Home > ख़बरें > गुरमेहर को रेप की धमकी देने वाला एबीवीपी का नहीं बल्कि जेएनयू के कन्हैया का साथी निकला ?

गुरमेहर को रेप की धमकी देने वाला एबीवीपी का नहीं बल्कि जेएनयू के कन्हैया का साथी निकला ?

gurmehar-rape-threat-related-to-kanhaiya

नई दिल्ली : दिल्ली यूनिवर्सिटी में चल रहा विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है. वहीँ इसी से जुडी एक ऐसी बड़ी खबर सामने आयी है जिसके बाद से केजरीवाल, राहुल गांधी के साथ-साथ तथाकथित सेक्युलर मीडिया को भी सांप सूंघ गया है.

विवाद की शुरुआत हुई जब दिल्ली के लेडी श्रीराम कॉलेज में पढ़ने वाली शहीद मनदीप सिंह की बेटी गुरमेहर कौर ने सोशल मीडिया में एक तस्वीर पोस्ट की जिसमे लिखा था कि पाकिस्तान ने मेरे पिता को नहीं मारा, बल्कि युद्ध ने मारा है. विवाद तब और भी ज्यादा बढ़ गया जब एक शख्स ने ट्विटर पर गुरमेहर कौर को बलात्कार की धमकी तक दे डाली. बस फिर क्या था, कांग्रेसी नेताओं के साथ-साथ दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने भी इस धमकी का जिम्मेदार एबीवीपी को ठहरा डाला.

बलात्कार की धमकी देने वाला कन्हैया का साथी?

लेकिन अब गुरमेहर को बलात्कार की धमकी देने वाले शख्स का सुराग मिल गया है. दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक़ ट्विटर पर बलात्कार की धमकी देने वाले शख्स का नाम देबोजित भट्टाचार्य है, जो AISF नाम के संगठन का सदस्य है. AISF कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ इंडिया (CPI) का छात्र संगठन है और जेएनयू का छात्रनेता कन्हैया भी इसी संगठन से जुड़ा हुआ है.

दिल्ली पुलिस ने भी अब इस मामले की तह तक जाने का ठान लिया है और जांच में जुट गयी है. दिल्ली पुलिस के सूत्रों के मुताबिक़ धमकी देने वाले शख्स के ट्विटर अकाउंट के जरिये से जानकारियां जमा कर ली गयी हैं. पूरी तरह से जांच कर लेने के बाद इसकी औपचारिक पुष्टि की जायेगी. खबर ये भी आ रही है कि गुरमेहर खुद भी धमकी देने वाले शख्स को जानती है और ये सब साजिश केवल एबीवीपी को बदनाम करने की और यूपी चुनाव में बीजेपी को नुक्सान पहुचाने की है. सूत्रों के मुताबिक़ गुरमेहर को जैसे ही लगा कि अब उसकी पोल खुलने वाली है वैसे ही वो इस विवाद से बाहर निकल कर दिल्ली से बाहर चली गयी.


एफआईआर दर्ज कराने में हिचकिचाहट

इस बात का संदेह तो शुरू से ही किया जा रहा था क्योंकि बलात्कार की धमकी मिलने के बावजूद ना तो गुरमोहर ने खुद पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई, ना ही उसके किसी रिश्तेदार ने. बल्कि ये लोग मुद्दे को हवा देने के लिए सीधे दिल्ली महिला आयोग पहुच गए. इसके बावजूद जब मंगलवार शाम तक किसी ने पुलिस में शिकायत दर्ज नहीं करवाई तो एबीवीपी के छात्रों ने खुद दिल्ली के मौरिसनगर थाने में एफआईआर दर्ज करने की अर्जी दी ताकि बलात्कार की धमकी देने वाले को पकड़ा जा सके.

इतना हो जाने के बाद दिल्ली राज्य महिला आयोग की चेयरमैन स्वाति मालीवाल की और से एफआईआर दर्ज करने के लिए अर्जी डाली गयी. एफआईआर दर्ज होते ही धमकी देने वाले शख्स ने अपना ट्विटर अकाउंट डिलीट कर दिया.

एबीवीपी और पीएम मोदी पर कीचड उछालने की साजिश?

अब कई नेताओं ने दावा किया है कि धमकी देने वाले शख्स की ना केवल पहचान हो गयी है बल्कि वो वामपंथी संगठनों से भी जुड़ा हुआ है. कहा जा रहा है कि एक पूर्व-नियोजित साजिश के तहत एबीवीपी और बीजेपी को बदनाम करने के लिए ये पूरा कांड किया गया था. कुछ तथाकथित पत्रकार भी इस साजिश में शामिल बताये जा रहे हैं. आम आदमी पार्टी की कठपुतली कहलाने वाले दिल्ली महिला आयोग पर भी सवाल उठ रहे हैं क्योंकि बिना किसी ठोस सबूत के दिल्ली महिला आयोग प्रमुख स्वाति मालीवाल ने मीडिया में इसका जिम्मेदार एबीवीपी को ठहरा दिया था.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments