Home > ख़बरें > भारतीय सेना ने दिखाया अपना रौद्र रूप, सर्जिकल स्ट्राइक से भी बड़ी सर्जरी शुरू, पाकिस्तान में हाहाकार !

भारतीय सेना ने दिखाया अपना रौद्र रूप, सर्जिकल स्ट्राइक से भी बड़ी सर्जरी शुरू, पाकिस्तान में हाहाकार !

indo-pak-war

नई दिल्ली : “मैं देश नहीं झुकने दूंगा” के नारे के साथ लोकसभा चुनाव जीतने वाले पीएम मोदी ने एक बार फिर 56 इंच के सीने की ताकत को सिद्ध कर दिया. एलओसी पर दो भारतीय जवानों के सिर काटने की घटना पर बदले की कार्रवाई शुरू हो चुकी है. खुली छूट मिलते ही कल रात भारतीय सेना ने पाकिस्तान की उन चौकियों को ध्वस्त कर दिया, जिनसे घुसपैठ के लिए कवर फायर दिया गया था. लेकिन अब जो खबर सामने आ रही है, वो तो और भी ज्यादा हैरतअंगेज है.

अभी तो सिर्फ शुरुआत हुई है !

भारतीय सेना की जवाबी कार्रवाई में कम से कम 25 पाक सैनिकों के मरने की खबर आ रही है. बताया जा रहा है कि ये तो बस अभी शुरुआत भर है, अभी आगे जो होने वाला है वो तो पाकिस्तान को ऐसा दर्द देगा कि आने वाले वक़्त में वो भूलकर भी भारत पर हमला नहीं करेगा. सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत इस समय घाटी में ही मौजूद हैं.

उरी में सेना के कैंप पर हमले के बाद भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक करके आतंकियों को ठिकाने लगाया था लेकिन खबर आ रही है कि इस बार रणनीति अलग है. इस बार पाकिस्तान को और भी बड़ा सबक सिखाने के लिए असली सर्जरी की तैयारी है. सेना को अपने हिसाब से कुछ भी करने की छूट मिली हुई है. सूत्रों के मुताबिक़ इस बार भारतीय सेना जबरदस्त हमले करके एलओसी पर पाकिस्तान को कुछ किलोमीटर अंदर धकेलकर उसे भारतीय इलाके में मिलाने की रणनीति पर काम कर रही है, यानी इस बार के हमले के बाद पाकिस्तान कुछ छोटा हो जाएगा.

बड़ा सबक सिखाने की तैयारी !

अभी दो चौंकियाँ उड़ा कर तो केवल दो सैनिकों की शहादत का बदला भर लिया गया है. सरकारी सूत्रों के मुताबिक सेना को स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि उसे अपनी किसी कार्रवाई के लिए सरकार से इजाज़त लेने की जरूरत नहीं है. वहीँ हाल ही में सेना को ये रिपोर्ट्स भी मिली हैं कि सीमा से लगे ज्यादातर इलाकों में बड़ी तादाद में आतंकी भारत में घुसपैठ के लिए जमा हैं और पाकिस्तानी सेना पर उन्हें बारिश शुरू होने से पहले भारत में घुसाने का दबाव है.

सूत्रों के मुताबिक़ सेना की कोशिश है कि वो एलओसी पर पाकिस्तानी सेना को पीछे धकेल कर वहां की पोस्ट पर कब्जा कर ले. पुंछ की जिस कृष्णा घाटी में कल जवानों पर हमला हुआ था, वो भी कुछ साल पहले तक पाकिस्तान के कब्जे में हुआ करती थी और भारतीय सेना ने पाकिस्तान को पीछे धकेल कर यहां अपना कब्जा जमाया था.

ये भी एक कारण है कि ये सेक्टर पाकिस्तानी फ़ौज की आंखों में खटकता रहता है. अब एक बार फिर भारतीय सेना एलओसी पर पाकिस्तान को अंदर धकलने के मिशन में लग गयी है. ऐसे सेक्टरों में जहाँ पाकिस्तान भौगोलिक स्थिति में काफी कमजोर है, वहां ताबड़तोड़ फायरिंग करके पाकिस्तानी सेना को भागने पर मजबूर किया जा रहा है.

जो सैन्य चौंकियाँ भारतीय सेना के कब्जे में आएँगी, उन्हें किसी भी हालत में लौटाया नहीं जाएगा. सैटेलाइट टेक्नोलॉजी से ऐसे तमाम इलाकों की पहचान की गयी है, जहां पाकिस्तानी जवान व् आतंकियों के लांच पैड हैं. इन सभी जगहों पर सेना ने हमला जारी रखा हुआ है.

स्टैंडबाय पर एयरफोर्स !

वहीँ एयरफोर्स चीफ बीएस धनोआ ने एयरफोर्स को स्टैंडबाय पर रखा हुआ है. एयरफोर्स कमांडोज़ को हर वक़्त चीन और पाकिस्तान के साथ सीधे युद्ध के लिए तैयार रहने के लिए कहा है. सूत्रों के मुताबिक़ मिसाइलों से लैस लड़ाकू विमान रनवे पर तैयार खड़े हैं. एयरफोर्स कमांडोज़ को पाकिस्तान के साथ 10 दिन के युद्ध होने की स्तिथि के लिए तैयार रहने के लिए कहा गया है. चीन यदि पाकिस्तान का साथ देने के लिए भारत पर हमला करता है तो चीन से निपटने के लिए भी एयरफोर्स को तैयार रहने के लिए कहा गया है.

कुल मिलाकर कहा जा रहा है कि इस बार भारतीय सेना ने ठान लिया है कि पाकिस्तान को पीछे धकेल कर उसकी जमीन पर कब्जा किया जाए, ताकि बार-बार लगातार हर रोज सीजफायर का उलंघन और आतंकी घुसपैठ का ये अंतहीन सा दिखने वाला सिलसिला ख़त्म हो और पाकिस्तान को याद रहे कि यदि उसने सीजफायर का उलंघन किया तो अपनी कई अन्य पोस्ट्स से भी हाथ धो बैठेगा.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments