Home > ख़बरें > पाकिस्तान के खिलाफ एक्शन में आयी भारतीय सेना ने लिया बड़ा फैसला, पाक फ़ौज के उड़े होश !

पाकिस्तान के खिलाफ एक्शन में आयी भारतीय सेना ने लिया बड़ा फैसला, पाक फ़ौज के उड़े होश !

indian-army-pakistan

नई दिल्ली : डोकलाम मुद्दे पर चीन को पीछे कर चुकी भारतीय सेना अब पाकिस्तान को नापने के मूड में आ गयी है. अमेरिका ने पाकिस्तान के खिलाफ हल्ला-बोल तो पहले ही किया हुआ है. अब भारतीय सेना कभी भी पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक कर सकती है. ऐसा कहना है भारतीय सेना के एक प्रमुख अफसर का. भारतीय सेना ने पाकिस्तान को अंतिम चेतावनी दी है कि यदि उसने सीजफायर उल्लंघन और आतंकवादियों की घुसपैठ बंद नहीं की तो अबकी बार और बड़ी सर्जिकल स्ट्राइक की जायेगी.

फिर करेंगे सर्जिकल स्ट्राइक !

उत्तरी कमांड के जनरल ऑफिसर कमांडर इन चार्ज (जीओसी) लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अन्बू ने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा है कि पाकिस्तान यदि अपनी गलती दोहराने से बाज नहीं आया तो भारत के पास दोबारा सर्जिकल स्ट्राइक करने के अलावा कोई और चारा नहीं रह जाएगा.

उधमपुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अन्बू ने कहा कि सर्जिकल स्ट्राइक के जरिए हमने पाकिस्तान को दिखाया कि भारतीय सेना जब चाहे तब एनओसी पार करने में सक्षम हैं. जरूरत पड़ी तो हम उस पार जाएंगे और हमला भी करेंगे. वहीँ इस मामले में डिफेन्स एक्सपर्ट मेजर गौरव आर्य का कहना है कि असली समस्या रावलपिंडी में है, वहां जाकर सफाया करना जरूरी है.

लगातार बढ़ रहे हैं सीजफायर उल्लंघन के मामले !

कुछ दिन पहले ही पाक सेना ने नौशेरा सेक्टर में सीजफायर का उल्लंघन करके अंधाधुंध फायरिंग की थी और मोर्टार भी दागे थे. इसके बाद भारतीय सेना ने भी पाक सेना को मुंहतोड़ जवाब दिया था. ऐसे में आतंकी घुसपैठ और सीजफायर उल्लंघन के मामलों में कमी न आने को लेकर भारत के प्रमुख सैन्य अफसर ने पड़ोसी मुल्क को चेतावनी दी है.

सैकड़ों आतंकी घुसपैठ के लिए तैयार !

लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अन्बू ने ये भी बताया कि 475 आतंकवादी बॉर्डर के पास घुसपैठ करने की तैयारी में लगे हुए हैं. उत्तरी कश्मीर की एलओसी सीमा की ओर से 250 और जम्मू क्षेत्र के पीर पंजाल की तरफ से 225 आतंकवादी सीमा पार करने की फ‍िराक में हैं.


पिछले साल उरी हमले के बाद सितंबर महीने में भारतीय सेना ने पीओके में घुसकर कम से कम सात आतंकवादी कैंपों पर सर्जिकल स्ट्राइक की थी, जिसमे 50 से ज्यादा आतंकी ख़ाक हो गए थे. सैटेलाइट के जरिए मिली तस्वीरों से भी इसका खुलासा हुआ था. भारतीय सेना द्वारा एलओसी के पार आतंकी ठिकानों पर किए गए सर्जिकल स्ट्राइक में पाकिस्तान समर्थित आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा को भारी नुकसान पहुंचा था.

कौन हैं देवराज अन्बू !

लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अन्बू के पास सेना की उत्तरी कमांड की जिम्मेदारी है. उन्होंने रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा का स्थान लिया है, जो 30 नवंबर 2016 को रिटायर हो गए थे. अन्बू ने 1 द‍िसंबर से रणनीतिक तौर पर सबसे अहम इस कमांड का चार्ज लिया था.

उनके मुताबिक़ पाकिस्तान पर एक और सर्जिकल स्ट्राइक बेहद जरूरी हो चुका है. पीर पंजाल के दक्षिण और उत्तर क्षेत्र में बड़े पैमाने पर आतंकी कैंप और लॉन्च पैड मौजूद हैं. भारतीय सेना की सतर्कता के चलते घुसपैठ काबू में तो है लेकिन बॉर्डर पर आतकियों की संख्या बढ़ने लगी है. पाकिस्तान को वक़्त-वक़्त पर सर्जिकल स्ट्राइक की दोसे देना जरूरी हो गया है.

लेफ्टिनेंट जनरल देवराज अन्बू ने यह भी बताया कि पिछले साल सितंबर में एलओसी पार करके सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम देने वाले आठ सैनिकों को उत्तरी कमांड में शौर्य चक्र और सेना मेडल से नवाजा गया. वहीं क्षेत्र में शांति कायम करने का भरोसा देते हुए जनरल ने कहा कि लेह में हालात नियंत्रण में हैं और विवाद को सुलझा लिया गया है. उन्होंने कहा, ‘पूर्वी लद्दाख को लेकर चर्चा करने के लिए एक हॉटलाइन मौजूद है और बैठक भी हो रही है, इसलिए डोकलाम जैसे हालात नहीं होंगे.’


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments