Home > ख़बरें > अभी-अभी : फ्रांस की इस खुफिया एजेंसी ने सुभाष चंद्र बोस की मौत के रहस्य पर से उठाया पर्दा

अभी-अभी : फ्रांस की इस खुफिया एजेंसी ने सुभाष चंद्र बोस की मौत के रहस्य पर से उठाया पर्दा

नई दिल्ली : नेताजी सुभाष चंद्र की मौत हमेशा से पूरी दुनिया में एक बड़ा गहरा राज़ बनी हुई है. हालाँकि इस राज़ को जानने के लिए कांग्रेस की सरकार ने 1956 और 1970 में जो कमीशन गठित किये थे उन्होंने अपनी रिपोर्ट में यह माना था कि नेता जी की मौत 18 अगस्त 1945 को हावई जहाज की दुर्घटना में हुई थी. लेकिन 1999 के मुखर्जी कमीशन ने यह खुलासा किया था कि नेता जी की मौत हवाई जाहज की दुर्घटना में नहीं हुई थी.


फ्रांस के इस खुफिया एजेंसी ने नेताजी सुभाष चंद्र की मौत के बारे में किया खुलासा

तो वहीँ अब इस मामले में बेहद ही चौंकाने वाला मोड़ सामने आया है जिसमें फ्रांस की खुफिया रिपोर्ट ने अब यह खुलासा किया है कि नेताजी की मौत हवाई हादसे में नहीं हुई थी.

इसी सिलसिले में पेरिस की रहने वाली जानी मानी इतिहासकार जीबीपी मोरे हैं. आपको बता दें कि मोरे पेरिस के प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थान में प्रोफेसर भी हैं. उन्होंने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि नेताजी की मौत हवाई जहाज की दुर्घटना में नहीं हुई और वह 1947 में जिंदा थे. मोरे ने यह दावा ऐसे ही हवाबाज़ी में नहीं किया है बल्कि फ्रांस के नेशनल आर्काइव की 11 दिसंबर 1947 के एक खुफिया दस्तावेज के आधार पर किया है.


फ्रांस की खुफिया रिपोर्ट के मुताबिक नेताजी की मौत प्लेन क्रैश में नहीं हुई

मोरे ने आगे बताया कि इस दस्तावेज में कहीं भी ये नहीं लिखा था कि नेता जी सुभाषचंद्र बोस की मौत ताइवान में हुए हवाईजहाज़ दुर्घटना में हुई थी. रिपोर्ट में लिखा गया था कि बोस को 1947 के अंत में देखा गया था. इससे साफ होता है कि फ्रेंच सरकार हवाई दुर्घटना में नेता जी की मौत को नहीं मानती थी.

फ्रांस के इस खुफिया विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक 18 अगस्त 1945 को हुई हवाई दुर्घटना में नेता जी की मौत नहीं हुई. बल्कि वह इंडोचाइना से जिंदा गायब हो गए और उसके बाद उन्होंने गुमनामी का जीवन जिया. मोरे ने बताया कि रिपोर्ट हौट कमीस्ट्रेट दी फ्रैंस फॉर इंडोचाइना के लिए लिखी गई थी.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments