Home > ख़बरें > ब्रेकिंग- पकड़ा गया दाऊद का गुर्गा, डोभाल की सेना ने धर दबोचा, 2005 से चल रहा था ऑपरेशन !

ब्रेकिंग- पकड़ा गया दाऊद का गुर्गा, डोभाल की सेना ने धर दबोचा, 2005 से चल रहा था ऑपरेशन !

dawood-dobhal

नई दिल्ली : मोदी सरकार जब से सत्ता में आयी है तब से अपराधियों की तो मानो शामत आयी हुई है. सुरक्षा एजेंसियां भी हाथ धो कर बड़े-बड़े अपराधियों के पीछे लगी हुई हैं. इसी के चलते गुजरात एटीएस ने ऐसा जबरदस्त काम कर दिखाया है जिसके लिए देशभर में उसकी तारीफ़ की जा रही है.

दाऊद इब्राहिम को बड़ा झटका !

दरअसल गुजरात एटीएस ने अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के साथी शरीफ खान के गैंग्स्टर भतीजे दाऊद लाला को धर-दबोचा है. दाऊद लाला राजस्थान का एक नामी गैंगस्टर है. चित्तौडग़ढ़ व उदयपुर में इसपर हत्या, हत्या की कोशिश, मारपीट, चोरी व कई अन्य मामले दर्ज हैं. इस पर आरोप है कि निम्बाहेड़ा में अंजुमन कमेटी की दुकानों के विवाद में इसने 11 मार्च को दिन दहाड़े राजस्थान टैंट की दुकान चलाने वाले फारूख और फरीद भाइयों पर ताबड़तोड़ गोलीबारी कर दी थी जिसके कारण फारूख की मौत हो गई थी.

अहमदाबाद के जॉइंट पुलिस कमिश्नर (ATS) जेके भट्ट ने बताया कि उन्हें राजस्थान पुलिस से दाऊद की टिप मिली थी जिसके बाद एटीएस ने इस इनामी गैंगस्टर को दबोच लिया. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक़ 2005 में अजीत डोभाल ने दाऊद इब्राहिम को पकड़ने के लिए एक आपरेशन चलाया था, जिसका नाम रखा गया था “आपरेशन मुच्छड़“.

डोभाल बना चुके थे दाऊद को ठोकने का प्लान !

हालांकि इस आपरेशन में दाऊद को पकड़ने की नहीं बल्कि सीधे ठोक देने की योजना बनायीं गयी थी. 9 मई 2005 को दाऊद की बेटी माहरुख का पाक क्रिकेटर जावेद मियांदाद के बेटे जुनैद से निकाह होने वाला था. जिसके बाद 23 जुलाई को दुबई के ग्रैंड हयात होटल में उनका रिसेप्शन होना था.

डोभाल की टीम ने पता लगा लिया था दाऊद इस पार्टी में कब किस जगह पर होगा. वहीँ 1993 मुंबई बम धमाकों के बाद छोटा राजन ने दाऊद की डी कंपनी छोड़ कर अपना अलग गैंग बना लिया था और दाऊद का दुश्मन बन गया था. डोभाल की योजना के मुताबिक़ छोटा राजन की मदद ली गयी और रिपोर्ट्स के मुताबिक़ पश्चिम बंगाल के 24 परगना इलाके से छोटा राजन के दो भरोसेमंद शार्प शूटर विकी मल्होत्रा और फरीद तनाशाह की एंट्री कराई गयी और ट्रेनिंग दी गयी.

मुम्बई पुलिस में दाऊद के गुर्गे ?

23 जुलाई 2005 को दाऊद के काम-तमाम की योजना बनायीं गयी. हालांकि पूरा आपरेशन बेहद खुफिया था लेकिन फिर भी ऐन वक़्त पर मुंबई पुलिस क्राइम ब्रांच की टीम ने वहां पहुंच कर राजन गैंग के दोनों शार्प शूटरों को हिरासत में ले लिया था.

अजीत डोभाल ने पुलिस वालों को काफी समझाने की कोशिश भी की लेकिन डिप्टी कमिश्नर धनंजय कमलाकर तो जिद पकड़ कर बैठ गए और दोनों को अरेस्ट करके मुंबई ले गए. इस तरह से मुम्बई पुलिस में जमे दाऊद के गुर्गों की वजह से दाऊद बच निकला था.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments