Home > ख़बरें > गुस्से में आये पीएम मोदी, लाखों लोगों पर एक साथ तगड़ा एक्शन, हिला दिया पूरे देश को !

गुस्से में आये पीएम मोदी, लाखों लोगों पर एक साथ तगड़ा एक्शन, हिला दिया पूरे देश को !

modi-against-black-money

नई दिल्ली : पीएम मोदी ने देश से भ्रष्टाचार और कालेधन को पूरी तरह से ख़त्म करने का बीड़ा उठाया हुआ है. उन्हें देश में एक नए पैसे का भी कालाधन मंजूर नहीं है. इसी के चलते नोटबंदी का कडा फैसला लिया गया था लेकिन अभी भी ऐसे लाखों लोग हैं देश में जो सुधरने का नाम नहीं ले रहे हैं. खबर है कि सरकार की लिस्ट में ऐसे 18 लाख लोग हैं, जो अभी भी धांधली में लगे हुए हैं. ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्यवाही करने का मोदी सरकार ने फैसला लिया है.

जांच के घेरे में 18 लाख लोग !

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने बताया कि देशभर के 18 लाख बैंक खाते आयकर विभाग की जांच के घेरे में हैं. इन खातों में जमा की गयी रकम खाताधारकों द्वारा दी गयी आय की जानकारी से मेल नहीं खाती है. ऐसे बैंकखातों और ऐसे लोगों पर अब सरकार सख्ती करने जा रही है.

गौरतलब है कि आयकर विभाग की ओर से ऐसे लोगों को मैसेज या फिर ई-मेल के जरिए से खातों में जमा रकम का स्पष्टीकरण माँगा गया था. कइयों ने तो जवाब दिए लेकिन काफी सारे लोगों ने जवाब देना जरुरी ही नहीं समझा. ऐसे लोगों को सरकार अब अब कानूनी नोटिस भेजेगी ओर कानूनी रूप से उचित कार्यवाही करेगी.

दरअसल नोटबंदी के दौरान कई लोगों ने खुद को बेहद चतुर समझते हुए निष्क्रिय पड़े बैंकखातों का दुरुपयोग करके अपना कालाधन सफ़ेद किया था. कई लोगों ने जनधन योजना के तहत खोले गए खातों का भी दुरूपयोग किया था लेकिन सरकार व् आयकर अधिकारियों ने इस पर अपनी पैनी नज़र बनायी हुई थी.

सीधे जेल की हवा खाएंगे कालेधन कुबेर !

अब ऐसे लोगों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी. कानूनी नोटिस भेजकर एक्शन लिए जाएंगे. कालेधन का पता चलते ही ऐसे लोगों को जेल की हवा खिलाई जायेगी. सरकारी आंकड़े के मुताबिक़ ऐसे तकरीबन 18 लाख लोगों पर सरकार का हंटर चलने वाला है. कालेधन कुबेरों को जेल में डाल कर बैंक खातों में जमा कालाधन जब्त करके उसे देश के विकास की योजनाओं में खर्च किया जाएगा ताकि आम जनता जो ईमानदारी से मेहनत करके कमाती है, उसका भला किया जा सके.

जानकारों के मुताबिक़ पीएम मोदी किसी भी कीमत में किसी भी भ्रष्ट को बक्शने के मूड में नहीं हैं. नोटबंदी के बाद अभी हाल ही में देश के 100 शहरों में 300 फर्जी कंपनियों पर छापे मार कर कई गिरफ्तारियां की गयी थीं. सूत्रों के मुताबिक़ वहां से बरामद किये गए दस्तावेजों से कई नामी नेताओं व् व्यापारियों के कालेधन के बारे में जानकारियां भी जुटाई गयी थीं, जिनके खिलाफ भी कानूनी कार्यवाही शुरू हो चुकी है.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments