Home > ख़बरें > ब्रेकिंग – लालू यादव पर चला मोदी का हंटर, बिलबिला उठे नितीश, देश की सियासत में आया भूचाल

ब्रेकिंग – लालू यादव पर चला मोदी का हंटर, बिलबिला उठे नितीश, देश की सियासत में आया भूचाल

lalu-prasad-yadav-modi

नई दिल्ली : पीएम मोदी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ जंग छेड़ी हुई है. नोटेबंदी के बाद से ही जांच एजेंसियों को सख्त निर्देश दिए गए कि किसी भी भ्रष्टाचारी को बक्शा ना जाए. जिसके बाद सीबीआई, आयकर विभाग और ईडी अब तक हजारों छापे मार चुके हैं. इसी सिलसिले में अब एक ऐसी जबरदस्त खबर सामने आयी है, जिससे राजनीति गरमा गयी है.

लालू से जुड़े 22 ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी

खबर आयी है कि मंगलवार सुबह आयकर विभाग ने चारा चोर के नाम से मशहूर बिहार की आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव के 22 ठिकानों पर एकसाथ छापेमारी की है. ये छापेमारी बेनामी संपत्ति के मामले में की गयी है. ख़बरों के मुताबिक़ अचानक सुबह 8.30 बजे आयकर विभाग की टीमें लालू के 22 ठिकानों पर पहुंच गयी और छापेमारी शुरू की गयी.

आयकर विभाग ने दिल्ली, गुड़गांव के इलाकों में छापेमारी की है, इस दौरान तकरीबन 1000 करोड़ की संपत्ति पर छापेमारी की गई है. कटियार फैमिली, कोचर फैमिली और सांसद प्रेमचंद गुप्ता के बेटों के यहां भी आयकर विभाग ने छापे मारे. बड़े पैमाने पर की जा रही छापेमारी से देश की राजनीति गरमा गयी है और नेताओं ने बयानबाजी शुरू कर दी है.

नीतीश ये ना कहें कि बदले की भावना से हुई छापेमारी

बिहार बीजेपी अध्यक्ष सुशील मोदी ने कहा कि उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस करके लालू की बेनामी संपत्ति मामले को उजागर किया था. उन्होंने कोई दस्तावेज नहीं सौंपे थे. उन्होंने इस मामले में प्रेमचंद गुप्ता, लालू यादव समेत आधे दर्जन अन्य नेताओं का नाम भी लिया था. उन्होंने छापेमारी के लिए अपील की थी. सुशील मोदी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि नितीश कुमार इसे बदले की भावना से उठाया हुआ कदम नहीं कहेंगे. साथ ही सुशील मोदी ने ये भी बताया कि उन्हें नहीं पता है कि आयकर विभाग किस आधार पर यह छापेमारी कर रहा है.

बेटी-दामाद के ठिकानों पर भी छापेमारी

लालू यादव के बेनामी संपत्ति के मामले में आयकर विभाग ने जो ये छापेमारी की है, इसमें लालू की बेटी मीसा और दामाद के ठिकानों पर भी छापे मारे गए हैं. इसके अलावा लालू के सहयोगी पीसी गुप्ता के करीबियों के ठिकानों पर भी छापे मारे गए हैं.


दिल्ली और गुरूग्राम में जिन 22 ठिकानों पर छापे मारे जा रहे हैं, उनमे कई कंपनियां व् अन्य लोगों के ठिकाने शामिल हैं. बता दें कि लालू यादव की बड़ी बेटी मीसा भारती ने दिल्ली के इन्दिरा गांधी हवाई अड्डे के नज़दीक एक फ़ार्म हाउस 1 करोड़ 41 लाख रूपये में खरीदा है, हालांकि उसकी मार्केट वैल्यू 100 करोड़ के करीब है. शेयर खरीदने और बेचने की आड़ में खरीदी गई इस प्रॉपर्टी के बारे में पता चलते ही विभाग के कान खड़े हो गए थे.

मीसा ने जिस पैसे से फार्म हाऊस खरीदा वो पैसा दिल्ली के 2 एंट्री ऑपरेटरों की कंपनी से आया था, एस.के. जैन और वी.के. जैन नाम के दोनों एंट्री आपरेटर को ईडी गिरफ्तार कर चुकी है और उन्होंने काफी कुछ कबूला भी है.

मनी लॉन्ड्रिंग यानी हवाला के धंधे में लिप्त है लालू परिवार

लालू और उसके परिवार के लोग कितने बड़े धांध्लेबाज है, ये बात इसी से पता चलती है कि पहले तो लालू की बेटी ने लालू के सरकारी बंगले 25 तुगलक रोड के पते पर एक कम्पनी रजिस्टर्ड कराई. मिशेल पैकर्स एंड प्रिन्टर्स नाम की इस कंपनी में मीसा और उसका पति निदेशक थे, 2006 में ये कम्पनी बंद हो गयी और इसका प्लांट और मशीनें बेच दी गयी.

मीसा की इसी कम्पनी ने 100 करोड़ की कीमत का फ़ार्म हाउस 1 करोड़ 41 लाख रूपये में खरीदा. इस फ़ार्म हाउस की रक़म का इंतजाम करने के लिए कम्पनी के 1 लाख 20 हज़ार शेयर बेच दिए गए. हालांकि इन शेयरों की कीमत तो केवल 10 रुपये प्रति शेयर थी लेकिन वी.के.जैन और एस.के.जैन ने इन शेयरों को 90 रुपये प्रति शेयर की दर से खरीद लिया. इसी पैसे से फ़ार्म हाउस खरीदा गया.

आश्चर्य की बात ये है कि फ़ार्म हाउस खरीदने के लिए मीसा ने 10 रुपये कीमत के जो शेयर 2008 में 90 रुपये प्रति शेयर की दर से बेचे थे. उन्ही शेयरों को उसने 2009 में एक या दो रूपये प्रति शेयर की दर से फिर से खरीद लिया. इसे कहते हैं हवाला के जरिये से कालेधन को सफ़ेद कर लेना. इसके बाद से ही लालू परिवार जांच एजेंसियों के रडार पर था.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments