Home > ख़बरें > साम्प्रदायिक हिंसा से गुस्से में सीएम योगी, प्रशासन ने जारी किये हाहाकारी आदेश

साम्प्रदायिक हिंसा से गुस्से में सीएम योगी, प्रशासन ने जारी किये हाहाकारी आदेश

144-in-ghaziabad

नई दिल्ली : यूपी में सीएम योगी आदित्यनाथ ने तो पहले दिन से ही प्रदेश में क़ानून व्यवस्था दुरुस्त करने व् साम्प्रदायिक हिंसा फैलाने वालों पर कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दे दिए थे. सीएम योगी ने पुलिस को सख्त निर्देश दिए थे कि प्रदेश में वो किसी भी हाल में साम्प्रदायिक हिंसा बर्दाश्त नहीं करेंगे. इसके बावजूद अभी हाल ही में सहारनपुर में डा. भीमराव अंबेडकर शोभायात्रा निकालने के दौरान मुस्लिम इलाकों में पत्थरबाजी व् साम्प्रदायिक हिंसा की घटना हुई थी. अब ऐसी घटना ना हो इसके लिए यूपी प्रशासन ने बड़ा कदम उठाया है.


गाजियाबाद में धारा 144 लागू !

खबर आयी है कि उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में त्योहारों और प्रतियोगी परीक्षाओं के मद्देनजर कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पूरे इलाके में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी गई है. जिला सूचना अधिकारी आर.बी. सिंह ने बताया कि डीएम मिनिस्ती एस. के निर्देशों के मुताबिक गाजियाबाद में 30 जून तक धारा 144 लागू रहेगी. किसी भी हाल में भीड़ इकट्ठी नहीं हो सकती और लाइसेंसी हथियार लेकर चलना भी मना है.

दरअसल 26 मई से रमजान शुरू हो रहा है, इसके मद्देनजर रात 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर बजाने पर पाबंदी लगा दी गयी है. इसी के साथ कोई भी व्यक्ति सक्षम प्राधिकार की इजाजत के बिना अपने घर या किसी खुले स्थान पर जनसभा नहीं कर सकता है. त्यौहार के दौरान किसी भी तरह के जुलूस इत्यादि निकालने पर भी पाबंदी है.


सहारनपुर में हुई थी हिंसा !

गौरतलब है कि अभी कुछ ही दिन पहले यूपी का सहारनपुर शहर साम्प्रदायिक हिंसा से झुलस गया था. सहारनपुर में डा. भीमराव अंबेडकर शोभायात्रा निकालने के दौरान कश्मीरी पत्थरबाजों की तरह एक ख़ास सम्प्रदाय के लोगों ने शोभायात्रा पर पत्थर फेकने व् फायरिंग करनी शुरू कर दी थी, जिसके कारण कई लोग घायल हो गए थे. पत्थरबाजी होती देख शोभायात्रा में शामिल लोग बुरी तरह से भड़क गए थे और उन्होंने जमकर तोड़फोड़ की थी.

उस पूरे मामले पर बीजेपी सांसद ने कहा था कि मुस्लिमों ने शोभायात्रा पर पत्थरबाजी व् गोलीबारी शुरू की, उन्होंने कहा था कि सहारनपुर को कश्मीर नहीं बनने दिया जाएगा. केवल इतना ही नहीं बल्कि पत्थरबाजी की घटना से भीड़ इतनी आक्रामक हो गई थी कि उसने डीएम और एसएसपी दफ्तर पर भी धावा बोल कर एसएसपी दफ्तर में तोड़फोड़ कर दी थी.

इस तरह की हिंसा दोबारा ना हो, इसके चलते ही ऐसा कदम उठाया गया है. त्यौहार के दौरान पुलिस को भी सतर्क रहने के निर्देश दिए गए हैं. जानकारी के मुताबिक़ योगी हिंसा की छोटी-मोटी घटना तक बर्दाश्त करने के मूड में नहीं हैं.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments