Home > ख़बरें > पीएम मोदी को मिला जीत का सबसे बड़ा आशीर्वाद, राहुल-अखिलेश गठबंधन चारों खाने चित !

पीएम मोदी को मिला जीत का सबसे बड़ा आशीर्वाद, राहुल-अखिलेश गठबंधन चारों खाने चित !

modi-akhilesh-rahul

नई दिल्‍ली : यूपी में अंतिम चरण के मतदान भी ख़त्म हो चुके हैं और अब सबको 11 मार्च का इंतज़ार है. जहां एक ओर कांग्रेसी नेता लखनऊ में ISIS के आतंकी के एनकाउंटर पर राजनीति करना शुरू हो गए हैं वहीँ देश के प्रधानसेवक नरेंद्र मोदी अपने आगे के कामों में व्यस्त हो गए हैं. अंतिम दिन का चुनाव प्रचार ख़त्म करके मंगलवार को पीएम मोदी गुजरात चले गए जहां उन्हें जीत का सबसे बड़ा आशीर्वाद मिल गया.

माँ ने दिया जीत का आशीर्वाद

दरअसल पीएम मोदी जब भी गुजरात जाते हैं तो अपनी माँ से मिलने और उनसे आशीर्वाद लेने जरूर जाते हैं. इसलिए गुजरात पहुचते ही पीएम मोदी रात में अपने छोटे भाई के घर गए जहां उनकी माँ रह रही हैं. यूपी विधानसभा चुनाव प्रचार में कड़ी मेहनत करने के बाद पीएम मोदी जब अपनी माँ से मिलने गए तो उन्हें बहुत सुकून मिला.

देवों के देव महादेव का भी आशीर्वाद मिला

अपने बेटे को देश की खातिर इतनी मेहनत करते देख माँ का भी दिल भर आया और उन्होंने पीएम मोदी को सभी जगहों में जीत का आशीर्वाद दे दिया. अपनी माँ से आशीर्वाद लेने के बाद पीएम मोदी भगवान् से आशीर्वाद लेने सोमनाथ मंदिर गए और वहां पूजा-अर्चना की. इसके बाद पीएम नरेंद्र मोदी ने भरूच में देश के सबसे लंबे केबल पुल का उद्घाटन भी किया. उद्घाटन समारोह में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी भी उनके साथ ही मौजूद थे.

मोदी की तारीफ़, अखिलेश की खिंचाई

जिस तरह से पीएम मोदी अपनी माँ से आशीर्वाद लेने गए उसे देख देश की जनता भी भावुक हो गयी. जहां एक ओर सोशल मीडिया पर लोगों ने पीएम मोदी की जम के तारीफ़ की, वहीँ उन्होंने अखिलेश यादव को जम के लताड़ भी लगाई.

सोशल मीडिया पर लोगों ने कहा कि एक पीएम मोदी हैं जो अपनी माँ की इतनी इज्जत करते हैं, वहीँ एक ओर अखिलेश यादव हैं जो अपने माँ-बाप को बुढापे में दुःख दे रहे हैं. गौरतलब है कि अभी हाल ही में मुलायम सिंह यादव की दूसरी पत्नी और अखिलेश यादव की सौतेली माँ ने एक इंटरव्यू के दौरान अपना दुःख व्यक्त करते हुए अखिलेश को गुमराह कहा था.

इसी को लेकर सोशल मीडिया पर लोग उनके खिलाफ भड़क गए और परिवार की इज्जत कैसे की जाती है ये पीएम मोदी से सीखने की सलाह दे डाली. लोगों ने अखिलेश की हार की भविष्यवाणी करते हुए ट्वीट किये कि अब अगले 5 साल वो घर में बैठ कर अपने बूढ़े माँ-बाप की सेवा करें और अपने सर से पापों का बोझ कम करें.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments