Home > ख़बरें > इस नेता ने पार करी सारी हदें, सेना के लिया दिया बेहद शर्मनाक बयान, खून खौल उठेगा आपका पढ़कर

इस नेता ने पार करी सारी हदें, सेना के लिया दिया बेहद शर्मनाक बयान, खून खौल उठेगा आपका पढ़कर

कन्नूर/केरल : एक तरफ सेना के जवान अपना घर परिवार सब छोड़ के अपनी जान हथेली पर लगाकर देश की रक्षा करते हैं. जहाँ एक तरफ देश में सेना के जवानो पर गर्व किया जाता है, वही दूसरी तरफ कुछ नेता अपनी राजीनीतिक रोटियां सेकने के चक्कर में कब देशद्रोही बन जाते हैं उन्हें खुद ही पता नहीं चलता, और फिर शर्मनाक बयान से सेना के जवानो का अपमान करते हैं.

सेना की खुली छूट का विरोध

एक तरफ देश में लोग पीएम मोदी से मांग करते हैं कि मोदी जी सेना को खुली छूट क्यों नहीं देते, और वही दूसरी तरफ कुछ राजनेता सेना के जवानो पर खुली छूट देने पर इतनी अभद्र भाषा का इस्तेमाल करते हैं, कि देश का सर भी शर्म से झुक जाए.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केरल सीपीएम के सचिव कोडियारी बालकृष्णन ने सेना के जवानो को लेकर ऐसा शर्मनाक बयान दिया है जिसने पूरे राजनितिक गलियारे में हड़कंप मचा दिया है. बालकृष्णन ने कहा कि अगर सेना को खुली छूट दे दी जाय तो सेना कुछ भी कर सकती है. सेना किसी भी महिला का अपहरण करके रेप कर सकती है, किसी को भी गोली मार सकती है लेकिन सेना पर कोई सवाल उठाने का किसी को हक़ नहीं है.

अल्पसंख्यकों से लगाव, सेना इनकी दुश्मन है

सीपीएम नेता ने कहा आतंकवाद का खात्मा करने के लिए आफ्सपा (सशस्त्र बल विशेष अधिकार अधिनियम) जम्मू-कश्मीर, नगालैंड में लागू किया गया. इन सभी राज्यों में अल्पसंख्यकों के ऊपर सेना अत्याचार करती है और उनकी महिलाओं के साथ दुष्कर्म करती है. आगे उन्होंने कहा कि अगर यही अधिनियम कन्नूर में भी लागू कर दिया गया तो सेना यहाँ भी यही करेगी. इसलिए सेना को यहाँ नहीं आने देना चाहिए और सबको सेना का विरोध करना चाहिए.

भाजपा ने कहा देशद्रोह है ये

गौरतलब है कि कि अब तक एक के बाद आरएसएस के कार्यकर्ताओं या नेताओं की हत्याएं हो रही हैं जिनमें खबरों के मुताबिक सत्तारूढ़ सीपीएम के कथित कार्यकर्ताओं का हाथ बताया जाता है. इसीलिए केरल भाजपा के अध्यक्ष कुम्मनन राजशेखरण ने कन्नूर में अफ्स्पा लगाने कि मांग करी थी जिसका बालकृष्णन ने विरोध तो किया, साथ में सेना का भी घोर अपमान किया.
सीपीएम सचिव के इस शर्मनाक बयान के बाद भाजपा ने इसका पूरा विरोध किया और कहा कि सेना के लिए इस तरह की भाषा का इस्तेमाल करना देशद्रोह है. उन्होंने कहा कि इस पर आपराधिक मामला दर्ज हो और जल्द से जल्द गिरफ़्तारी हो.

इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments