Home > ख़बरें > सुरेश प्रभु का दिल्ली की जनता को सबसे जबरदस्त तोहफा, केजरीवाल भी हो गए नतमस्तक

सुरेश प्रभु का दिल्ली की जनता को सबसे जबरदस्त तोहफा, केजरीवाल भी हो गए नतमस्तक

ro-ro-service-delhi

नई दिल्ली : पिछले काफी वक़्त से देश की राजधानी दिल्ली भयंकर वायु प्रदुषण का सामना करती आ रही है. वायु प्रदुषण को कम करने के लिए कई तरह के उपाय किये गए लेकिन वो कुछ ख़ास असरदार नहीं रहे. इसी के चलते दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने भी दिल्ली में ऑड-इवन की शुरुआत की थी लेकिन वो भी कुछ ख़ास कमाल नहीं दिखा पायी और लोगों को असुविधा भी उठानी पड़ी. लेकिन अब रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने एक ऐसी अनोखी पहल की है जिससे दिल्ली में वायु प्रदूषण भरी कमी आ जायेगी.

रो-रो सेवा के जरिये वायु प्रदुषण से मुक्ति

दरअसल दिल्ली से हर रोज हजारों की तादाद में ट्रक गुजरते हैं, जिनसे काफी वायु प्रदुषण फैलता है. साथ ही दिल्ली की सड़कों पर ट्रैफिक की समस्या भी होती है. लेकिन अब रेलवे द्वारा दिल्ली में वायु प्रदूषण फैलाने वाले ट्रकों को दिल्ली के बॉर्डर से मालगाड़ी पर लादकर दिल्ली पार करा दिया जाएगा. रेलवे की इस पहल को रोल ऑन रोल ऑफ यानि रो-रो के नाम से जाना जाता है.

इस दिशा में 2 मार्च से काम शुरू किया जा चुका है. सबसे पहले ट्रकों को गुरूग्राम के हरसरु रेलवे स्टेशन से उत्तर प्रदेश के मुरादनगर रेलवे स्टेशन पर पहुंचाने का काम शुरू किया गया है. रेलमंत्री सुरेश प्रभु के मुताबिक़ दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण का एक तिहाई हिस्सा दिल्ली से होकर आने-जाने वाले ट्रकों के कारण होता है. रेलवे की रो-रो सेवा के जरिये ना केवल प्रदूषण में भारी कमी आएगी बल्कि ट्रकों को भी दिल्ली बॉर्डर पर लंबी-लंबी लाइनों में इंतज़ार नहीं करना पडेगा.


ट्रकों की पैसों की बचत और रेलवे की कमाई

जल्द ही दिल्ली के आठ अन्य रुटों पर भी इस सेवा को शुरू किया जाने वाला है. इस सेवा के लिए रेलवे ने 2500 रुपये से 3000 रुपये प्रति ट्रक का किराया निश्चित किया है. इस बेमिसाल पहल से सभी को फायदा पहुचेगा. दिल्ली की जनता को वायु प्रदुषण से मुक्ति मिलने के साथ-साथ रेलवे को मालभाड़े से कमाई होगी और ट्रक मालिकों का सबसे ज्यादा फायदा होगा.

रेलवे बोर्ड के मेंबर ट्रैफिक मोहम्मद जमशेद के मुताबिक दिल्ली-एनसीआर से हर रोज लगभग 60000 ट्रक गुजरते हैं. इनमे से लगभग 15000 ट्रक तो दिल्ली से गुजरते हुए अन्य राज्य चले जाते हैं. दिल्ली से गुजरने वाले इन ट्रकों को ग्रीन टैक्स, एमसीडी टैक्स, टोल टैक्स के साथ एनवायरनमेंट कंपनसेशन चार्ज भी नहीं देना पडेगा. साथ ही घंटों लाइन में लगे रहकर वक़्त की बर्बादी भी नहीं होगी. कुल मिलाकर देखा जाए तो सुरेश प्रभु की बदौलत दिल्ली वालों को अब साफ़ हवा में सांस लेने का मौक़ा मिल पायेगा.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments