Home > ख़बरें > मोदी ने दी खुली छूट तो शुरू हो गयी नक्सलियों पर सर्जिकल स्ट्राइक, सेना ने घेर लिए सारे नक्सली !

मोदी ने दी खुली छूट तो शुरू हो गयी नक्सलियों पर सर्जिकल स्ट्राइक, सेना ने घेर लिए सारे नक्सली !

surgical-strike-naxals

नई दिल्ली : सुकमा में हुए नक्सली हमले में 25 जवानों की शहादत के बाद पूरा देश गुस्से से उबल पड़ा था. लोग प्रधानमन्त्री से सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे थे और पीएम मोदी ने भी निराश ना करते हुए बेहद सख्त कदम उठाये हैं. इसी कड़ी में अब एक बड़ी खबर सामने आ रही है, जिसके मुताबिक़ सीआरपीएफ की टीमों ने एक जंगल को घेर लिया है, जिसमे तमाम नक्सलियों के छिपे होने की बात सामने आयी है.

नक्सलियों के खिलाफ सर्जिकल स्ट्राइक शुरू !

सूत्रों के मुताबिक़ सीआरपीफ जवान नक्सलियों की तलाश में चिंतागुफा, बुरकापाल और चिंतलनार कैंपों से शनिवार शाम से जंगल में घुसे हैं और नक्सलियों को ढूंढ कर ठिकाने लगाने के काम में लगे हुए हैं. इसे नाम दिया गया है ऑपरेशन क्लीन. इसके लिए हेलीकॉप्टर और ड्रोन विमानों से मदद ली जा रही है. साथ ही कार्टोसेट सैटेलाइट से भी पूरे इलाके की मैपिंग कराई जा रही है, इसका इस्तेमाल आम तौर पर सेना ही करती है.

ऑपरेशन पर निगरानी का काम कर्नाटक के जंगलों में चंदन तस्कर वीरप्पन को मार गिराने वाले विजय कुमार को सौंपी गई है. वो आंतरिक सुरक्षा के मामलों में सरकार के सलाहकार भी हैं. विजय कुमार ने शनिवार को सुकमा में अफसरों के साथ बैठक करके नक्सलियों पर हमले के लिए रणनीति तैयार की. पूरा ऑपरेशन “भारत के जेम्स बांड” के नाम से मशहूर अजित डोभाल की निगरानी में चल रहा है.

सड़क निर्माण कार्य फिलहाल स्थगित !

ऑपरेशन इतना बड़ा है कि सुकमा में सड़क निर्माण काम फिलहाल रोक दिया गया है और सड़क निर्माण व् सुरक्षा के काम में लगे सभी सीआरपीएफ जवानों को ऑपरेशन में शामिल किया गया है. नक्सलियों पर सीधे अटैक की कार्रवाई करने का मिशन बनाया गया और इसके तुरंत बाद कल शाम को ही फोर्स को जंगलों में उतार दिया गया.

दोरनापाल-जगरगुंडा मार्ग पर पड़ने वाले कैंपों से सीआरपीएफ की अलग-अलग टुकड़ियों को चारों दिशाओं में रवाना किया गया है. अगले 15 दिनों तक जवान जंगलों के चप्पे-चप्पे को खंगाल डालेंगे और नक्सलियों का खेल ख़त्म करेंगे.

दंतेवाड़ा जिले में बैलाडीला के पहाड़ पर नक्सलियों के बड़े नेताओं के छिपे होने कि खबर मिलने पर किरंदुल से फोर्स रवाना की गई. दंतेवाड़ा और सुकमा को जोड़ने वाले कटेकल्याण के गाटम कैंप से डीआरजी और जिला पुलिस के दस्ते भी जंगल में खोजी अभियान के लिए भेजे गए हैं. अरनपुर से भी जगरगुंडा की ओर भी एक टीम भेजी गयी है.

बीजापुर में गंगालूर से डीआरजी के जवानों ने शनिवार रातभर जंगलों में जगह-जगह छापेमारी की. बासागुड़ा की ओर भी जवानों को भेजा गया है. कुल मिलाकर कहा जाए तो जंगलों को चारों ओर से घेर कर बड़ा ऑपरेशन चलाया जा रहा है. नक्सलियों के खिलाफ इतना बड़ा ऑपरेशन आजतक नहीं चलाया गया था.

ख़बरों के मुताबिक़ कई नक्सली ठोके जा चुके हैं. अब तक कितने नक्सली मारे जा चुके हैं या इससे आगे सीआरपीएफ क्या फैसले लेगी, सीआरपीएफ की ओर से इससे जुडी जानकारियां अभी साझा नहीं की जा सकती. फोर्स के अभियान की गोपनीयता बनाये रखने के लिए सीआरपीएफ ने अभी कोई भी अन्य जानकारी देने से मन कर दिया है. हालांकि ये तय है कि जल्द ही बड़ी खुशखबरी सामने आएगी.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments