted by Sanskriti on Tuesday, June 6, 2017


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments