Home > ख़बरें > पेट्रोल डीजल को लेकर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, सऊदी समेत सभी मुस्लिम देशों की हालत ख़राब

पेट्रोल डीजल को लेकर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, सऊदी समेत सभी मुस्लिम देशों की हालत ख़राब

नई दिल्ली : आज भारत विश्व में सबसे तेज़ गति से आगे बढ़ने वाला देश बन गया है. यही नहीं विश्व जगत में भारत का नाम ऊँचा हुआ है. ऐसे में अब आने वाले वक़्त में भारत किसी मुस्लिम देश के भरोसे नहीं बैठेगा बल्कि खुद अपने दम पर एक सम्पूर्ण विकसित देश बनेगा. जिसकी शुरुआत नितिन गडकरी ने अपने इस एक फैसले से करि है जिससे अनेकों मुस्लिम देशों की नींव हिला दी है.


मुस्लिम देशों की हिल जाएँगी नींव

केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने अब भारत को उस दिशा की ओर बढ़ने के आदेश दे दिए हैं जहाँ अभी तक कई देश सोच भी नहीं सकते हैं. आपको बता दें भारत सबसे ज़्यादा पेट्रोल का आयात करने वाला देश है. जिसके लिए कई अरबों डॉलर की कीमत भारत मुस्लिम देशों जैसे सऊदी, ईरान इराक,दुबई, क़तर को चुकाता है.

मोदी सरकार ने दे दी है अंतिम चेतावनी

इस समस्या का इलाज अब मोदी सरकार ने ढूंढ निकाला है. मोदी सरकार ने देश में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के प्रयास में जी-जान से लग गयी है. जिसमें अभी-अभी नितिन गडकरी ने सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (SIAM) के एक कार्यक्रम में ऑटो कंपनियों के प्रतिनिधियों को सख्त लहज़े में चेतावनी देते हुए कहा है कि “हमें पेट्रोल-डीजल को छोड़कर स्वच्छ ईंधन की तरफ बढ़ना होगा. और मैं ये कर के रहूंगा. आप लोगों को यह पसंद आए चाहे न आए. मैं आप लोगों को पूछूंगा नहीं, बल्क‍ि सीधे फैसला ले लूंगा.”

गडकरी ने कार कंपनियों के प्रतिनिधियों से साफ कहा कि वह पेट्रोल और डीजल की कारों को अब कम करने के लिए कड़े कदम उठाएंगे. उन्होंने सख्त चेतावनी दी है कि कार कंपनियों को अब इलेक्ट्र‍िक वाहन बनाने पर फोकस करना चाहिए. गडकरी ने कहा कि जो कार कंपनियां इस मिशन में सरकार के साथ होंगी, वे फायदे में रहेंगी. लेकिन जो सिर्फ पैसे कमाने के चक्कर में पेट्रोल-डीजल कार पर ही अटके रहेंगे, तो उनके लिए मुसीबत खड़ी हो सकती है.


आपको बता दें आज आज मोदी सरकार मेक इन इंडिया के तहत सौर ऊर्जा पर पूरा ज़ोर दे रही है. तेल के कुंए आज नहीं तो कल इन मुस्लिम देशों के पास ख़त्म होने वाले हैं जिससे पूरे विश्व को तगड़ा झटका लगेगा लेकिन भारत अगर अभी से सचेत हो जाए और बिजली से चलने वाले वाहनों पर ज़ोर दे तो जहाँ सारे देश मुसीबत में होंगे वहां भारत चैन की नींद ले रहा होगा.

मिशन 2030 से पहले पूरा कर लेंगे सपना, जल्द लाएगी पालिसी

इसके लिए मोदी सरकार ने मिशन 2030 की योजना तैयार करि है जिसके तहत भारत की सड़कों पर सिर्फ इलेक्ट्र‍िक कारें ही होंगी. जिससे बढ़ते प्रदुषण की समस्या से भी निजात मिलेगी. इसके लिए मोदी सरकार जल्द ऐसी पालिसी लाएगी जिससे सभी कार कंपनियों को अब सिर्फ बिजली की कारों का ही उत्पादन करना होगा. ऐसे में कार कंपनियों ने भी इलेक्ट्रिक कारों को लाने को लेकर काम तेज़ी से करना शुरू कर दिया है.

आज सौर ऊर्जा का इस्तेमाल बहुत तेज़ी से भारत में बढ़ रहा है, सिर्फ मेट्रो स्टेशन में ही नहीं भारतीय रेलवे में भी अब सोलर पेनल्स का इस्तेमाल हो रहा है . जिससे लाखों रुपयों की बचत हो रही है. तो वहीं दिल्ली जैसे बड़े शहरों में अब मेट्रो स्टेशन के बाहर बिजली से चलने वाले ऑटो का चलन बहुत तेज़ी से बढ़ गया है. तो वहीँ बिजली के दो पहिया वाहन का भी आम जनता ने इस्तेमाल में लाना शुरू कर दिया है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments