Home > ख़बरें > अभी अभी : पाकिस्तान से आये एक फ़ोन ने मचा दिया देश भर में हड़कंप, ख़ुफ़िया एजेंसियां आयी एक्शन में

अभी अभी : पाकिस्तान से आये एक फ़ोन ने मचा दिया देश भर में हड़कंप, ख़ुफ़िया एजेंसियां आयी एक्शन में


नयी दिल्ली : इस बात में संदेह नहीं है कि पाकिस्तान कई खतरनाक आतंकवादी संगठनो को अपने देश में पालता पोस्ता है, और आये दिन भारतीय सीमा में घुसाने के अथक प्रयास करता रहता. लेकिन हमारे देश के जवान पाकिस्तान के इन नापाक मंसूबों को विफल करने के लिए हमेशा डटे रहते हैं. इसी सिलिसिले में अभी अभी बेहद चौकाने वाली खबर आ रही है, जिसने ख़ुफ़िया एजेंसियों के होश उड़ा दिए हैं.

पाकिस्तान से कश्मीर आया फोन- हमारे ट्रेंड लड़के दिल्ली में हैं

अभी अभी एएनआई न्यूज़ एजेंसी की खबर के मुताबिक भारतीय ख़ुफ़िया एजेंसियों ने पाकिस्तान से जम्मू-कश्मीर में होने वाली एक फ़ोन कॉल को इंटरसेप्ट किया है. इस बातचीत में पाकिस्तान की ओर से उनके लड़कों (आतंकियों) के दिल्ली समेत कई राज्यों में होने की बात कही जा रही है.

ख़ुफ़िया एजेंसियों ने जो बातचीत इंटरसेप्ट करी है उसमें, आतंकियों के बीच सीमा पर भारतीय सेना की ताबड़तोड़ कार्रवाई और 40 आतंकियों को मौत के घाट उतारने से पाकिस्तान की बौखलाहट साफ सुनाई दे रही है. बातचीत में देश के बड़े शहरों में 26/11 जैसे आतंकी हमले करने की बात कही जा रही है.

पाकिस्तान में पल रहे आतंकियों संगठनों में से ये फोन करने वाला शख्स बोल रहा है कि हमारे ट्रेंड लड़के (आतंकी) दिल्ली समेत भारत के कई शहरों में मौजूद हैं. वह सही वक्त पर हमला करेंगे. उनके पास हथियार पहुंचा दिए गए हैं. ख़बरों की मानें तो गृह मंत्रालय की मीटिंग में यह इनपुट दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल समेत कई एजेंसियों से शेयर कर दिया गया है. जिससे सभी अधिकारी पल पल हर सदिंग्ध पर नज़र बनाये हुए हैं.


फिलहाल इस इनपुट के बाद खुफिया एजेंसियां खासा सतर्क हो गई हैं.स्पेशल सेल दिल्ली में मौजूद जम्मू-कश्मीर के युवकों समेत तमाम संदिग्धों की जांच पड़ताल में जुट गई है. वहीं अन्य राज्यों (जिनका बातचीत में जिक्र किया गया है) में भी ख़ुफ़िया एजेंसियां अपनी नजर बनाए हुए हैं.

26/11 की वो भयानक रात

26/11, यह एक ऐसी तारीख है, जिसे देश कभी नहीं भूलेगा .26 नवंबर 2008 की वो खौफनाक रात… जिसका जिक्र होते ही आज भी लोग डर से सहम जाते है. उस आतंकी हमले में 166 लोगों की मौत हो गई थी और सैकड़ों जख्मी हुए थे. लगभग 57 घंटे तक चले ऑपरेशन के बाद पुलिस ने 10 में से नौ आतंकियों को मार गिराया था, जबकि अजमल कसाब नाम का आतंकी पुलिस के हत्थे चढ़ गया था.

अजमल आमिर कसाब और अबू इस्माइल खान  दोनों सीएसटी पहुंचे और अंधाधुंध गोलियां बरसाने लगे. इन दोनों आतंकियों ने यहां 58 लोगों को मौत के घाट उतार दिया था.
26/11 मुंबई हमले के अकेले ज‌िंदा पकड़े गए गुनहगार अजमल आमिर कसाब को पूरी कानूनी प्रक्रिया के बाद पुणे के यरवदा जेल में फांसी दी गई थी.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

हमारे साथ सीखिए ब्लॉग लिखना और घर बैठे कमाइए पैसे. तीन दिन का कोर्स ज्वाइन करने के लिए 9990166776 पर Whatsapp करें.

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments