Home > ख़बरें > सीबीआई और ईडी ने मिलकर किया इस वरिष्ठ कांग्रेसी नेता का खेल, मुंह छुपाए घूम रही है कांग्रेस !

सीबीआई और ईडी ने मिलकर किया इस वरिष्ठ कांग्रेसी नेता का खेल, मुंह छुपाए घूम रही है कांग्रेस !

modi-sonia-handcuffed

नई दिल्ली : एक ओर लगभग हर राज्य में हार का मुह देख रही कांग्रेस की मुश्किलें कम होने का नाम ही नहीं ले रहीं. एक-एक करके उनके राज में हुए घोटाले उजागर हो रहे हैं, बड़े-बड़े नेताओं के खिलाफ शिकंजा कसता जा रहा है. अभी-अभी एक ऐसी हैरतअंगेज खबर सामने आ रही है, जिससे कांग्रेस में जबरदस्त हड़कंप मच गया है.


मुख्यमंत्री वीरभद्र पर ईडी की बड़ी कार्रवाई !

खबर आयी है कि मनी लॉन्ड्रिंग के केस के चलते प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आज सुबह हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के दिल्ली के मेहरौली स्थित फार्म ‌हाउस को जब्त कर लिया है. इस फार्म हाउस को मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के बेटे के नाम से खरीदा गया था.

खबरों के मुताबिक़ इस फार्म हाउस को खरीदने के लिए 5.41 करोड़ रुपये की नकद करेंसी इस्तेमाल की गई थी और 1.20 करोड़ रुपये की रजिस्ट्री की गई थी. दरअसल मुख्यमंत्री वीरभद्र के बेटे और बेटी की कंपनी के नाम पर साल 2011 में दिल्ली के महरौली में 6 करोड़ से ‌अधिक कीमत का फार्म हाउस खरीदा गया था. इस फार्म हाउस के लिए तकरीबन साढ़े पांच करोड़ रुपये नकद चुकाए गए थे जिसपर कालाधन होने का संदेह था.

जिसके बाद ये फार्म हाउस सीबीआई जांच के दायरे में आ गया था. इसे बेचने वाले व्यक्ति ने पूछताछ के दौरान खुद आयकर विभाग के सामने इस बात का खुलासा किया कि इस फ़ार्म हाउस की खरीद में तकरीबन साढ़े पांच करोड़ रुपये नकद चुकाए गए थे.


चल रही है सीबीआई की जांच भी !

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह पर आय से अधिक संपत्ति के मामले में भी सीबीआई जांच चल रही है. पिछले शुक्रवार को सीबीआई ने वीरभद्र सिंह और आठ अन्य आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट भी दाखिल की थी.

सीबीआई ने विशेष न्यायाधीश वीरेंद्र कुमार गोयल के समक्ष चार्जशीट दाखिल की थी, जिसके बाद इस मामले की सुनवाई के लिए शनिवार का दिन तय किया गया था. वीरभद्र सिंह के अलावा सीबीआई ने उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह, जीवन बीमा निगम के एजेंट आनंद चौहान, उनके सहयोगी चुन्नी लाल, जोगिंदर सिंह घालटा, प्रेम राज, लावन कुमार रोच, वकामुल्लाह चंद्रशेखरा तथा राम प्रकाश भाटिया के खिलाफ भी चार्जशीट दाखिल की थी.

सीबीआई ने दायर की चार्जशीट !

भ्रष्टाचार रोकथाम अधिनियम के प्रावधानों के तहत तथा भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की विभिन्न धाराओं के तहत सीबीआई ने इन सभी आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया था. वीरभद्र सिंह ने दिल्ली उच्च न्यायालय में उनके और उनकी पत्नी के खिलाफ सीबीआई द्वारा दर्ज की गयी एफआई आर को रद्द करने की याचिका भी दायर की थी, जिसे माननीय उच्च न्यायालय की ओर से शुक्रवार को खारिज कर दिया था.

जानकारों के मुताबिक़ कांग्रेस के राज में हुए घोटालों व् भ्रष्टाचार के मामलों का खुलासा और उनपर जांच शुरू हो चुकी है. जांच एजेंसियों ने भ्रष्ट कांग्रेसी नेताओं पर शिकंजा कसना भी शुरू कर दिया है. मोदी सरकार में जांच एजेंसियों पर कोई राजनीतिक दबाव भी नहीं है, जिसके चलते तेज गति से कार्यवाही की जानी शुरू हो चुकी है.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments