Home > ख़बरें > भारतीय सेना से पिटने के बाद पाकिस्तान को लगा एक और बड़ा झटका, पाक मीडिया में मची हाय-तौबा

भारतीय सेना से पिटने के बाद पाकिस्तान को लगा एक और बड़ा झटका, पाक मीडिया में मची हाय-तौबा

iran-pakistan-war

नई दिल्ली : आये दिन सरहद पर पाकिस्तान के सीजफायर के उलंघन, आतंकी घुसपैठ व् आतंकी हमलों से जहाँ एक ओर भारत त्रस्त आ चुका है, वहीँ पाकिस्तान की इन्ही करतूतों से पाकिस्तान के अन्य पडोसी देश भी बेहद परेशान हैं. ख़बरों की ओर देखें तो पता चलता है कि अपने सभी पड़ोसियों के लिए पाकिस्तान अब एक सर दर्द बन चुका है. ऐसे में पाकिस्तान को अब एक बड़ा खटका लगा है, जिसकी चर्चा पाक मीडिया में जोरशोर से की जा रही है.

सुधर जाओ वरना घुसकर मारेंगे

दरअसल जैसे पाकिस्तान भारत के साथ लगी सीमा में आतंकी कैंप चलाता है, वैसे ही वो अफगानिस्तान और ईरान के साथ लगी सीमा में आतंकी गतिविधियां चलाता रहता है. अभी कुछ ही वक़्त पहले ईरान ने पाकिस्तान के सीमावर्ती इलाकों में मोर्टार व् रॉकेटों से हमले भी किये थे, लेकिन पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आया. आतंकी करतूतों से ईरान बेहद परेशान हो चुका है. आलम ये है कि ईरानी सेना ने पाकिस्तान को खुल कर धमकी दे दी है कि वो उसे अफगानिस्तान ना समझे, आतंकी कैंप बंद कर दे वरना ईरान की सेना पाकिस्तान में अंदर घुसकर मारेगी.

सम्बंधित रिपोर्टईरान ने किया पाकिस्तान पर मोर्टार से हमला, कहा आतंक मचा रखा है नामुराद ने !

ईरान की सरकारी न्यूज एजेंसी इरना के मुताबिक ईरानी सेना के प्रमुख मेजर जनरल मोहम्मद बाकरी ने कहा है कि ईरान-पाकिस्तान सीमा पर आतंकी कैंप चल रहे हैं, जहाँ उन्हें ट्रेनिंग दी जाती है. इन आतंकियों की भर्ती सउदी अरब द्वारा की जा रही है और इन्हे अमेरिका का भी समर्थन हासिल है. उन्होंने कहा कि ईरान ये बिलकुल भी बर्दाश्त नहीं करेगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि पाकिस्तानी अधिकारी जिम्मेदारी दिखाते हुए इन ठिकानों को बंद करेंगे, वरना ईरान इन आतंकी ठिकानों को तबाह करेगा.

हमले के बाद दी धमकी

दरअसल पिछले बुधवार को पाकिस्तान-ईरान सीमा के पास के सिस्तान और बलूचिस्तान में सुन्नी आतंकियों ने ईरान की सेना पर हमला कर दिया था, जिसमे ईरान के 10 सीमा सुरक्षाबल मारे गए थे. इस हमले की जिम्मेदारी सुन्नी आतंकी संगठन जैश अल अदल ने ली थी. ख़बरों के मुताबिक़ इस आतंकी संगठन को आईएसआई का संरक्षण मिला हुआ है. ये इस आतंकी का पहला हमा नहीं था, इससे पहले भी जैश अल अदल 2013 और 2015 में ईरान के बॉर्डर गार्ड्स पर हमला कर चुका है.

वहीँ ईरान की धमकी से पाकिस्तान की हालत खराब है. इससे पहले अफगानिस्तान ने भी पाकिस्तान पर आरोप लगाया था कि वो अफगानिस्तान के आतंकियों को सहायता दे रहा है. साथ ही भारतीय सेना भी पाकिस्तानी सेना की बर्बरता का बदला लेने के लिए किसी भी वक़्त हमला कर सकती है. कल भी खबर आयी थी कि भारतीय सेना ने पाकिस्तान पर एंटी-गाइडेड मिसाइलों से हमले करके उसके 7 बनकर तबाह कर दिए थे.

ये बात साफ़ है कि पाकिस्तान पर चारों ओर से दबाव बढ़ता जा रहा है कि या तो वो आतंकी गतिविधियां ख़त्म करे वरना उसकी तबाही निश्चित है.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments