Home > ख़बरें > सीआरपीएफ ने दिया बीएचयू हमले का जवाब, हाहाकारी एक्शन से तोड़ी वामपंथियों की कमर !

सीआरपीएफ ने दिया बीएचयू हमले का जवाब, हाहाकारी एक्शन से तोड़ी वामपंथियों की कमर !

crpf-naxal-attack

झारखंड : बीएचयू में हुई हिंसा व् आगजनी को लेकर आयी रिपोर्ट में हैरान कर देने वाले खुलासे हुए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक़ छात्राओं के शांतिप्रिय विरोध प्रदर्शन को वामपंथियों ने हाईजैक कर लिया था और महामना की मूर्ती पर चढ़कर काला रंग पोतने के बाद लाल सलाम गिरोह के गुंडों ने लाल झंडे भी फहराए. उसके बाद जमकर बवाल काटा गया. वामपंथियों को जवाब ठीक अगले ही दिन सीआरपीएफ के जवानों ने दे दिया है. (सबूत पोस्ट के अंत में देख सकते हैं.)


नक्सलियों, वामपंथियों की तोड़ी कमर !

दरअसल नक्सली आंदोलन के समर्थक वामपंथी बुरी तरह बौखलाए हुए हैं, क्योंकि मोदी सरकार इन्हे ख़त्म करते जा रही है. आज वामपंथियों को मुहतोड़ जवाब देते हुए झारखंड के द्वारपहरि फारेस्ट एरिया में सीआरपीएफ जवानों ने नक्सली ठिकानों पर छापेमारी करके 500 से ज्यादा विस्फोटकों के पैकेट और 700 से ज्यादा बारूदी डेटोनेटर को जब्त करते हुए कई नक्सलियों को ढेर कर दिया है और नक्सलियों की कमर तोड़ दी है.

वामपंथियों की चिल्ल-पौं की यही असली वजह है, अपने गिरोह को ख़त्म होते देख वामपंथी पगलाए हुए हैं. अभी हाल ही में पत्रकार गौरी लंकेश को भी इसीलिए नक्सलियों ने गोली मार दी थी, क्योंकि वो भी नक्सलियों को मुख्य धारा से जोड़ रही थी.

मोदी को रोकने की साजिशें हो रही विफल !

मोदी सरकार से नाराज वामपंथी पूरी कोशिशों में लगे हैं कि किसी तरह से सरकार को रोका जाए. इसीलिए पीएम मोदी के दौरे के दौरान वाराणसी में सुनियोजित षड्यंत्र के तहत हिंसा फैलाई गयी, ताकि अगले चुनावों में पीएम मोदी के वोट काटे जा सकें.

वहीँ मोदी सरकार ने सीआरपीएफ के जवानों को खुली छूट दी हुई है. नक्सलियों से एक बार सरेंडर करने के लिए कहने के आदेश हैं, एक बार में बात मान ली तो ठीक वरना सीधे ठोकने के आदेश मिले हैं. इसी के तहत आज की कार्रवाई हुई है और कुछ दिन पहले छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में भी पांच लाख रुपये की एक इनामी महिला नक्सली को गिरफ्तार कर लिया गया था.


मरदा गांव के जंगल से 28 वर्षीय महिला नक्सली लीडर संतिला सलाम उर्फ असबत्ती को धर लिया गया था. नक्सलियों के लीडरों की लगातार धर-पकड़ और मारे जाने से नक्सली काफी परेशान हैं. नक्सल समस्या ख़त्म होने की ओर तेजी से बढ़ रही है. वामपंथियों को बीएचयू हिंसा का जवाब मिल गया है, सरकार का सख्त सन्देश है कि ऑपरेशन नहीं रुकने वाला, चाहे जो मर्जी कर लें.

देखिये नक्सलियों के खिलाफ सीआरपीएफ कार्रवाई का ये सबूत !


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।

सब्सक्राइब करें हमारा यू-ट्यूब चैनल


हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments