Home > ख़बरें > केजरीवाल सरकार के खिलाफ आयकर विभाग की सबसे बड़ी कार्यवाही, आम आदमी पार्टी में हाहाकार

केजरीवाल सरकार के खिलाफ आयकर विभाग की सबसे बड़ी कार्यवाही, आम आदमी पार्टी में हाहाकार

satyendra-jain-property-seized

नई दिल्ली : पीएम मोदी का मानना है कि देश से कालेधन और बेनामी संपत्ति को ख़त्म किये बिना देश का भला नहीं हो सकता. इसीलिए देश से कालेधन और बेनामी संपत्ति के खात्मे के लिए उन्होंने बाकायदा एक मिशन चलाया हुआ है. अब इसी सिलसिले में एक बेहद हैरतअंगेज खबर निकल कर सामने आ रही है जिससे राजनीति में हड़कंप मचा हुआ है.


केजरीवाल के मंत्री की 33 करोड़ की बेनामी संपत्ति जब्त !

कालेधन के खात्मे के लिए एक ओर तो देश में नए-नए नियम-क़ानून बनाये जा रहे हैं वहीँ दूसरी ओर जांच एजेंसिया तेजी से कालाबाजारियों के पीछे लगी हुई हैं. कालाधन चाहे किसी के पास हो उसे बक्शा नहीं जा रहा है फिर चाहे वो किसी राजनीतिक पार्टी का ही कोई नेता क्यों ना हो. खबर आयी है की बेनामी संपत्ति के मामले में अब दिल्ली सरकार के एक मंत्री को बड़ा झटका लगा है.

आयकर विभाग ने दिल्ली में 100 बीघा से भी अधिक जमीन और कई कंपनियों के शेयरों को जब्त कर लिया है. सबसे ज्यादा हैरानी की बात तो ये है कि इस बेनामी संपत्ति को कथित तौर पर दिल्ली की केजरीवाल सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन से संबंधित बताया जा रहा है. इस खबर से देश कि राजनीति में भूचाल आया हुआ है क्योंकि जैसा की सभी जानते हैं कि केजरीवाल राजनीति की शुरुआत से ही खुद को और अपनी पार्टी को बेहद ईमानदार घोषित करते आये हैं.

अलग तरह कि राजनीति के दावे?

केजरीवाल के मुताबिक़ वो बिना आतंरिक जांच करे अपनी पार्टी में किसी को भी टिकेट नहीं देते हैं. ऐसे में उनकी पार्टी के नेता का नाम कालेधन से जुड़े मामलों में आना उनकी खुद की प्रतिष्ठा के लिए भी घातक है. खबर आयी है कि आयकर विभाग के अधिकारियों ने बेनामी संपत्ति के खिलाफ बनाए गए कानून के तहत इस बड़ी कार्यवाही को अंजाम दिया है.

सूत्रों के मुताबिक़ जिस जमीन को आयकर विभाग ने जब्त किया है उसकी कीमत तकरीबन 17 करोड़ रुपए है और जब्त किये गए शेयरों की कीमत लगभग 16 करोड़ रुपए है. आयकर विभाग ने 27 फरवरी को इस सिलसिले में 4 कंपनियों को नोटिस भी जारी किया था.


आपराधिक साजिश और भ्रष्टाचार के भी आरोप

आपको बता दें कि केजरीवाल के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन के खिलाफ और भी कई मामलों में जांच की जा रही है. अभी कुछ ही वक़्त पहले भी सीबीआई ने सत्येंद्र जैन के दफ्तर पर छापा मारा था. उनपर आरोप है कि ‘चाचा नेहरु बाल चिकित्सालय’ के सीनियर रेजिडेंट निकुंज अग्रवाल की OSD पद पर नियुक्ति के लिए सभी नियमों का उल्लंघन किया गया.

इसके अलावा अघोषित आय के मामले में भी आयकर विभाग सत्येंद्र जैन के खिलाफ जांच कर रहा है. आयकर विभाग जिवेंद्र मिश्रा, अभिषेक चोखानी और राजेंद्र बंसल के साथ सत्येंद्र जैन के संबंधों की भी जांच कर रहा है. इन तीनों पर भी कोलकाता में टैक्स चोरी के आरोप हैं.

हवाला मामले में भी जांच

कुछ ही वक़्त पहले आयकर विभाग ने जब कोलकाता में छापेमारी की थी तब वहां से बरामद हुए दस्तावेजों का सत्येंद्र जैन से कनेक्शन पाया गया था. जिसके बाद आयकर विभाग ने मंत्री जी को दो नोटिस भी भेजे थे. रिपोर्ट्स के मुताबिक़ आयकर विभाग के पास पुख्ता सबूत हैं कि सत्येंद्र जैन के हवाला कारोबियों से भी सम्बन्ध हैं.

दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल तो पहले ही अपने मंत्रियों पर लगने आरोपों को झूठा बताते आये हैं और उन्हें फ़साने के लिए पीएम मोदी को जिम्मेदार ठहराते आये हैं. ऐसे में अब माना जा रहा है कि एक बार फिर केजरीवाल पीएम मोदी के खिलाफ बयानबाजी कर सकते हैं.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।


सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल

loading...

Comments

2016 DD Bharti |