Home > ख़बरें > अभी-अभी : भारतीय वायुसेना ने दिखाया अपना रौद्र रूप, अपने एटमी ठिकानों को बचाने भागा पाकिस्तान

अभी-अभी : भारतीय वायुसेना ने दिखाया अपना रौद्र रूप, अपने एटमी ठिकानों को बचाने भागा पाकिस्तान

indian-air-force-attack-pak-nuclear-bases

नई दिल्ली : पीएम मोदी के आने के बाद से देश की तीनों सेनाओं के आत्म विश्वास में गजब की वृद्धि हुई है. भारतीय सेना तो कश्मीर और बॉर्डर पर दुश्मनों को ठोक ही रही है, मगर अब भारतीय वायुसेना भी एक्शन में आ गयी है. एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने ऐसी घोषणा कर दी है, जिसे सुनकर देश के दुश्मनों की रूह काँप उठी है. पाकिस्तान में सबसे ज्यादा खलबली मची हुई है और पाक फ़ौज की सिट्टी-पिट्टी गुम हो गयी है.


पाक के एटमी ठिकानों को तबाह कर देंगे

एयर चीफ मार्शल बीएस धनोआ ने दुश्मनों को चेतावनी देते हुए कहा है कि भारतीय वायुसेना हर स्थिति से निपटने के लिए सक्षम हैं. धनोआ ने कहा कि पाकिस्तान के न्यूक्लियर ठिकानों को तबाह करने में भी वायुसेना सक्षम है. भारतीय वायुसेना कि चीन और पाकिस्तान को तबाह करने में ज्यादा देर नहीं लगेगी.

उन्होंने कहा कि यदि सरकार फैसला ले तो वायुसेना भी अगली सर्जिकल स्ट्राइक में शामिल होगी. यानी केवल पीओके में ही नहीं बल्कि इस्लामाबाद और लाहौर तक में छिपे आतंकियों को मार कर ही वापस आएगी. एयर चीफ मार्शल ने आगे कहा कि यदि दो फ्रंट पर लड़ाई होती है, यानी यदि पाकिस्तान और चीन के साथ एक-साथ लड़ना पड़ा तो हमें 42 स्क्वाड्रन की जरूरत होगी. हमारे पास प्लान B तैयार है.


औकात में रहे चीन, वरना…

उन्होंने कहा कि गर्मियों में चीनी सेना ऑप्रेशन के लिए तैयार रहती और जैसे ही सर्दी आती है वो पीछे हटने लगती है लेकिन हमारी वायुसेना शॉर्ट नोटिस पर भी युद्ध के लिए पूरी तरह से तैयार है. उन्होंने कहा शांति के बीच भी गोलाबारी होती है और हमारे जवान शहीद हो रहे हैं. हमारे पास भले ही फाइटर जेट्स कम हैं लेकिन हम किसी भी तरह के टास्क को पूरा करने में सक्षम हैं.

धनोआ ने हाल ही में म्यांमार में किये गए सेना के ऑपरेशन को लेकर कहा कि उस ऑपरेशन में भारतीय वायुसेना का कोई रोल नहीं था, क्योंकि हमें म्यांमार की ओर से किसी एक्शन की उम्मीद नहीं थी. दरअसल म्यांमार तो भारत का मित्र देश है और वो खुद भी आतंकियों से त्रस्त है. पाकिस्तान भले आतंकियों को पालता है और उन्हें संरक्षण देता है मगर म्यांमार ऐसा नहीं है. ऐसे में भारतीय सेना के लिए बॉर्डर क्रॉस करके म्यांमार में छिपे उग्रवादियों को मार गिराना उतना मुश्किल नहीं. म्यांमार सेना उग्रबादियों की कोई सहायता नहीं करती.

बहरहाल जबसे धनोआ ने पाकिस्तान के न्यूक्लीयर ठिकाने तबाह करने की चेतावनी दी है, तबसे पाक फ़ौज में हड़कंप मचा हुआ है. पाक मीडिया भी भारतीय वायुसेना की ओर से आये इस बयान से हैरान है. आने वाले दिनों में भारत की ओर से ऐसी सर्जिकल स्ट्राइक देखने को मिल सकती है, जिसमे वायुसेना भी भाग लेगी और पाकिस्तान में बारूद की ऐसी बारिश करेगी, जिसे पाकिस्तान बरसों याद रखेगा.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments