Home > ख़बरें > भारतीय सेना के लिए मोदी ने लिया अब तक का सबसे शानदार फैसला, पाकिस्तान-चीन में मची खलबली

भारतीय सेना के लिए मोदी ने लिया अब तक का सबसे शानदार फैसला, पाकिस्तान-चीन में मची खलबली

jet-suite-indian-army

नई दिल्ली : पीएम मोदी की पूरी कोशिश यही रही है कि भारत के सैन्य बल को अधिक से अधिक मजबूत किया जाए ताकि देश की सुरक्षा में कभी कोई बाधा ना आ सके. इसी के साथ जवानों को भी अत्याधुनिक संसाधनों से लैस करने की पूरी कोशिशें सरकार की रही हैं. सैनिकों की क्षमता को कई गुना बढ़ाने के लिए मोदी सरकार ने अब एक अहम् फैसला लिया है, जिससे सेना की शक्लो-सूरत पूरी तरह से बदल जायेगी.


जेटपैक – द फर्स्ट ह्यूमन फ्लाइंग पायलट

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ जल्द ही सैनिक केवल जमीन ही नहीं बल्कि हवा से भी दुश्मनों को धुल छटा सकेंगे. आपने फिल्मों और वीडियो गेम्स में किरदारों को जेटपैक की मदद से हवा में उड़ते हुए और दुश्मनों के छक्के छुड़ाते हुए देखा होगा. जल्द ही भारतीय सेना के जवान भी ऐसे ही जेटपैक की मदद से हवा में उड़ दुश्मनों का नाश करते नज़र आएंगे.

ख़बरों के मुताबिक़ सैनिकों को ऐसे सूट दिए जाएंगे, जिनमे जेटपैक लगे होंगे. इस सूट काे जेटपैक – द फर्स्ट ह्यूमन फ्लाइंग पायलट का नाम दिया गया है और इसे जेपीए, अमेरिका की मदद से बनाया गया है. इस सूट की मदद से जवान युद्ध क्षेत्र में एक जगह से दूसरी जगह उड़ कर जा सकेंगे. जानकारी के मुताबिक़ ये सूट फायर फाइटर, डिफेंस, नेवी और एयरफोर्स के जवानों को मुहैया कराया जाएगा. इसका इस्तमाल प्राकृतिक आपदाओं के दौरान लोगों की जान बचाने के लिए भी किया जाएगा.

जेटपैक से युक्त इस फ्लाइंग सूट के इस्तमाल से सेना के जवान बेहद सरलता से ऊंची-ऊंची व् दुर्गम इलाकों तक भी पहुंच जाएंगे और दुश्मनों पर कहर बरपा देंगे. ये सूट किस तरह काम करेगा, इसका एक वीडियो भी जारी किया गया है. इस वीडियो में एक अमेरिकी जवान को सूट पहनकर उड़ते हुए दिखाया गया है.


आईटीबीपी के जवानों के लिए स्नो स्कूटर

केवल इतना ही नहीं बल्कि ख़बरों के मुताबिक़ बर्फीले इलाकों में देश की सरहदों की रक्षा करने वाले जवानों के लिए भी मोदी सरकार ने बड़ा कदम उठाया है. सेना के आधुनिकीकरण के लिए मोदी सरकार ने हाल ही में 20 हज़ार करोड़ रुपये से ज्यादा की सैन्य डील की है. भारत-चीन सीमा पर तैनात आईटीबीपी के जवानों को बेहद ठन्डे और बर्फीले इलाकों में गश्त लगानी पड़ती है. बर्फ से ढके इलाकों में गश्त लगाने के दौरान सैनिकों को ज्यादा दिक्कत ना हो और वो तेजी से अपनी ड्यूटी कर सकें, इसके लिए सरकार ने विशेष स्नो स्कूटर खऱीदे हैं.

अब तक तो भारत में ऐसे स्नो स्कूटर का इस्तमाल केवल पर्यटन के लिए ही होता था, लेकिन लेकिन अब सेना के जवान भी इनका प्रयोग करेंगे. लद्दाख, उत्तराखंड और सिक्किम में बर्फीले इलाके के इस्तमाल के लिए फिलहाल ऐसे पांच स्कूटर ख़रीदे गए हैं. ये सौदा अमेरिका की एक कंपनी के साथ किया गया है. हर स्कूटर की कीमत लगभग 1 करोड़ रुपये है. ये स्कूटर इतने शक्तिशाली हैं कि इन पर दो जवान अपनी राइफलों और गोला-बारूद के साथ मीलों तक गश्त लगा सकते हैं.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments