Home > ख़बरें > आप कुलभूषण की फांसी रुकने की ख़ुशी मना रहे थे, वहां यूपी में मच गया खूनी खेल, योगी ने भिजवाई फ़ोर्स

आप कुलभूषण की फांसी रुकने की ख़ुशी मना रहे थे, वहां यूपी में मच गया खूनी खेल, योगी ने भिजवाई फ़ोर्स

up-riots

अलीगढ़ : इससे पहले यूपी पुलिस पर सांप्रदायिक गतिविधियों पर दोहरे रवैये को लेकर आरोप लगते रहे हैं. योगी सरकार में यूपी की पुलिस अपने असली अवतार में अब दिखती नज़र आ रही है. अलीगढ में रातों-रात बढे दंगे को जिस सूझबूझ तरीके से यूपी पुलिस ने काबू किया वो तारीफ के लायक है. विवाद की वजह थी शहर की एक निर्माणाधीन मस्जिद, जिसमें एक गुंबद के निर्माण को लेकर दोनों समुदायों के बीच साम्प्रदायिक हिंसा की खबर है.


अलीगढ में रातों रात मस्जिद की तीसरी मंजिल पर गुम्बद के अवैध निर्माण को लेकर पुरे इलाके में जबरदस्त तनाव बढ़ गया है.बात इतनी बढ़ गयी कि दोनों समुदायों के बीच जमकर मारपीट, पत्थरबाज़ी, तोड़फोड़ और कई राउंड फायरिंग हो गयी जिससे पुरे इलाके में दहशत फ़ैल गयी. मस्जिद में अवैध निर्माण को लेकर बढे बवाल को शांत करने पुलिस पहुंची तब अचानक पुलिस पर पत्थरबाजी शुरू हो गयी. खूनी हिंसा पर उतारू हिंदू और मुस्लिम समुदाय के लोगों को शांत कराने के लिए पुलिस ने शुरू में काफी कोशिश की लेकिन स्थिति हाथ से निकलती हुई देख पुलिस ने आंसू गैस ,रबर बुलेट और हवाई फायरिंग का सहारा लिया.

क्या है पूरा मामला

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक अलीगढ़ कोतवाली इलाके के फूलचौक प्याऊ के पास मस्जिद का निर्माण चल रहा था. स्थानीय लोगों का दावा है कि मस्जिद में गुंबद का निर्माण अवैध तरीके से कराया जा रहा है. स्थानीय लोगों ने बताया कि कल तक तो मस्जिद में एक ही मंज़िल थी, रातों रात तीन मंज़िल और गुम्बद बनना शुरू हो गया जिस पर लोगों ने कड़ा विरोध करना शुरू किया. दरअसल पास में राजकुमार वर्मा का मकान है उन्होंने कहा कि मस्जिद का गुम्बद उनके मकान कि छत पर आ पंहुचा हैं. अगर उन्होंने कभी अपना मकान बढ़ाया तो मस्जिद का गुम्बद आड़े आएगा. विरोध करने के बाद जब अवैध निर्माण नहीं रोका गया तो राजकुमार ने स्वर्णकार कमेटी के अध्यक्ष रवि वर्मा को पूरा मामला बताया. कुछ ही देर में दोनों संप्रदाय के लोग सड़कों पर जमा हो गए और भारी सख्या में पुलिस बल भी पहुंच गया.


मुस्लिम सप्रदाय ने शुरू करी नारेबाजी

तभी घटना स्थल पर मुस्लिम सप्रदाय के कुछ लोगों ने जोर-शोर से नारेबाजी शुरू कर दी और पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया, जिसके बाद पुलिस ने इलाके की घेराबंदी करके उपद्रवियों को खदेड़ दिया साथ ही आंसू गैस और हवाई फायरिंग करी. ऊपर कोट, सब्जी मंडी चौराहा, अब्दुल करीब चौराहा, रेलवे रोड, महावीर गंज, खटीकान समेत आसपास के सभी बाजार भी बंद कर दिए गए. सूचना मिलते ही शहर के भाजपा विधायक संजीव राजा अन्य नेताओं और पुलिस बल के साथ पहुंचे. मुस्लिम सप्रदाय के नारेबाजी को देखते हुए हिंदूवादी लोगो ने भी “जय श्री राम” के नारे लगाने शुरू कर दिए.

मामले कि गंभीरता को देखते हुए रात भर डीएम-एसएसपी इलाके में जमे रहे ताकि किसी तरह का दंगा न फ़ैल पाए. मौके पर दो कंपनी पीएसी, दो कंपनी आरएएफ, शहर के थानों की पुलिस के अलावा लोकल पुलिस को भी तैनात किया गया है साथ ही स्वेट टीम  भी पूरी तरह मुस्तैद रही. विधायक संजीव राजा ने एसएसपी राजेश कुमार पांडेय से कहा कि पुलिस इस अवैध निर्माण को रोके वरना हमें हटाना पड़ेगा.लेकिन पुलिस ने बड़ी सूझबूझ से मौका रहते रात में मस्जिद से अवैध गुम्बद हटवा ली और दोनों पक्षों के लोगों को समझा बुझा दिया.


इस न्यूज़ को अपने मित्रों के साथ शेयर करना न भूलें। आपकी सुविधा के लिए शेयर बटन्स नीचे दिए गए हैं।
हिंदी न्यूज़ से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करें


फेसबुक पेज लाइक करें

loading...

Comments