Home > ख़बरें > इंडियन नेवी ने पनडुब्बी से किया सफल अंडर वाटर मिसाइल का परीक्षण, पल भर में होगी दुश्मन की तबाही

इंडियन नेवी ने पनडुब्बी से किया सफल अंडर वाटर मिसाइल का परीक्षण, पल भर में होगी दुश्मन की तबाही

missile-launch-submarine

नई दिल्ली : पीएम मोदी की अगुवाई में भारत तेज गति से एक विकसित और शक्तिशाली राष्ट्र बनने की राह पर बढ़ा चला जा रहा है. जहां एक ओर भ्रष्टाचार ख़त्म करके देश के विकास की ओर ध्यान दिया जा रहा है वहीँ दूसरी ओर बाहरी दुश्मनों से हरपल देश की रक्षा करने के लिए भारत की सैन्य शक्ति तेजी से बढ़ रही है. आज गुरूवार को भारतीय नौसेना के हाथ एक और बड़ी कामयाबी लगी है जिसकी सबसे ज्यादा चर्चा पाकिस्तानी मीडिया में की जा रही है.


भारतीय नौसेना ने आज कलवरी पनडुब्बी से एक अंडरवाटर मिसाइल का सफलतापूर्वक परिक्षण कर लिया है. सबसे ज्यादा ख़ुशी की बात तो ये रही कि नौसेना ने पहली ही बार में कामयाबी हासिल कर ली. पहली ही बार में मिसाइल सटीक निशाने पर जा कर लगी और निशाने को तबाह कर दिया. नौसेना ने इस मिसाइल प्रक्षेपण को अरब सागर में किया है.

रक्षा मंत्रालय के मुताबिक भारतीय नौसेना के लिए ये एक बड़ी उपलब्धि है कि उन्होंने अपने पहले ही प्रयास में सफलता पूर्वक मिसाइल को लांच करके सटीक निशाने पर हिट कर दिया. मिसाइल को सफलतापूर्वक प्रक्षेपित करना सिर्फ कलवरी पनडुब्बी के लिए ही नहीं, बल्कि भारतीय नौसेना के लिए भी एक मील का पत्थर है. कलवरी पनडुब्बी स्कॉर्पियन क्लास की पनडुब्बी है जिसकी रेंज सामने से 12 हज़ार किलोमीटर और पानी के अंदर एक हज़ार किलोमीटर से ज्यादा है. इन पनडुब्बियों को भारत में ही बनाया गया है.


भारत में ही बनायी जा रही कलवेरी क्लास की सभी 6 पनडुब्बियों को एंटी-शिप मिसाइल तकनीक से भी लैस किया गया है ताकि दूर से खतरे को पहचान कर उसे तबाह किया जा सके. इन पनडुब्बियों को मझगांव डॉक लिमिटेड (एमडीएल) नाम की कंपनी बना रही है जिसके लिए फ्रांस की कंपनी डीसीएनएस उसे सहयोग कर रही है.

आपको बता दें कि हाल ही में भारतीय वायुसेना की ओर से भी ऐसी ही बड़ी खबर आयी थी जिसके मुताबिक़ स्‍पाइडर मिसाइल सिस्टम को भी देश की पश्चिमी सीमा पर तैनात करने की प्रक्रिया प्रारंभ की जा चुकी है. इसके जरिये से दुश्मन की ओर से आने वाली किसी भी लड़ाकू विमान, मिसाइल, जासूसी विमान या ड्रोन का ना केवल भारत को पता चल जाएगा बल्कि ये सिस्टम उसे ट्रैक करके पलभर में नष्ट भी कर देगा. यानी हवा के रास्ते दुश्मन को मुह तोड़ जवाब देने के इंतजाम पर तो काम शुरू हो ही चूका है और अब समुद्र में भी भारत की शक्ति बेहद बढ़ गयी है. समुद्र के रास्ते भारत पर हमला करके वालों की अब खैर नहीं.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments