Home > ख़बरें > इस तेज-तर्रार लेडी आईपीएस के सामने कांपते हैं अपराधी, दाऊद इब्राहिम और छोटा राजन भी खाते हैं खौफ

इस तेज-तर्रार लेडी आईपीएस के सामने कांपते हैं अपराधी, दाऊद इब्राहिम और छोटा राजन भी खाते हैं खौफ

meera-borwankar

मुंबई : जो पूरी ईमानदारी से अपना फ़र्ज़ निभाते हैं असल मायने में देश की बागडोर उन्ही के हाथो में रहती है. अगर नौकरशाह दुरुस्त रहे तो मज़ाल है किसी की कानून के साथ खिलवाड़ कर जाये. जिस तरह भ्रष्टाचार का दीमक नौकरशाही को खोखला करता जा रहा है उस हिसाब से एक दिन लोगो का विश्वास ही उठ जायेगा. लेकिन देश में आज भी कुछ आईएएस (IAS) और आईपीएस (IPS) ऐसे भी हैं जिन्होंने अकेले अपनी ईमानदारी के दम पर नौकरशाही की इज्जत को बचा रक्खा है.


महाराष्ट्र की लेडी सुपरकॉप के नाम से हैं मशहूर

ऐसे ही एक प्रशासनिक और लेडी पुलिस अफसर हैं IPS अफसर मीरा बोरवंकर जिन्हे पूरे महाराष्ट्र में “लेडी सुपरकॉप” के नाम से भी जाना जाता है. महाराष्ट्र कैडर की पहली महिला आईपीएस अफसर बनी मीरा बोरवंकर. मीरा 1981 बैच की IPS अधिकारी हैं. वे मूल रूप से पंजाब के फाजिल्का जिले की रहने वाली हैं. अभय बोरवंकर उनके पति भी बड़े दबंग IAS अफसर रह चुके हैं फिलहाल वो रिटायर्ड हो चुके हैं.

मुंबई के माफिया राज को ख़त्म करने में अहम् भूमिका निभाई

मीरा बोरवंकर की IPS बनने के बाद पोस्टिंग महाराष्ट्र के मुंबई में हो गयी. मुंबई से माफियाराज को ख़त्म करने में मीरा बोरवंकर का बहुत बड़ा योगदान है. मीरा बोरवंकर ने अपनी नौकरी के शुरुआती दिनों में यह साफ़ कर दिया था कि हर हाल में , माफियाराज, गुंडाराज को जड़ से ख़त्म कर देंगी. मीरा बोरवंकर ने मोस्ट वांटेड अंडरवर्ल्ड डॉन से लेकर के डी कंपनी के सरगना दाऊद इब्राहिम और छोटा राजन  गैंग के काफी सदस्यों को सलाखों के पीछे डाल चुकी हैं. यही नहीं जब याकूब मेमन को फांसी दी जा रही थी उस वक़्त मीरा बोरवंकर महाराष्ट्र की एडीजीपी थी. मीरा उन पांच अधिकारियों में से एक थी जो कि याकूब मेमन की फांसी के वक़्त जेल परिसर में ही मौजूद थे.


ख़बरों के मुताबिक मीरा बोरवंकर ने अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम से लेकर कई वांटेड गैंगस्टर को दूसरे देशों से भारत की जेलों में डालने में भी अहम् भूमिका रही है.

हज़ारों स्कूल की बच्चियों को देह व्यापर से निकल चुकी हैं अब तक

जलगांव सेक्स स्कैंडल से सुर्ख़ियों में आयी थी मीरा. 1994 में मीरा की अगुवाई में ही पुलिस ने एक बड़े सेक्स रैकेट का खुलासा किया था. दरअसल स्कूल की छोटी बच्चियों से लेकर के कॉलेज की लड़कियों को देहव्यापार के गोरखधंधे से बचा कर निकाल लायी थी. जिससे देशभर के मीडिया में सुर्ख़ियों में छा गयी थी.

यही नहीं साल 2014 में रानी मुख़र्जी की जो बहुचर्चित फिल्म “मर्दानी” आयी थी वो दरअसल मीरा बोरवंकर के जीवन पर ही आधारित कहानी है. देश की पहली IPS अफसर किरण बेदी से ही प्रेरणा लेकर मीरा ने IPS अफसर बनने का ठाना था.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments