Home > ख़बरें > भारतीय वैज्ञानिकों के इस कारनामे से पूरी दुनिया में मची खलबली, दिग्गज देश भी रह गए भौचक्के

भारतीय वैज्ञानिकों के इस कारनामे से पूरी दुनिया में मची खलबली, दिग्गज देश भी रह गए भौचक्के

नई दिल्ली : एक वक़्त वो भी था जब भारत को सोने की चिड़िया कहा जाता था. जब भारत सबसे बड़ा निर्यात्कार था और अनेक संसाधनों से परिपूर्ण था. लेकिन इसके बाद अनेक देशो की हिंदुस्तान पर बुरी नज़र पड़ी और सब लूट कर ले गए. हम आपको ये इसलिए बता रहे हैं क्यूंकि अभी भारत के वैज्ञानिकों को समुद्र में अरबों के खजाने का पता चला है.


भारतीय वैज्ञानिकों की मेहनत लाई रंग, समुद्र में ढूंढ निकाला ‘अरबों का खजाना’

बड़ी खबर अभी आ रही है कि भारतीय जियोलॉजीकल सर्वे के वैज्ञानिकों ने समुद्र के भीतर बेहद कीमती अरबों के खजाने की खोज की है. ये खजाना लाखों टन के कीमती खनिज आैर धातुआें के रूप में है. लेकिन ये एक दिन में नहीं मिला है इसके लिए हमारे देश के वैज्ञानिकों ने तीन साल जीतोड़ मेहनत करी है तब जा कर कहीं ये सफलता मिली है. भारतीय वैज्ञानिकों का दावा है कि भारतीय प्रायद्वीपों के पानी के नीचे उन्हें लाखों टन के बेहद कीमती खनिज और धातु मिले है.


खनिज आैर धातुआें का बेहद कीमती ‘खजाना’

इसकी खोज साल 2014 से चल रही है जब मंगलुरु, चेन्नई, मन्नार बेसीन, अंडमान और निकोबार द्वीप और लक्षद्वीप के आस-पास इन कीमती धातुओं का पता चला था. इतनी बड़ी मात्रा में वैज्ञानिकों के हाथ लाइम मड, फोसफेट-रिच और हाइड्रोकार्बन्स जैसी चीजें मिली हैं इससे वैज्ञानिकों का अंदेशा है कि पानी के और भीतर उन्हें और बड़ी सफलता भी मिल सकती है.

3 साल के कड़े मेहनत और लगन के प्रयासों की खोज के बाद, जिऑलजिकल सर्वे ऑफ इंडिया ने 181,025 वर्ग किमी का हाई रेजॉल्यूशन सीबेड मोरफोलॉजिकल का डेटा तैयार किया है और 10 हजार मिलियन टन लाइम मड के होने की बात की पुष्टि करी है. वैज्ञानिकों ने ये सुनिश्चित किया है कि मंगलुरु और चेन्नई कोस्ट में बड़ी मात्रा में फास्फेट मौजूद है. वहीं तमिलनाडु के मन्नार बेसीन कोस्ट में गैस हाइड्रैट है. वैज्ञानिकों के मुताबिक अंडमान सागर में मैगनिज और लक्षद्वीप के आसपास माइक्रो-मैगनिज नोड्यूल है. समुद्रों की गहराई में खनिजों पर रिसर्च करने के लिए तीन सबसे आधुनिक अनुसंधान जहाज समुद्र रत्नाकर, समुद्र कौसतुभ और समुद्र सौदीकामा इस पर तेज़ी से काम कर रही है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments