Home > ख़बरें > बंगाल से आयी बेहद खौफनाक खबर से दहला पूरा देश, मोदी, योगी समेत सभी हिन्दू संगठनों के उड़े होश

बंगाल से आयी बेहद खौफनाक खबर से दहला पूरा देश, मोदी, योगी समेत सभी हिन्दू संगठनों के उड़े होश

bangal-mamata-temple-attack

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की हालत बद से बदतर होती जा रही है और जल्द ही वो दिन दूर नहीं जब धर्म के आधार पर बंगाल को एक अलग राष्ट्र बनाने की मांग की जाने लगेगी. बंगाल में हिन्दुओं के खिलाफ हिंसा बढ़ती ही जा रही है और वोटबैंक के चक्कर में तुष्टिकरण की अंधी दौड़ में लगी ममता बनर्जी के कान पर जूं तक नहीं रेंग रही है. ताजा मामला कोलकाता के कोसिपोर इलाके का है, जहाँ के सर्बमंगला घाट के पास बने मंदिर में अवैध बांग्लादेशी घुसपैठियों की भीड़ ने हमला कर दिया और उसके बाद जो हुआ उसे देख आपके होश उड़ जाएंगे.


मंदिर में घुसकर की श्रद्धालुओं की पिटाई

धर्म के आधार पर पहले ही भारत का बँटवार हो चुका है, मगर अब बंगाल एक बार फिर उसी रास्ते पर चल पड़ा है. 4 नवम्बर के दिन कोलकाता के सर्बमंगला घाट के पास बने मंदिर में हिन्दू श्रद्धालु दर्शन कर रहे थे कि तभी अवैध बांग्लादेशी घुसपैठियों की भीड़ मंदिर के अंदर घुस गयी और श्रद्धालुओं पर भयानक हमला कर दिया.

प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक़ श्रद्धालु मंदिर में पूजा-आरती कर रहे थे, ठीक उसी वक़्त कुछ मुस्लिम युवकों ने श्रद्धालुओं को परेशान करने के लिए शोर-शराबा करना शुरू कर दिया. श्रद्धालुओं ने उनसे विनती की वो यहाँ शोर ना करें, यदि शोर करना ही है तो मंदिर से बाहर जा कर शोर कर लें. विनती सुनकर ये बांग्लादेशी युवक वहां से चले गए और थोड़ी देर में बड़ी भीड़ लेकर वापस आये और मंदिर में घुस गए. उसके बाद इन सबने मिलकर वहां मौजूद सभी श्रद्धालुओं को जमकर पीटा.

हिन्दुओं को इलाके से भगाने की साजिश

मंदिर के पुजारी ने अवैध बांग्लादेशियों की भीड़ लेकर आये शख्स की पहचान भी कर ली. उनके मुताबिक़ मोहम्मद कलाम नाम का स्थानीय नेता मुस्लिमों की भीड़ लेकर वहां आया था और इन सभी ने मिलकर वहां मौजूद श्रद्धालुओं की खूब पिटाई की, जो मंदिर में दर्शन करने के लिए आये थे.

केवल श्रद्धालुओं को पीटने से इन दंगाइयों के दिल को चैन नहीं पड़ा और धर्मांध हो चुके इन दंगाइयों ने वहीँ पास में दुकान चलाने वाले हिन्दू पति-पत्नी को दुकान से घसीट कर बाहर निकाला और उनकी भी पिटाई की. डर का आलम ये है कि अब दुकानदार की पत्नी का कहना है कि वो इस दुकान को बेच कर इस इलाके से पलायन कर जाएंगे.


मीडिया से लेकर न्यायपालिका तक ने मूंदी आँखें

हैरत की बात ये भी है कि बीजेपी प्रशासित राज्यों की छोटी से छोटी खबर को दिखाने वाले मीडिया चैनलों को इतनी बड़ी खबर दिखाई ही नहीं दी. किसी भी मीडिया चैनल ने इस खबर को दिखाना जरूरी नहीं समझा. फर्जी सेकुलरिज्म देश की मीडिया और न्यायपालिका के सर पर इस कदर सवार हो चुका है कि वो मुस्लिमों द्वारा किये गए दंगों या मारपीट की खबर को दिखाते तक नहीं हैं.

न्यायपालिका को अवैध घुसपैठियों से इस कदर ममता है कि वो भारत सरकार व् खुफिया एजेंसियों तक की नहीं सुन रहे हैं. सवाल ये है कि आखिर भारत को धर्म के आधार पर कितनी बार विभाजित होना होगा? पाकिस्तान व् बांग्लादेश के बाद कश्मीर में कत्लेआम करके पहले ही हिन्दुओं को खदेड़ा जा चुका है. बंगाल में भी यही हो रहा है. केरल का भी कुछ ऐसा ही हाल है. देश के 8 राज्यों में अवैध धर्म परिवर्तन के चलते हिन्दू अल्पसंख्यक हो चुके हैं, मगर फिर भी मीडिया से लेकर न्यायपालिका व् वोट के भूखे कुछ नेता देश के टुकड़े करने पर आमादा हो चुके हैं.

बड़ी दुविधा ये भी है कि बंगाल में केंद्र सरकार चाह कर भी राष्ट्रपति शासन नहीं लगा सकती, क्योंकि इसका कोई फायदा होगा ही नहीं. यदि लगा भी दिया तो भी 2-4 महीनो के बाद फिर वहां चुनाव होगा और फिर से वहां मौजूद लोग तृणमूल सरकार को ही वोट दे आएंगे. और खबर बनेगी कि मोदी ने थोपा राष्ट्रपति शासन, जनता ने दिया मोदी को जवाब.


पीएम नरेंद्र मोदी से जुडी सभी खबरें व्हाट्सएप पर पाने के लिए 886 048 9736 पर Start लिख कर भेजें.

यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments