Home > ख़बरें > भारतीय वायुसेना की ओर से आयी ये खबर पढ़कर आपकी आँखें फटी रह जाएंगी, मोदी-मोदी करने लगेंगे आप

भारतीय वायुसेना की ओर से आयी ये खबर पढ़कर आपकी आँखें फटी रह जाएंगी, मोदी-मोदी करने लगेंगे आप

spyder-israel-indian-air-force

नई दिल्‍ली : 2014 के लोकसभा चुनाव से पहले नरेंद्र मोदी ने देश की जनता से एक बड़ा वादा किया था, वो वादा था, “मैं देश नहीं झुकने दूंगा” का. अब जो खबर आ रही है उसके मुताबिक़ प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी ने अपने उसी वायदे को पूरा करने की दिशा में एक बेहद अहम् कदम उठाया है.

गौरतलब है कि पाकिस्तान की और से भारत को सदा ही ख़तरा रहा है. पाकिस्तान कई बार भारत पर हमला कर चुका है हालांकि हर बार उसे मुह की खानी पड़ी है. अटल बिहारी वाजपेयी जब प्रधानमन्त्री थे उस वक़ भी पाकिस्तान ने कारगिल पर हमला कर दिया था जिसका जवाब सेना ने बेहद साहसिक तरीके से देते हुए युद्ध जीत भी लिया था. पाकिस्तान के ऐसे ही खतरों से निपटने के लिए भारत पूरी तैयारियों में जुटा है.

इसी के चलते भारतीय वायु सेना अगले कुछ हफ्तों में पश्चिमी सीमाओं पर स्‍पाइडर इजरायल एयर मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम को तैनात करने जा रही है. ये सिस्टम इतना ख़ास इसलिए है क्योंकि इसकी तैनाती के बाद पाकिस्तान की ओर से आने वाले किसी भी हवाई खतरे को ट्रैक करके ये सिस्टम पलभर में उसे तबाह कर देगा.

रक्षा मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक़ स्‍पाइडर मिसाइल सिस्टम को देश की पश्चिमी सीमा पर तैनात करने की प्रक्रिया प्रारंभ की जा चुकी है. स्‍पाइडर यानी सरफेज टू एयर पायथन और डर्बी एक लो लेवल-क्विक रिएक्‍शन मिसाइल है जो दुश्मन की ओर से आने वाली किसी भी लड़ाकू विमान, मिसाइल, जासूसी विमान या ड्रोन का पता लगा कर पल भर में उसे तबाह कर देगी.

सतह से हवा में मार करने में सक्षम स्‍पाइडर 15 किलोमीटर के अंदर और 20 मीटर से 9000 मीटर ऊंचाई के बीच दुश्मन के निशाने को क्षणभर में तबाह कर सकता है. भारतीय वायसेना इस सिस्टम में आकाश मिसाइल का प्रयोग करेगी जोकि जमीन से हवा में मार कर सकने वाली मिसाइल है और इसकी रेंज भी 25 किलोमीटर है, इसके साथ होगा डर्बी जोकि एक एक्टिव रडार है. सिस्टम में रडार के जरिये से दुश्मन की मिसाइल का पता लगा कर आकाश मिसाइल पलभर में उसे बर्बाद कर देगी.

वैसे तो ये सैन्य सौदा भारतीय वायु सेना ने 2008 में ही कर लिया था और सौदा होने के तीन-चार महीनों के अंदर-अंदर सप्लाई होनी भी शुरू हो गयी थी लेकिन इस सिस्‍टम को ढो कर ले जाने के लिए चेक गणराज्‍य में बने टैट्रा ट्रकों की जरुरत थी. उस वक़्त देश में कांग्रेस सरकार थी और टैट्रा ट्रकों की खरीद में दलाली के आरोप लगे थे जिस कारण इन्हें खरीदने में देर हुई. लेकिन अब पीएम मोदी की ईमानदार सरकार के चलते भ्रष्टाचार होना नामुमकिन हो गया है तो देर होने का कोई सवाल ही नहीं उठता.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments