Home > ख़बरें > मोदी विरोध में ममता ने लिया ऐसा फैसला जिसके लिए बंगाल के लोग उन्हें कभी माफ़ नहीं करेंगे

मोदी विरोध में ममता ने लिया ऐसा फैसला जिसके लिए बंगाल के लोग उन्हें कभी माफ़ नहीं करेंगे

mamta-refused-niti-ayog-meeting

कोलकाता : नोटबंदी से बौखलाई हुई पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पूरी तरह से बगावत पर उतर आयीं हैं। ममता ने राज्य के जिला अधिकारियों को नीति आयोग की बैठक में हिस्सा लेने से मना कर दिया है। इस बैठक में पीएम मोदी अर्थव्यवस्था की स्थिति का जायजा लेंगे और आर्थिक वृद्धि को गति देने के उपायों पर चर्चा करेंगे।


मोदी विरोध के लिए राज्य की तरक्की से भी मुह मोड़ा

कालेधन को ख़त्म करने के लिए पीएम मोदी द्वारा लिए गए नोटबंदी के फैसले के विरोध के लिए ही ममता ने जिलाधिकारियों को नीति आयोग की बैठक में शामिल नहीं होने का आदेश दे दिया है। ऐसा पहली बार हुआ है जब जिलाधिकारियों को नीति आयोग की बैठक में शामिल ना होने के आदेश मिले हैं। मतलब ममता चाहती ही नहीं कि उनके राज्य के लोगों की आर्थिक तरक्की हो, वो केवल अपने ओर अपनी पार्टी के बारे में ही सोचने में लगी हैं।

एक ओर वो अपने वोटबैंक की खातिर साम्प्रदायिक हिंसा पर चुप्पी साधे हुई हैं, वहीँ दूसरी ओर बंगाल के विकास के लिए की जा रही बैठकों में वो अपने अधिकारियों को जाने ही नहीं दे रही। हैरानी कि बात है कि मात्र मोदी विरोध के लिए वो बंगाल के लोगों को विकास से वंचित रखने को भी तैयार हैं।


एक जिला अधिकारी ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि बैठक में शामिल ना होने के आदेश ऊपर से मिले हैं। दो हफ्ते पहले भी एक बैठक हो चुकी है जिसमे भी जिलाधिकारी शामिल नहीं हुए थे। सवाल ये उठता है कि किसी भी राज्य के लोग अपना मुख्यमंत्री इसलिए चुनते हैं ताकि वो उनका विकास करे, उनकी समस्याओं का समाधान करे। मगर ममता के तेवर देखकर तो किसी भी कोने से नहीं लगता कि उन्हें अपने राज्य के लोगों की रत्ती भर भी चिंता है।

अब आपकी बारी

सांप्रदायिक दंगों ओर भ्रष्टाचार से जूझ रहे बंगाल के लोग आखिर ममता को वोट देते ही क्यों हैं? अगर वहाँ के लोग वाकई में त्रस्त हो चुके हैं तो सत्ता भाजपा के हाथ में क्यों नहीं दे देते? अपनी राय आप कमेंट द्वारा शेयर कर सकते हैं।


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments