Home > ख़बरें > पीएम मोदी के गुजरात दौरे पर आतंकियों की बड़ी साज़िश, ख़ुफ़िया एजेंसियों को मिला मौत का सामान

पीएम मोदी के गुजरात दौरे पर आतंकियों की बड़ी साज़िश, ख़ुफ़िया एजेंसियों को मिला मौत का सामान

नई दिल्ली : देश भर में दिवाली के त्यौहार की तैयारियां हो रही है. लोग पूरे जोश के साथ इस त्योहार का इंतज़ार कर रहे हैं. तो वहीँ दूसरी ओर कुछ कटरपंथी अपने नापाक मंसूबे लिए इस त्यौहार पर खून की होली खेलने को आमादा हैं. पीएम मोदी के गुजरात दौरे पर हैं ओर इस बीच बहुत बड़ी खबर आ रही है जिससे पूरा देश में हड़कंप मच गया है.


दिवाली से पहले ही खून की होली खेलने का था इंतज़ाम

अभी मिल रही खबर के अनुसार दिवाली से सिर्फ एक हफ्ते पहले अहमदाबाद के दरियापुर इलाके में 10 जिंदा देसी बम मिलने से हड़कंप मच गया है. ये खतरनाक बम दरियापुर इलाके के तंबू चौकी के पास आये कचरे के डिब्बे के पास से बरामद हुए हैं. अचानक कचरे के ढेर से मिले इन बमों ने सुरक्षा एजेंसियों की भी चिंता बढ़ा दी है.

पीएम मोदी हैं गुजरात दौरे पर

एक तरफ दीवलै का त्यौहार नज़दीक है तो दूसरी तरफ पीएम मोदी भी दो दिन के लिए गुजरात दौरे पर आये हुए हैं. ऐसे में एक साथ 10 ज़िंदा बम मिलना एक बड़े खतरे को अंजाम दिए जाने की साज़िश की तरफ इशारा कर रही है. इन बम के मिलने के साथ गुजरात वासियों की एक बार फिर साल 2008 की याद ताज़ा हो गयी.


साल 2008 की याद हो गयी ताज़ा

गौरतलब है कि पहले भी अहमदाबाद में जुलाई साल 2008 में एक के बाद एक आतंकी बम धमाकों के चलते ऐसी घटनाओं को लेकर खासी दहशत मचाई गयी थी. उस दौरान करीब एक घंटे में अलग अलग स्थानों पर 21 बम फटे थे जिसमें 50 से अधिक लोग मारे गये थे. जिससे एक बार फिर आज लोगों में वही पुराना दहशत का माहौल फिर से जाग उठा.

बड़ी गहरी साज़िश

शहर के पुलिस नियंत्रण कक्ष के एक अधिकारी ने बताया कि दरियापुर पुलिस चौकी के निकट कूड़ा फेंकने के स्थान पर एक व्यक्ति ने देखा कि 15 डिब्बे थे जिन पर भूरे रंग का टेप चिपकाया हुआ था.सूचना मिलते ही वरिष्ठ पुलिस अधिकारी बम निरोधक दस्ते और फोरेंसिक विशेषज्ञों के साथ मौके पर पहुंचे. पुलिस के अनुसार पूरी छानबीन के बाद यह पता चला कि किसी ने पटाखों और धारदार चीजों से देशी बम बनाने की कोशिश की थी. शहर के सेक्टर-2 के अतिरिक्त आयुक्त अशोक कुमार यादव ने कहा, ‘‘हमने दोषियों को पकड़ने के लिए जांच शुरू कर दी है.’’ हालांकि ये जीवित बम थे और इन्हें बाद में बम निरोधक दस्ते की मदद से बेकार कर दिया गया है.

पीएम नरेंद्र मोदी के गुजरात दौरे के समय अहमदाबाद से इतनी संख्या में जिंदा बम मिलने के बाद से सुरक्षा एजेंसियां सकते में आ गई हैं. बम मिलते ही आनन-फानन में एफएसएल और बॉम्ब स्क्वाड के साथ जांच शुरू की. पुलिस के मुताबिक ये बम दिवाली से पहले इलाके में दहशत फैलाने के लिए फेंके गए थे.

इस घटना के बाद से त्योहारों के चलते किसी भी वारदात को लेकर सुरक्षा बल ओर जाँच एजेंसियां चौकन्ना हो गए हैं. सार्वजनिक स्थलों की सुरक्षा बढ़ा दी गई. दिवाली पर आतंकी हमले को लेकर भी सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हैं. भीड़-भाड़ वाले इलाकों जैसे रेलवे स्टेशन, मॉल और मेट्रो में भी सुरक्षा कड़ी की जा रही है. कई संवेदनशील जगहों को भी चिन्हित किया गया हैं.


यदि आप भी जनता को जागरूक करने में अपना योगदान देना चाहते हैं तो इसे फेसबुक पर शेयर जरूर करें. जितना ज्यादा शेयर होगी, जनता उतनी ही ज्यादा जागरूक होगी. आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं.

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें

फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments