Home > ख़बरें > अभी अभी : भारतीय सेना को मिली बड़ी कामयाबी, हिज़्बुल के दो मॉड्यूल पर सेना की सर्जिकल स्ट्राइक

अभी अभी : भारतीय सेना को मिली बड़ी कामयाबी, हिज़्बुल के दो मॉड्यूल पर सेना की सर्जिकल स्ट्राइक

श्रीनगर : जम्मू कश्मीर में लगातार संघर्ष विराम के उल्लंघन का मुँहतोड़ जवाब दे रही है भारतीय सेना. मोदी सरकार ने जब से खुली छूट दी है तब से सेना और ज्यादा चाक चौबंद हो कर ढूंढ-ढूंढ कर आतंकवादियों को उनके अंजाम तक पंहुचा रही है. भारतीय सेना ने घाटी से आतंकवाद को पूरी तरह से ख़त्म करने के लिए कमर कस ली है, उसी का का नतीजा है कि पिछले 10 दिन से 25 से ज़्यादा घुसपैठ नाकाम की गयी हैं और 40 आतंकवादियों को मार गिराया गया है तो कुछ आत्मसमर्पण करने लगे हैं. लेकिन इस बार तो भारतीय सेना ने कमाल ही कर दिया. सेना के हाथ हिज़्बुल मुजाहिद्दीन संगठन कि गर्दन तक पहुंच गए हैं.


भारतीय सेना ने किया हिज़्बुल आतंकवादी संगठन का मॉडल साफ़

ताज़ा ख़बरों के मुताबिक सोमवार को भारतीय सेना के हाथ बड़ी कामयाबी लगी है. भारतीय सेना ने हिज्बुल के एक मॉड्यूल का पर्दाफाश किया है और उत्तर कश्मीर के हंडवाड़ा से मुजाहिद्दीन के दो बड़े आतंकवादी को ज़िंदा पकड़ लिया गया, साथ ही उसके 4 गुर्गे भी गिरफ्तार कर लिए हैं. पुलिस प्रवक्ता की सूचना के मुताबिक पुलिस और सेना की खास रेजिमेंट 21 राष्ट्रिय राइफल्स ने हंदवाड़ा के बड़े हिस्से की घेराबंदी कर दी, जिसमें मेहराजुदीन और ओबैद शफी मल्ला के रूप में पहचान किये गये दो व्यक्तियों को संदिग्ध हालात में घूमते हुये पकड़ लिया गया. पुलिस प्रवक्ता ने बताया “दोनों सदिंग्ध को रुकने के लिए कहा गया, लेकिन सेना को देखते ही उन्होंने भागना शुरू कर दिया, सेना को शक हुआ और उन्होंने घेरकर उन्हें तुरंत पकड़ लिया”. तलाशी के बाद इनके पास से भारी मात्रा में घातक हथियार और गोला-बारूद बरामद किया गया.


भारी मात्रा में गोला बारूद बरामद, बढ़ रहा है सेना का खौफ

सख्ती से पूछताछ करने पर इन्होने अपने खतरनाक मंसूबे बताते चले गए. दोनों आतंकवादियों ने खुलासा किया कि वे दक्षिण कश्मीर में अपने आतंकी संगठन हिज़्बुल के लिए हथियार, गोला बारूद और अन्य सामग्री लेकर हंदवाड़ा से आ रहे थे. उनका कहना था कि दक्षिण कश्मीर की तरह ही अब उत्तरी कश्मीर में भी आतंकवाद को फैलाना है उसके लिए लोगों को भर्ती शुरू हो गयी है.

पुलिस प्रवक्ता ने बताया “जम्मू कश्मीर पुलिस की साइबर निगरानी इकाई ने उनके सोशल नेटवर्क एकाउंट का भी पता लगा लिया और इसमें कई और बड़े आतंकी और आपत्तिजनक बातें दिखाई पड़ी हैं. वे आतंकवादी साजिश करने और उसे अमल में लाने के लिये वेब चैट का गलत इस्तेमाल कर रहे थे”.मेहराज और उबैद ने पूछताछ पर बताया कि दक्षिण कश्मीर में जिस तरह से सुरक्षाबलों का दबाव लगातार बढ़ रहा है, उससे सरहद पार बैठे कमांडर परेशान हैं.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments