Home > ख़बरें > पीएम मोदी ने भारतीय सेना के साथ बनाया खतरनाक प्लान, आतंकियों समेत पाक फ़ौज में मचा हड़कंप

पीएम मोदी ने भारतीय सेना के साथ बनाया खतरनाक प्लान, आतंकियों समेत पाक फ़ौज में मचा हड़कंप

नई दिल्ली : मोदी सरकार में दिन पर दिन सेना मज़बूत होती जा रही है. जैसे थल सेना को अब ‘मेक इन इंडिया’ योजना के तहत आधुनिक आटोमेटिक राइफल,बुलेटप्रूफ जैकेट ओर वाहन दिया जाना. आधुनिक राइफल जिसकी अभी युद्ध अभ्यास में अमेरिकी सैनिकों भी तारीफ करी थी. साथ ही कश्मीर में 18 साल बाद “ऑपरेशन कासों” की इजाज़त देना. तो अब एक बार फिर सरकार ने वायु सेना को वो खतरनाक हथियार देने जा रहे हैं जिसकी गर्जना स एही दुश्मन काँप उठेगा.


भारतीय वायुसेना को मोदी सरकार देगी ज़बरदस्त तोहफा

अभी मिल रही खबर अनुसार मोदी सरकार थल सेना के साथ-साथ वायु सेना को भी मजबूत करने में लगी हुई है. इसी कड़ी में इंडियन एयरफोर्स को अमेरिकी F-16 और स्वीडिश Saab फाइटर प्लेन जल्द देने की योजना पर तेज़ी से काम किया जा रहा है. इस प्रोजेक्ट के लिए दरखास्त (रिक्वेस्ट ऑफ इन्फॉर्मेशन-RFI) इसी महीने भेजी जाएगी. एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने कहा भारत को इस बार जो फाइटर प्लेन्स मिलेंगे, वे 2007 के मीडियम मल्टी रोल कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (MMRCA) से कई गुना बेहतर होंगे.

सर्जिकल स्ट्राइक करने में होगी आसानी

बीएस धनोआ ने कहा कि आरएफआई को अक्टूबर में ही भेजा जाएगा.भारत को पहले 18 फाइटर मिलेंगे। इसके बाद बाकी बचे 96 एयरक्राफ्ट पीएम नरेंद्र मोदी के मेक इन इंडिया योजना के तहत बनाए जाएंगे. इसके बाद भारतीय वायुसेना दुनिया के उन दिग्गज देशों में शामिल हो जाएगी. जो दुश्मन का पल भर में बिना पता चले ही सफाया कर सके.

गौरतलब है कि भारतीय वायु सेना को सोवियत संघ से मिले पुराने पड़ चुके लड़ाकू विमानों की जगह सैकड़ों नए विमानों की जरूरत है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यह साफ किया है कि विदेशी कंपनियां यदि लड़ाकू विमानों की आपूर्ति करना चाहती हैं तो उन्हें ‘मेक इन इंडिया’ करना होगा, यानी भारत में किसी पार्टनर के साथ मिलकर यहीं निर्माण करना होगा.


अब दूसरे देशो को बेचेगा भारत

दोनों कंपनियों द्वारा जारी संयुक्त बयान में कहा गया है, ‘भारत में F-16 के उत्पादन से अमेरिका में लॉकहीड मार्टिन और F-16 सप्लायर्स की तमाम नौकरियों को सपोर्ट मिलेगा. इससे भारत में भी नई नौकरियां पैदा होंगी.’ कंपनी भारतीय प्लांट से विमान बनाकर दूसरे देशों को निर्यात भी कर सकती है.

 

कांग्रेस ने सेना को कर दिया था कमज़ोर

पिछली कांग्रेस सरकार अब चुनाव में बेशक फिर से वादों की गठरी लेकर आ गयी हो लेकिन पिछले दस साल के कार्यकाल में कांग्रेस ने देश को सिर्फ बदनाम ओर घोटाले ही दिए. जिसमें सेना को बोफोर्स टॉप का घोटाला हो, ऑगस्टा वेस्टलैंड हेलीकॉप्टर घोटाला हो या रफाएल लड़ाकू जेट का घोटाला हो. देश किस ऐना को मज़बूत बनाने के बजाय सिर्फ अपनी तिजोरियां भरी गयी. लेकिन अब सरकार ओर वक़्त दोनों बदल गया है.

‘मेक इन इंडिया’ योजना से मिल रही बड़ी सफलता

आपको बता दें कि F-16 अमेरिका की लॉकहीड मार्टिन कंपनी बनाती है. लॉकहीड ने टाटा एडवांस्ड सिस्टम्स लिमिटेड और Saab ने अडानी ग्रुप के साथ करार किया है. F-16, Saab में से एक या दोनों का सिलेक्शन टेक्नीकल पैरामीटर्स के आधार पर किया जाएगा. इसके बाद रक्षा मंत्रालय तय करेगा कि ट्रांसफर ऑफ टेक्नोलॉजी किस रूप में किया जाएगा.

तो वहीँ अब मोदी सरकार में खुल के भारतीय जल सेना अपनी मांग रख रही है. जिसके बाद दुनिया की सबसे बड़ी एयरक्राफ्ट कंपनी बोइंग भारत की तीनों सेनाओं को अपने लेटेस्ट फाइटर जेट F/A 18 सुपर हॉर्नेट देना चाहती है. कंपनी ने मोदी सरकार से कहा कि अगर उसे ये कॉन्ट्रैक्ट दिया जाता है तो वो देश में अपनी प्रोडक्शन यूनिट भी लगाने को तैयार है. बता दें कि भारतीय नेवी 57 मल्टी रोल कैरियर फाइटर खरीदना चाहती है. बोइंग का कहना है कि सुपर हॉर्नेट इंडियन नेवी के लिए आइडियल फाइटर जेट साबित होगा.


यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments